बलियापुर में कॉलेज निर्माण के लिए जमीन दान देने वाले शिक्षक जनार्दन नहीं रहे Dhanbad News

शिक्षक, समाजसेवी 80 वर्षीय जनार्दन महतो नहीं रहे। बुधवार को उनका निधन हो गया। (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

धनबाद जिले के सुदूर बलियापुर ग्रामीण क्षेत्र में उच्च शिक्षा की अलख जगाने के लिए सात एकड़ चार डिसमिल जमीन दान करने वाले शिक्षक समाजसेवी 80 वर्षीय जनार्दन महतो नहीं रहे। बुधवार को उनका निधन हो गया। उनके निधन से ग्रामीणों में शोक की लहर छा गई है।

Atul SinghWed, 12 May 2021 05:56 PM (IST)

गोविन्द नाथ शर्मा, झरिया : धनबाद जिले के सुदूर बलियापुर ग्रामीण क्षेत्र में उच्च शिक्षा की अलख जगाने के लिए सात एकड़ चार डिसमिल जमीन दान करने वाले शिक्षक, समाजसेवी 80 वर्षीय जनार्दन महतो नहीं रहे। बुधवार को उनका निधन हो गया। उनके निधन से ग्रामीणों में शोक की लहर  छा गई  है। वीबीएम कॉलेज बलियापुर के संस्थापक सदस्य जनार्दन काफी दिनों से अस्वस्थ चल रहे थे। पूर्व विधायक कॉलेज प्रबंधन समिति के सचिव आनंद महतो, सदस्य ओमियोकांत सरकार, जगदीश प्रसाद अग्रवाल, भागवत प्रसाद महतो, डॉ एसके सिन्हा, प्रो करमचंद महतो, प्रो परिमल कुमार महतो, सुनील कुमार महतो आदि ने गहरा शोक व्यक्त किया है।

1982 में सूदुर बलियापुर में कॉलेज की हुई थी स्थापना :

 वीबीएम इंटर कॉलेज की स्थापना गिरिडीह के पूर्व सांसद, शिक्षाविद व झामुमो के संस्थापक बिनोद बिहारी महतो, पूर्व सांसद एके राय, पूर्व विधायक आनंद महतो की पहल पर  1982 में सूदुर बलियापुर ग्रामीण इलाके में उच्च शिक्षा के विकास के उद्देश्य से की गई थी। शिक्षक जनार्दन महतो व उनके परिवारवालों ने कॉलेज के निर्माण के लिए अपनी जमीन दान में दी थी। 

पहले बलियापुर प्लस टू हाई स्कूल में चलता था कॉलेज :

 सर्वप्रथम बलियापुर प्लस टू हाई स्कूल के दो कमरे में इस कॉलेज की शुरुआत की गई थी। कॉलेज प्रबंधन समिति के पदाधिकारियों की पहल पर बाघमारा के जनार्दन महतो व उनके  परिवार वालों की ओर से कॉलेज निर्माण के लिए जमीन दान देने के बाद कॉलेज भवन निर्माण का कार्य शुरू किया गया। शिलान्यास पूर्व सांसद एके राय ने किया था। दो साल बाद कॉलेज के नए  भवन में पठन-पाठन का कार्य शुरू हुआ।

वीबीएम कॉलेज में पढ़ते हैं लगभग डेढ़ हजार विद्यार्थी :

 वीबीएम इंटर कॉलेज में फिलहाल 1467 विद्यार्थी अध्ययनरत हैं। प्रतिवर्ष लगभग आठ सौ विद्यार्थी नामांकन लेते हैं। कॉलेज स्थापना के पूर्व बलियापुर के विद्यार्थी झरिया, धनबाद, सिंदरी व गोविंदपुर स्थित कॉलेजों में उच्च शिक्षा के लिए जाते थे। इस इलाके में कॉलेज के नहीं रहने से यहां के विद्यार्थी खासकर लडकियों को उच्च शिक्षा ग्रहण करने में काफी परेशानी होती थी। अब हर गांव में लड़कियाँ व महिलाएं उच्च शिक्षा ग्रहण कर रही हैं।

कॉलेज प्रबंधन समिति ने दी जनार्दन को  श्रद्धांजलि :

 शिक्षक व समाजसेवी जनार्दन के निधन पर कॉलेज प्रबंधन समिति की ओर से मंगलवार को उन्हें श्रद्धांजलि दी गई मौके पर  कॉलेज के प्रभारी प्राचार्य प्रो एमडी सिंह, कॉलेज के संस्थापक प्राचार्य डॉ सिद्धार्थ बंधोपाध्याय, डॉ अबू तालिब, प्रो सुरेश प्रसाद महतो, प्रो अरुण महतो, प्रो वरुण सरकार, प्रो शक्तिपद महतो, प्रो विप्लव सरकार, प्रो शर्मिष्ठा कुमारी, प्रो अनिता कुमारी, प्रो रानी,  सुजीत महतो, सुनील महतो, दिलीप आदि ने 

श्रद्धांजलि दी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.