JPSC Exam 2021: याद है न नई तारीख, दो बार स्थगित हो चुकी परीक्षा; jpsc,gov.in पर कर सकते एडमिट कार्ड डाउनलोड

JPSC Exam 2021 झारखंड लोक सेवा आयोग की प्रारंभिक परीक्षा 12 सितंबर को होनी थी। इस तारीख को परीक्षा नहीं होगी। अब नई तारीख की घोषणा की गई। 19 सिंतबर को परीक्षा होगी। इसकी तैयारी शुरू हो गई है। धनबाद में भी परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं।

MritunjayThu, 09 Sep 2021 05:48 PM (IST)
झारखंड लोक सेवा आयोग की परीक्षा ( फाइल फोटो)।

जागरण संवाददाता, धनबाद। झारखंड लोक सेवा आयोग सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा-2021 ( JPSC Civil Services Exam 2021) 12 सितंबर को होनी थी। इस तारीख को परीक्षा नहीं होगी। अब नई तारीख की घोषणा की गई। 19 सिंतबर को परीक्षा होगी। इसकी तैयारी शुरू हो गई है। धनबाद में भी परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। जेपीएससी ने झारखंड संयुक्त सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा 2021 की पुरानी तारीख को स्थगित करते हुए नई तिथि तय की है। इस संबंध में आयोग ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट- jpsc.gov.in पर अधिसूचना जारी की है। आधिकारिक नोटिस के अनुसार, जेपीएससी सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा जो पहले 12 सितंबर को होने वाली थी, उसे पुनर्निर्धारित किया गया है।  परीक्षा के लिए जेपीएससी ने एडमिट कार्ड जारी कर दिया है। इसे jpsc.gov.in पर डाउनलोड किया जा सकता है। 

शुरू में 2 मई को होनी थी परीक्षा

JPSC Civil Services Exam 2021 शुरू में 2 मई को आयोजित होने वाली थी। हालांकि, कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के कारण परीक्षा को स्थगित करना पड़ा था। जिसके बाद 12 सितंबर की तिथि निर्धारित की गई लेकिन अब परीक्षा 19 सितंबर को आयोजित की जाएगी। अधिसूचना के मुताबिक कुछ कारणों की वजह से परीक्षा को पुनर्निर्धारित किया गया है।

कुल रिक्तियां 245

झारखंड लोक सेवा आयोग ने फरवरी, 2021 में संयुक्त सिविल सेवा परीक्षा 2021 के लिए आधिकारिक अधिसूचना जारी की थी। इस भर्ती परीक्षा के माध्यम से कुल 245 रिक्त पदों को भरा जाएगा। इन पदों के लिए आवेदन करने वाले अभ्यर्थी बेसब्री से परीक्षा का इंतजार कर रहे हैं।

 कुल पद इस प्रकार हैं

डिप्टी कलेक्टर -44 पुलिस सद इंस्पेक्टर-40 जिला समन्यवक-16 जेल अधीक्षक- 2 सहायक निदेशक-2 सहायक नगर आयुक्त-65 झारखंड शिक्षा सेवा-41 जूनियर रजिस्ट्रार-10 सहायक रजिस्ट्रार - 6 योजना अधिकारी -9 प्रोबेशन अधिकारी -17

धनबाद के 102 केंद्रों पर होगी परीक्षा

जेपीएससी द्वारा 19 सितंबर को आयोजित होने वाली झारखंड संयुक्त सिविल सर्विस पीटी परीक्षा 2021 की तैयारियों की समीक्षा हेतु न्यू टाउन हॉल, धनबाद में उपायुक्त की अध्यक्षता में बैठक का आयोजन किया गया। इस संबंध में उपायुक्त ने बताया कि वर्तमान समय में सभी परीक्षा केंद्रों पर कोविड समुचित व्यवहार का अक्षरशः अनुपालन सुनिश्चित कराते हुए परीक्षा को कदाचार मुक्त एवं निष्पक्ष माहौल में संपन्न कराना जिला प्रशासन की प्राथमिकता है। उन्होंने बताया कि परीक्षा में जिले में कुल 102 परीक्षा केंद्रों पर 32119 परीक्षार्थी भाग लेंगे। निर्वाचन कार्यों के तहत की तरह जेपीएससी की परीक्षा के दौरान भी स्कोप आफ एरर शून्य रहता है। अतः बैठक में सभी केंद्राधीक्षकों, दंडाधिकारियों, नोडल पदाधिकारी व पुलिस-प्रशासन के पदाधिकारियों को जेपीएससी द्वारा निर्धारित सभी निर्देशों का पूर्ण रूप से अध्ययन कर उसका पालन सुनिश्चित करवाने का निर्देश दिया गया। बैठक में परीक्षा के पूर्व की तैयारियों, परीक्षा के दौरान की जाने वाली कार्यों, परीक्षा के उपरांत किए जाने वाले कार्यों से लेकर आयोग को प्रतिवेदन भेजने तक की पूरी प्रक्रिया के विषय में विस्तार से चर्चा की गई।

