BBMKU: कोरोना काल में स्नातक फाइनल सेमेस्टर की परीक्षा शुरू, स्नातकोत्तर का सेंटर जिला मुख्यालय में बनाने की मांग

कोरोना काल में पहली बार परीक्षा देते बिनोद बिहारी महतो कोयलांचल विश्वविद्यालय के परीक्षार्थी।
Publish Date:Mon, 28 Sep 2020 12:35 PM (IST) Author: Mritunjay

धनबाद, जेएनएन। बिनोद बिहारी महतो कोयलांचल विश्वविद्यालय के अधीन धनबाद और बोकारो जिला के सभी 29 कॉलेजों में स्नातक फाइनल सेमेस्टर की परीक्षा सोमवार को शुरू हुई। होम सेंटर पर परीक्षा ली जा रही है। सभी परीक्षा केंद्रों को कोरोना संक्रमण काल से बचाव को लेकर जारी दिशा निर्देश के अनुरूप तैयार किया गया है। परीक्षा केंद्रों के बाहर बांस की घेराबंदी करने के साथ ही 6 फीट की दूरी पर छात्र-छात्राओं के खड़े होने के लिए सपोर्ट निर्धारित किए गए हैं। परीक्षा केंद्र में प्रवेश करने से पहले गेट पर सभी छात्र-छात्राओं की थर्मल स्क्रीनिंग की जा रही है। परीक्षा भवन में प्रवेश से पहले उन्हें सैनिटाइज किया गया। परीक्षा दो पालियों में होगी। पहली पाली की समाप्ति के बाद सभी कमरों को सैनिटाइज किया जाएगा।

कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए 25 मार्च को लॉकडाउन के बाद स्कूल-कॉलेज बंद थे। सरकार द्वारा अनुमति मिलने के बाद बिनोद बिहारी महतो कोयलांचल विश्वविद्यालय परीक्षा आयोजित कर रहा है। अभी स्नातक की परीक्षा हो रही है। 10 अक्टूबर से पीजी की परीक्षा होगी। 

10 से पीजी की फाइनल परीक्षा

10 अक्टूबर से शुरू होने वाले स्नातकोत्तर फाइनल सेमेस्टर की परीक्षा को लेकर चार जगहों पर परीक्षा केंद्र बनाया गया है। इसका विरोध छात्र संगठन कर रहे हैं। छात्र संगठनों की मांग है कि परीक्षा देने के लिए धनबाद के अलावा कई अन्य जिलों से भी छात्र आएंगे। जिन्हें जिला मुख्यालय से अन्य जगहों पर जाने में परेशानी होगी। इस मामले को लेकर छात्र युवा संघर्ष मोर्चा ने बिनोद बिहारी महतो कोयलांचल विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. अंजनी कुमार श्रीवास्तव से मुलाकात कर परीक्षा केंद्र जिला मुख्यालय में ही बनाने की मांग उठायी। अध्यक्ष ऋषि कांत यादव ने बताया कि कोरोना काल में विश्वविद्यालय को छात्र छात्राओं के सुविधा को ध्यान में रखते हुए यूजीसी की गाइडलाइन के अनुसार परीक्षा का आयोजन करना चाहिए। जहां आवागमन की सुविधा सबसे सरल हो वहां परीक्षा केंद्र निर्धारित किया जाना चाहिए। विश्वविद्यालय के छात्र-छात्राओं की भावनाओं को समझते हुए उनकी सुरक्षा को प्राथमिकता दी जाए।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.