दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

कोरोना जांच से इन्‍कार करने वालों पर एफआइआर; तीसरी लहर से बचने के लिए संक्रमण की चेन तोड़ना जरूरी Dhanbad News

जेसी मल्लिक रोड में इंटेनसिव टेस्टिंग करने का निर्देश दिया है। (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

वैश्विक महामारी की दूसरी लहर में लोगों को संक्रमण से बचाने एवं मृत्यु दर को कम करने के उद्देश्य से उपायुक्त उमा शंकर सिंह ने 12 से 14 मई 2021 तक धनबाद थाना क्षेत्र के तेलीपाड़ा मास्टर पाड़ा तथा जेसी मल्लिक रोड में इंटेनसिव टेस्टिंग करने का निर्देश दिया है।

Atul SinghTue, 11 May 2021 05:03 PM (IST)

धनबाद, जेएनएन: वैश्विक महामारी की दूसरी लहर में लोगों को संक्रमण से बचाने एवं मृत्यु दर को कम करने के उद्देश्य से उपायुक्त  उमा शंकर सिंह ने 12 से 14 मई 2021 तक धनबाद थाना क्षेत्र के तेलीपाड़ा, मास्टर पाड़ा तथा जेसी मल्लिक रोड में इंटेनसिव टेस्टिंग करने का निर्देश दिया है। स्पेशल टेस्टिंग ड्राइव को लेकर आज उपायुक्त ने ऑनलाइन बैठक कर वरीय पदाधिकारियों, इंसिडेंट कमांडर एवं सुपरवाइजरों को कई दिशा निर्देश जारी किए।

 उपायुक्त ने कहा कि पॉजिटिव मरीजों की संख्या, होम आइसोलेशन एवं मृत्यु दर्द को मैप कर तेलीपाड़ा, मास्टर पाड़ा तथा जेसी मल्लिक रोड में आरएटी, आरटी पीसीआर एवं ट्रू-नाट इंटेनसिव टेस्टिंग करने का निर्णय लिया है। टीम में प्रतिनियुक्त दंडाधिकारी एवं वरीय सुपरवाइजर अधिक से अधिक घरों में जांच करेंगे। आपदा की घड़ी में कोरोना जांच से इनकार करने वालों पर प्राथमिकी दर्ज कर सकते है। उन्होंने कहा कि वैश्विक महामारी की तीसरी लहर ऐसी ही लापरवाही से आएगी। इसलिए चेन को तोड़ना अति आवश्यक है। सघन जांच अभियान से ही संक्रमण की चेन टूटेगी और लोग पॉजिटिव होने से बचेंगे। आज हमने इस आपदा को नहीं रोका तो कल कोरोना हमारे घर में भी घुसेगा। परिवार को सुरक्षित रखने के लिए सभी को कमर कसनी होगी। इंटेनसिव टेस्टिंग ड्राइव में अधिक से अधिक लोगों की जांच करनी होगी। सभी मिलकर मेहनत करेंगे तो कोरोना संक्रमण की चैन को अवश्य तोड़ सकेंगे।

उपायुक्त ने टीम में शामिल वरीय सुपरवाइजरों को फील्ड में उतर कर, एक उदाहरण पेश करने और अच्छा परिणाम सामने लाने का निर्देश दिया। साथ ही जनप्रतिनिधियों, सोसायटी के अध्यक्ष या सचिव का सहयोग लेकर अधिक से अधिक लोगों की जांच सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। सीडीपीओ, डीएसडब्ल्यूओ तथा एलएस को महिलाओं को विशेष रूप से जांच के लिए प्रेरित करने का निर्देश दिया। उपायुक्त ने जांच टीम में शामिल सभी सदस्यों को सेफ्टी किट में रहने एवं अपनी सुरक्षा का ख्याल रखने का निर्देश दिया। किसी भी एक स्थान पर पांच या छह से अधिक पॉजिटिव व्यक्ति मिलने पर तत्काल प्रभाव से उक्त क्षेत्र को सील कर कंटेनमेंट जोन बनाने का निर्देश दिया। इंटेनसिव टेस्टिंग ड्राइव की डनिगरानी कंट्रोल रूम से सुशांत मुखर्जी एवं गौतम कुमार सिंह करेंगे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.