Godda: वेतन भुगतान को लेकर अदाणी पावर प्लांट के मुख्य गेट पर मजदूरों का हंगामा; पुल‍िस ने भांजी लाठ‍ियां

गोड्डा के मोतिया स्थित अदाणी पॉवर प्लांट में बुधवार की सुबह मजदूरी भुगतान की मांग पर आंदोलित मजदूरों ने जमकर बवाल काटा। प्लांट के मुख्य गेट को जाम कर दिया। सुबह की शिफ्ट में काम करने के लिए अन्य मजदूरों को गेट पर ही रोक दिया।

Atul SinghWed, 28 Jul 2021 01:20 PM (IST)
सुबह की शिफ्ट में काम करने के लिए अन्य मजदूरों को गेट पर ही रोक दिया। (जागरण)

जागरण संवाददाता, गोड्डा: गोड्डा के मोतिया स्थित अदाणी पॉवर प्लांट में बुधवार की सुबह मजदूरी भुगतान की मांग पर आंदोलित मजदूरों ने जमकर बवाल काटा। प्लांट के मुख्य गेट को जाम कर दिया। सुबह की शिफ्ट में काम करने के लिए अन्य मजदूरों को गेट पर ही रोक दिया। इस दौरान वहां मोतिया ओपी की पुलिस की ओर से लाठीचार्ज भी किया गया।

मजदूरों ने कहा कि कंपनी के इशारे पर लाठीचार्ज किया गया। इससे कई मजदूरों को चोट भी लगी। करीब चार घण्टे से प्लांट का काम बंद रहा। हंगामा के बीच अदाणी सहित ठेका कंपनियों की ओर से मजदूरी भुगतान की पहल की गई। दो करोड़ का चेक बैंक भेजा गया। इसके बाद मजदूर शांत हुए।

इससे पहले आंदोलन के दौरान वहां प्लांट में काम करने वाली अन्य कंपनियों के मजदूरों को भी वापस लौटा दिया गया था।अडानी के कर्मी भी प्लांट नहीं पहुंच पाए। विगत तीन माह से वेतन नहीं मिलने से नाराज चल रहे पीसीपी इंटरनेशनल कंपनी के सैकड़ों मजदूरों का आरोप है कि उनके वेतन भुगतान नहीं हो रहे है। बताया कि प्लांट के अंदर वे लोग बीते 12 जुलाई से शांति पूर्ण बैठकर अनशन कर रहे थे।

लेकिन इस बीच कोई अधिकारी उनकी सुध लेने नहीं आए । मंगलवार से मजदूरों के सब्र का बांध टूट गया। बुधवार को दूसरे दिन सैकड़ो की संख्या पीसीपी कंपनी के मजदूरों ने कंपनी के मुख्य गेट को जाम कर अंदर किसी के प्रवेश पर रोक लगा दी। अदाणी पावर प्लांट में काम रही पीसीपी कंपनी के ठेकेदार पर मजदूरों ने गंभीर आरोप लगाए है। कहा कि तीन माह से वेतन भुगतान नहीं होने पर उनके समक्ष भूखमरी की स्थिति उत्पत्र हो गई है। पीसीपी कंपनी का एक ठेकेदार मजदूरी भुगतान के लिए कंपनी से मोटी रकम लेकर फरार हो गया है। इससे मजदूरों का भुगतान बाधित हो गया है।

मजदूरों का कहना था कि प्लांट के अंदर बीते 24 दिनों से वेलोग शांतिपूर्ण आंदोलन कर रहे थे लेकिन उनकी नहीं सुनी गई। मजदूरों की मांग है कि अदाणी कंपनी ठेकेदाराें के 12.50 प्रतिशत सुरक्षित राशि से उनका भुगतान करे। इससे पहले भी इडेक कंपनी के मजदूरों ने मजदूरी भुगतान की मांग पर श्रम विभाग में प्रदर्शन किया था।

अदाणी पावर प्लांट में ठेका कंपनी के रूप में कई विदेशी कंपनियां काम कर रही है। पीसीपी कंपनी के मजदूरों ने मंगलवार की सुबह भी प्लांट के मुख्य दरबाजे के पास जाेर-दार प्रदर्शन किया था। अब पीसीपी कंपनी और

इडेक कंपनी के मजदूराें ने प्रदर्शन शुरू किया है। इडेक कंपनी के मामले में श्रम विभाग ने सात दिन के अंदर इन मजदूरों को भुगतान करने का आदेश कंपनी को दिया था। बताया जाता है कि इडेक कंपनी का एक पेटी ठेकेदार मजदूरों का एक करोड़ से अधिक की राशि लेकर फरार हो गया था। उसपर मोतिया ओपी में मामला भी दर्ज किया गया था।

बता दें कि अदाणी कंपनी अपनी ठेका कंपनियों की 12.5 फीसद राशि सेक्युरिटी मनी के रूप में अपने पास सुरक्षित रखती है। आंदोलनरत पीसीपी कंपनी के मजदूरों की मांग है कि अदाणी कंपनी उस सेक्युरिटी मनी से उनके बकाए मजदूरी का भुगतान करे। अदाणी कंपनी के पदाधिकारियों की ओर से मजदूरों को वार्ता के लिए समय दिया गया है। मौके पर पुलिस कैंप कर रही है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.