Jharkhand Unlock 4.0: मांं लीलोरी मंदिर के आस-पास बसे दुकानदारों व संचालकों ने की मंद‍िर खोलने की मांग

23 June मां लिलोरी मंदिर के आस-पास बसे दुकानदारों ने सरकार से इस बार मंद‍िर के पट खोलने की मांग की है। अनलॉक चार में इस न‍िर्णय का दुकानदारों का बेसब्री से इंतजार है क‍ि सरकार कब उनके हक में फैसला सुनाएं। June 23

Atul SinghTue, 22 Jun 2021 05:37 PM (IST)
कोविड के नियमों का पालन करते हुवे मंदिर में पूजा की अनुमति दी जाय। (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

कतरास, जेएनएन: Lockdown, 23 June, Jharkhand Lockdown, Jharkhand Lockdown News, मां लिलोरी मंदिर के आस पास फल फूल नाश्ता की दुकान चलाने वाले व धर्मशालाओं के संचालकों ने बैठक की। सरकार से धार्मिक स्थलों में प्रवेश के लिए नीतिगत फैसला लिए जाने का आग्रह किया। अपना सुझाव देते हुवे कहा कि कोविड के नियमों का पालन करते हुवे पांच पांच श्रद्धालुओं के बारी बारी से मंदिर में प्रवेश व पूजा की अनुमति दी जाय।

दुकानदारों ने कहा कि कोरोना महामारी के चलते करीब दो साल से धार्मिक स्थलों में श्रद्धालुओं के प्रवेश पर रोक है। बीच में कुछ शर्त के साथ आदेश पर शारीरिक दूरी के अनुपालन सुनिश्चित कराते हुवे मंदिरों में प्रवेश की अनुमती मिली थी, लेकिन कोरोना के द्वितीय लहर आने के साथ रोक लग गयी। दुकानदारों ने कहा कि यहां दुकानदारी व धर्मशाला से करीब दो सौ लोगों के परिवार की जीविका चलती है। पुजारियों के साथ साथ मां की सेवा करने वालों के परिवार का भरण पोषण होता था, लेकिन बंदी के चलते श्रद्धालु नही आ रहे हैं। सालों भर चहल पहल रहने वाला मंदिर के इलाके में सन्नाटा छाया हुवा है।

बैठक में सुरेश महतो, राखी पटवा, तारापद महतो, लक्ष्मन महतो, शंकर भगत, रमेश महतो, मंटू साव, घलटू मोदक, सुशील रवानी, सुजीत महतो, काजल प्रमाणिक, निमाई चटर्जी, मंगल पटवा, दीपक कुम्हार, संजय मोदक, अभिजित बनर्जी, अनिल पटवा, प्रदीप पटवा, भीम महतो, अर्जुन मोदक, ठभू पटवा, टिंकू साव, नरेन महतो आदि मौजूद थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.