क्या ओल है! मेले में कृषि उत्पादों को देख मोहित हुए मंत्री बादल ; धनबाद में बनवाएंगे कोल्ड स्टोरेज

कृषि मेले में बड़े आकार के ओल और कोहड़ा को देखते कृषि मंत्री बादल पत्रलेख।

कृषि प्रदर्शनी सह किसान संगोष्ठी में 22 स्टाल लगाए गए थे। जिसमें कृषि पशुपालन गव्य विकास सहकारिता अग्रणी जिला प्रबंधक कृषि विज्ञान केंद्र जेएसएलपीएस ग्रामीण विकास ई-नाम सहित अन्य विभागों के स्टाल थे। कार्यक्रम में युगल इंदु विकास केंद्र द्वारा झारखंड कृषि ऋण माफी योजना पर नुक्कड़ नाटक किया गया।

MritunjayTue, 23 Feb 2021 05:49 PM (IST)

धनबाद, जेएनएन। जिला परिषद मैदान में कृषि प्रदर्शनी सह किसान संगोष्ठी का मंगलवार को आयोजन किया गया। इसमें जिले भर के किसान अपने-अपने चुनिंंदा उत्पादों को लेकर पहुंचे थे। बड़े-बड़े आकार के ओल, कोहड़ा और पपीते देखते ही बन रहे थे। यह देख झारखंड के कृषि मंत्री बादल पत्रलेख मोहित हो गए। उन्होंने किसानों की जमकर तारीफ की। इतने खुश हुए कि धनबाद के बरवाअड्डा में कृषि उत्पादों के भंडारण के लिए कोल्ड स्टोरेज बनवाने की घोषणा की। हालांकि उन्होंने कोई नई घोषणा नहीं की। छह माह पहले भी धनबाद के बरवाअड्डा में कोल्ड स्टोरेज बनवाने की घोषणा कर चुके हैं। अभी तक काम शुरू नहीं हुआ है।

किसानों की उन्नति के लिए चेंबर ऑफ कॉमर्स का होगा गठन

मंत्री ने मुख्य अतिथि की हैसियत से मेले में आए किसानों को संबोधित करते हुए बरवाअड्डा में शीघ्र ही किसानों के लिए कोल्ड स्टोरेज बनाया जाएगा। किसानों की उन्नति के लिए चेंबर ऑफ कॉमर्स का भी गठन होगा। उन्होंने कहा कि राज्य के किसानों की उन्नति के लिए फसल बीमा योजना शुरू की जाएगी। इससे किसानों को 100 करोड़ रुपए का लाभ मिलेगा। राज्य सरकार ने 355 करोड़ रुपए की पशुधन योजना शुरू करने का निर्णय लिया है। इसमें 9250 लाभुकों को दो गाय देने की योजना है। एक साल में हर बुजुर्ग, विधवा, 50 साल की उम्र के निसंतान दंपत्ति और हर दिव्यांग को समय पर पेंशन देने की भी योजना है।

4 साल में 24 लाख किसान बनेंगे प्रगतिशील

मंत्री ने कहा कि अगले 4 साल में राज्य में 24 लाख प्रगतिशील किसान बनाए जाएंगे। इसके लिए कृषि नीति और कृषि कैलेंडर बनेगा। नवंबर में धान की खरीद होगी। अगला एक दशक कृषकों के लिए उन्नति भरा रहेगा। उन्होंने कहा किसानों को ऋण से मुक्ति दिलाने के लिए झारखंड कृषि ऋण माफी योजना शुरू की गई है। योजना के अंतर्गत राज्य के 9 लाख से अधिक और धनबाद जिले के 21068 किसान को इसका लाभ मिलेगा। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए माननीय विधायक टुंडी मथुरा प्रसाद महतो ने कहा कि वर्तमान सरकार किसान हित में काम कर रही है। सरकार का उद्देश्य है कि किसान स्वावलंबी बने। इससे राज्य भी स्वावलंबी बनेगा। उन्होंने कहा कि किसानों को उनकी फसल की अच्छी कीमत मिलनी चाहिए। श्री महतो ने पैक्स में हो रही गड़बड़ी की ओर ध्यान आकर्षित कराया तथा बीसीसीएल, डीवीसी एवं ईसीएल से निकलने वाले पानी को किसानों के खेत तक पहुंचाने का आग्रह किया।

कृषि ऋण माफी योजना से ग्रामीण अर्थव्यवस्था होगी सुदृढ़

विधायक झरिया पूर्णिमा नीरज सिंह ने कृषिकों से कहा वे इस प्रदर्शनी में कुछ सीख कर जाएं। संगोष्ठी के माध्यम से अपनी समस्याओं का निराकरण करने का प्रयास करें। फसल और पशु धन में बढ़ोतरी करने के लिए प्रदर्शनी और संगोष्ठी से कुछ जानकारी ले। उन्होंने कहा ग्रामीण अर्थव्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए झारखंड कृषि ऋण माफी योजना शुरू की गई है। कृषकों को इसका लाभ अवश्य उठाना चाहिए। कार्यक्रम में जिला कृषि पदाधिकारी  असीम रंजन एक्का ने झारखंड कृषि ऋण माफी योजना पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा अब तक 2048 किसानों का आवेदन आ गया है और उसका वेरिफिकेशन जारी है।समय सीमा के अंदर 21068 किसानों को इसका लाभ प्रदान किया जाएगा।

22 स्टालों के माध्यम से कृषि उत्पादों का प्रदर्शन

कृषि प्रदर्शनी सह किसान संगोष्ठी में 22 स्टाल लगाए गए थे। जिसमें कृषि, पशुपालन, गव्य विकास, सहकारिता, अग्रणी जिला प्रबंधक, कृषि विज्ञान केंद्र, जेएसएलपीएस, ग्रामीण विकास, ई-नाम सहित अन्य विभागों के स्टाल थे। कार्यक्रम में युगल इंदु विकास केंद्र द्वारा झारखंड कृषि ऋण माफी योजना पर नुक्कड़ नाटक किया गया। नुक्कड़ नाटक के माध्यम से कृषकों को इस योजना की जानकारी दी गई और उन्हें इसका लाभ लेने के लिए प्रेरित किया गया। अपने संबोधन से पूर्व मंत्री ने दीप प्रज्वलन कर कार्यक्रम का उद्घाटन किया। कार्यक्रम के समापन पर उपायुक्त ने मंत्री को मोमेंटो एवं शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया। इसके बाद  मंत्री ने सभी स्टॉल का निरीक्षण किया और कृषिकों के बेहतरीन उत्पाद के लिए उनकी सराहना की। कार्यक्रम में विधायक टुंडी मथुरा प्रसाद महतो, माननीय विधायक झरिया  पूर्णिमा नीरज सिंह, अनुमंडल पदाधिकारी सुरेंद्र कुमार, जिला कृषि पदाधिकारी  असीम रंजन एक्का, जिला आपूर्ति पदाधिकारी भोगेंद्र ठाकुर, जिला मत्स्य पदाधिकारी  मुजाहिद अंसारी,  निर्मल पांडेय सहित अन्य पदाधिकारी और विभिन्न प्रखंडों से आए बड़ी संख्या में कृषक उपस्थित थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.