पूर्व विधायकों ने तेतुलमुड़ी 22/12 बस्ती का लिया जायजा

तेतुलमुड़ी 22/12 बस्ती में जमींदोज हुए जामा मस्जिद की घटना के बाद से विभिन्न राजनीतिक दल व श्रम संगठन के लोग गांव का दौरा कर रहे हैं।

JagranPublish:Sun, 05 Dec 2021 07:29 PM (IST) Updated:Sun, 05 Dec 2021 07:29 PM (IST)
पूर्व विधायकों ने तेतुलमुड़ी 22/12 बस्ती का लिया जायजा
पूर्व विधायकों ने तेतुलमुड़ी 22/12 बस्ती का लिया जायजा

सिजुआ : तेतुलमुड़ी 22/12 बस्ती में जमींदोज हुए जामा मस्जिद की घटना के बाद से विभिन्न राजनीतिक दल व श्रम संगठन के लोग गांव का दौरा कर रहे हैं। रविवार को पूर्व मंत्री मन्नान मल्लिक, पूर्व विधायक सह जेबीसीसीआइ सदस्य अरूप चटर्जी बस्ती पहुंचे। नेताद्वय ने क्षतिग्रस्त मस्जिद को देखा। घटना के बाबत ग्रामीणों से जानकारी ली। राकोमसं नेता अशोक लाल ने बस्ती की वस्तुस्थिति से नेताद्वय को अवगत कराया।

बीसीसीएल की ओर से पुनर्वास की दिशा में अब तक कदम नहीं उठाने पर नाराजगी जताई। ग्रामीणों ने कहा कि आग, भू धंसान, दरार, गैसयुक्त धुआं के बीच जिदगी जीने की विवशता है। पूर्व विधायक अरूप ने कहा कि यह गंभीर मामला है। बस्ती की स्थिति को देखते हुए प्रबंधन तत्काल इनलोगों को अन्यत्र बसाने की व्यवस्था करें। उन्होंने पत्रकारों से कहा कि इस मामले से कोल इंडिया के चेयरमैन को अवगत कराएंगे। प्रबंधन एक ही जगह पर लोगों को बसाने की व्यवस्था सुनिश्चित करें।

तेतुलमुड़ी 22/12 बस्ती के लोगों की पुनर्वास के मुद्दे पर तीन दिसंबर को डीटी चंचल गोस्वामी के साथ ग्रामीणों के प्रतिनिधियों की वार्ता हुई थी, जिसमें प्रबंधन ने लार एक्ट एवं आर आर पालिसी के तहत पुनर्वास करने का सुझाव दिया था। इस वार्ता के बाद बस्ती में लोगों की बैठक हुई, जिसमें आर आर पालिसी के तहत पुनर्वास कराने पर सहमति बनी है। राकोमसं नेता अशोक लाल ने बताया कि इस मुद्दे पर सोमवार को सिजुआ क्षेत्रीय कार्यालय तेतुलमारी में वार्ता की तिथि पूर्व निर्धारित है। इस दौरान आर आर पालिसी के तहत पुनर्वास कराए जाने पर चर्चा होगी। रैयत व गैर रैयतों को एक ही जगह बसाने पर जोर दिया जाएगा। अशोक ने कहा कि जल्द ही मामले का निष्पादन नहीं होगा तो सिजुआ क्षेत्र का चक्का जाम कर दिया जाएगा। फिलहाल आउटसोर्सिंग का काम ही बाधित है।