कदाचार मुक्त परीक्षा कराने का निर्णय

उपायुक्त ने कहा कि कई विद्यार्थियों का भविष्य इस परीक्षा पर निर्भर करता है। निरंतर कई परीक्षार्थियों द्वारा कदाचार करने की संभावना बनी रहती है। यदि कोई परीक्षार्थी दो नंबर भी कदाचार करके प्राप्त करता है, तो अंतिम मेरिट लिस्ट में उसे अतिरिक्त एडवांटेज प्राप्त होता है। जिससे ईमानदारी से कदाचार मुक्त परीक्षा देने वाले परीक्षार्थियों के भविष्य पर असर पड़ता है। अतः हमें किसी भी परिस्थिति में कदाचार मुक्त परीक्षा संपादित करना सुनिश्चित करना है। बैठक में उपायुक्त ने कहा कि सभी दंडाधिकारी एवं पुलिस टीम के सदस्य परीक्षा शुरू होने के 2 घंटे पूर्व अर्थात 8:00 बजे तक परीक्षा केंद्रों पर अनिवार्य रूप से केंद्र पर रिपोर्ट करेंगे। परीक्षा शुरू होने से आधे घंटे पूर्व से परीक्षार्थियों की इंट्री सीट प्लान के अनुरूप करवाएंगे। परीक्षार्थियों की इंट्री के दौरान यह सुनिश्चित करेंगे कि उनके पास किसी प्रकार का कोई इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस, मोबाइल फोन या इलेक्ट्रॉनिक घड़ी इत्यादि नहीं हो। संबंधित क्षेत्र के नोडल पदाधिकारी इस संबंध में सभी केंद्र अधीक्षकों से समन्वय स्थापित कर यह सुनिश्चित कराएंगे। उन्होंने बताया कि वज्रगृह से परीक्षा केंद्र तक प्रश्नपत्र पहुंचाने, प्रश्नपत्र खोलने एवं वितरण करने की एसओपी का कड़ाई से पालन सुनिश्चित कराया जाएगा एवं इसकी वीडियोग्राफी भी सुनिश्चित की जाएगी।

15 मिनट पहले परीक्षार्थियों को उपलब्ध कराया जाएगा प्रश्न पत्र

उन्होंने बताया कि आयोग द्वारा यह स्पष्ट दिशा निर्देश दिया गया है कि परीक्षा हेतु निर्धारित 2 घंटे सिर्फ और सिर्फ परीक्षार्थियों को परीक्षा देने के कार्य में उपयोग में लाया जाएगा। अतः ओएमआर शीट अथवा आंसर शीट परीक्षा शुरू होने के 15 मिनट पहले परीक्षार्थियों को उपलब्ध कराया जाएगा। जिससे कि वह 2 घंटे पूरी तरह से परीक्षा के लिए दे सकें। बैठक में उपायुक्त ने सभी को स्पष्ट निर्देश दिया कि यदि कोई गलत गतिविधि होती है, तो उसके विरुद्ध तुरंत कार्यवाही करना है। कदाचार करने वाले विद्यार्थियों के विरुद्ध एफआईआर करने का निर्देश आयोग द्वारा दिया गया है। उन्होंने टॉयलेट के इंट्री एवं एग्जिट प्वाइंट पर निरंतर नजर बनाए रखने एवं गलत गतिविधियों का वीडियोग्राफी कराना सुनिश्चित करने का निर्देश बैठक में दिया।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.