Jhrkhand: हजारीबाग से भागे किशोर को धनबाद स्टेशन के नाबालिग अपराधियों ने बेच डाला, बिहार के पूर्वी चंपारण में लोकेशन

धनबाद रेलवे स्टेशन पर काफी संख्या में बाल अपराधी रहते हैं। इनसे रेल पुलिस पूछताछ कर रही है-तस्वीर प्रतीकात्मक।
Publish Date:Tue, 29 Sep 2020 07:47 AM (IST) Author: Mritunjay

धनबाद, जेएनएन। हजारीबाग बस स्टैंड के पास बड़ा बाजार में रहनेवाले राजेश सोनी के 15 वर्षीय पुत्र कुणाल सोनी को धनबाद स्टेशन से छाईगद्दा के नाबालिग अपराधियों ने अगवा कर बेच दिया। कुणाल के पास दो लाख रुपये थे। फिलहाल पुलिस को उसका लोकेशन पूर्वी चंपारण बिहार मिला है। इस मामले में पुलिस चार नाबालिग अपराधियों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। हालांकि कोई सफलता नहीं मिली है। कुणाल के मां-बाप पिछले छह महीने से परेशान हैं। वह पुलिस की बरामदगी के लिए दर-दर भटक रहे हैं। 

दो लाख रुपये लेकर घर से भागा था किशोर

धनबाद रेल पुलिस ने बताया कि 15 मार्च को कुणाल घर से दो लाख रुपये लेकर भागा और धनबाद स्टेशन पहुंच गया। उसके घरवालों ने इसकी शिकायत हजारीबाग के स्थानीय थाने में की थी, लेकिन उसका पता नहीं चल पा रहा था। तीन दिन पहले पता चला कि कुणाल धनबाद स्टेशन आया था। यहां छाई गद्दा के कुछ लड़कों ने उसे अपने पास रखा था। परिजन हजारीबाग पुलिस को लेकर धनबाद जीआरपी पहुंचे।  रेल पुलिस की मदद से उन आरोपितों में एक को पकड़ा। उसने पूछताछ में बताया कि कुणाल बंगाल में है। उसकी निशानदेही पर पुलिस उसे लेकर पश्चिम बंगाल गई, लेकिन कई इलाकों में छापेमारी के बाद भी कोई सुराग नहीं मिला। दो दिनों तक वह पुलिस को जहां-तहां घुमाता रहा। इस बीच रवि नामक युवक ने पुलिस को बताया कि कुणाल धनबाद में है। पुलिस ने यहां भी दो दिनों तक कुणाल की तलाश की।

बच्चा बेचने वाली महिला की तलाश 

पुलिस को पता चला है कि धनबाद स्टेशन के छाईगद्दा के एक आरोपित की मां ने कुणाल को बेच दिया है। वह महिला पहले भी बच्चा बेचने  के आरोप में जेल जा चुकी है। अब उस महिला की तलाश की जा रही है। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.