DC Meeting: लेना है मुआवजा का लाभ तो दिखाना पड़ेगा आधार कार्ड, बैंक खात व जाति प्रमाण पत्र, जिला स्तरीय मानिटरिंग समिति की बैठक में 70 प्रस्तावों की समीक्षा Dhanbad News

समाहरणायल सभागार में मंगलवार को जिला स्तरीय सतकर्ता व मानिटरिंग समिति की बैठक में उपायुक्त उमाशंकर सिंह व अन्य

उपायुक्त उमाशंकर सिंह की अध्यक्षता में आज अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम के तहत जिला स्तरीय सतर्कता एवं मानिटरिंग समिति की बैठक समाहरणालय के सभागार में आयोजित की गई। बैठक में अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति अत्याचार से राहत के लिए

Publish Date:Tue, 24 Nov 2020 03:08 PM (IST) Author: Atul Singh

धनबाद, जेएनएन: उपायुक्त उमाशंकर सिंह की अध्यक्षता में आज अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम के तहत जिला स्तरीय सतर्कता एवं मानिटरिंग समिति की बैठक समाहरणालय के सभागार में आयोजित की गई।

बैठक में अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति अत्याचार से राहत के लिए मुआवजा प्राप्त करने के 70 प्रस्तावों की समीक्षा की गई। उपायुक्त ने इस  दौरान उपस्थित अधिकारियों व पदाधिकारियों को कई दिशा निर्देश दिये। साथ ही जनता के कार्यो को प्राथमिकता के साथ निष्पादन करने की बात भी कही।

समीक्षा के पश्चात उपायुक्त ने कहा कि मुआवजा के लिए पीड़ित व्यक्ति से आधार कार्ड, बैंक खाता और जाति प्रमाण पत्र अनिवार्य रूप से प्राप्त करना है। जाति प्रमाण पत्र को अंचल अधिकारी से सत्यापित कराना है। समीक्षा के दौरान तीन असंज्ञेय मामलों के लिए उपायुक्त ने विभाग से मार्गदर्शन प्राप्त करने का निर्देश जिला कल्याण पदाधिकारी को दिया। साथ ही हर तीन माह में बैठक करने तथा कुछ लंबित मामलों की रिपोर्ट संबंधित अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी को शीघ्र उपलब्ध कराने का निर्देश दिया।

बैठक में सिटी एसपी आर रामकुमार, अपर समाहर्ता श्याम नारायण राम, अपर समाहर्ता (आपूर्ति) संदीप कुमार दोराईबुरू, जिला कल्याण पदाधिकारी दयानंद दुबे, विधायक टुंडी मथुरा प्रसाद महतो,  सांसद धनबाद के प्रतिनिधि  नितिन भट्ट, सांसद गिरिडीह के प्रतिनिधि गिरधारी महतो,  विधायक झरिया के प्रतिनिधि केडी सिंह, विधायक सिंदरी के प्रतिनिधि निताय रजवार, विधायक धनबाद के प्रतिनिधि कपिल देव पासवान, भारतीय रेड क्रॉस सोसाइटी धनबाद के सचिव कौशलेंद्र कुमार, रोटरी क्लब के सदस्य, गैर सरकारी सदस्य मिथिलेश कुमार राम,  समीर कुमार मुर्मू,  गुरु चरण बक्शी, राय मुनी देवी व अन्य लोग शामिल थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.