Weekly News Roundup Dhanbad: बाप रे बाप ! क्वार्टर में सांप

ट्रेनों में भीड़ बढ़ गई है। अप्रैल में जहां ज्यादातर ट्रेनें 50 फीसद से ज्यादा खाली चल रहीं थीं। अब सामान्य टिकट की छोडि़ए तत्काल की बुकिंग के लिए भी मारामारी शुरू है। ट्रेनों में भीड़ बढ़ते ही दलालों ने आपदा को अवसर बनाना शुरू कर दिया है।

MritunjaySun, 20 Jun 2021 11:45 AM (IST)
रेलवे कर्मचारियों को आवश्यक सुविधा नहीं ( सांकेतिक फोटो)।

धनबाद [ तापस बनर्जी ]। कोरोना काल में धनबाद रेल मंडल ने अपनी बादशाहत सलामत रखी। देशभर में नंबर एक का ताज सिर पर फिर सज गया। मगर, इस मुकाम तक पहुंचाने वाले कर्मियों की महकमे को कितनी फिक्र है, जरा बानगी देखिए। मानसून आते ही रेल क्वार्टरों में सैलाब आ गया है। कमरे तालाब बन गए, सांप भी बिलबिला रहे हैं। उन्हें देख कर्मचारियों के बच्चे शोर मचा रहे हैं। दो दिन पहले की बात है। कोडरमा के एक रेलवे आवास में पानी भर गया। इस दौरान सांप भी घुस आया। उसे देख कर्मचारी की बिटिया चीखी, पापा सांप। स्थानीय स्तर पर बाबू से शिकायत का फायदा नहीं हुआ तो खुद किसी प्रकार उसे बाहर निकाला। घटना का वीडियो ट््िवटर पर शेयर किया। ताकि विभाग कमरे में पानी आने से रोकने का उपाय करे। वीडियो देख कर्मचारी की परेशानी समझ सकते हैं, देखिए मदद मिलती है या नहीं।

टाइगर के गढ़ में नहीं रुकेगी ट्रेन

लगता है टाइगर रिजर्व एरिया कहा जाने वाला बाघमारा विधानसभा क्षेत्र रेलवे नेटवर्क से बाहर ही निकल जाएगा। एक के बाद एक फैसले तो यही बयां कर रहे हैं। कतरासगढ़ रेलवे स्टेशन से रेलवे ने कई ट्रेनों का ठहराव हटा दिया। और तो और धनबाद से खुलने वाली रांची इंटरसिटी भी अब कतरासगढ़ में नहीं रुकती है। कुछ महीने पहले दो माननीय ट्रेनों के ठहराव को लेकर डीआरएम से मिले। तस्वीरें भी ङ्क्षखचवाई। पर फायदा नहीं हुआ। उल्टा वेल्लोर से इलाज कराकर लौटने वालों की मुश्किल बढ़ गई। डाउन अलेप्पी एक्सप्रेस का कतरासगढ़ से ठहराव हट गया। पुराने जख्म आहिस्ता आहिस्ता भर ही रहे थे कि रेलवे ने फिर उन्हें हरा कर दिया है। सांतरागाछी से आनंद विहार जाने वाली ट्रेन पहले बाघमारा के खानूडीह में रुकती थी। स्पेशल बनकर चलते ही ठहराव पर रेलवे ने यहां भी चुपचाप कैंची चला दी।

कल आइए, सब बुक हो गए

ट्रेनों में भीड़ बढ़ गई है। अप्रैल में जहां ज्यादातर ट्रेनें 50 फीसद से ज्यादा खाली चल रहीं थीं। अब सामान्य टिकट की छोडि़ए तत्काल की बुङ्क्षकग के लिए भी मारामारी शुरू है। ट्रेनों में भीड़ बढ़ते ही दलालों ने आपदा को अवसर बनाना शुरू कर दिया है। उनके साथ बुङ्क्षकग क्लर्क भी कदमताल कर रहे हैं। धनबाद रेल मंडल के हजारीबाग रोड स्टेशन पर पप्पू मंडल पहले नंबर पर लाइन में लगे थे। जैसे ही तत्काल का टाइम हुआ फार्म बुङ्क्षकग क्लर्क की ओर बढ़ाया। क्लर्क ने पहले आंखें तरेर उनको देखा, फिर कहा सब फुल हो गया, अब कल आइए। यात्री बोले पहले नंबर पर हैं, कैसे फुल हो गया। बस तनातनी शुरू हो गई। स्थिति इतनी बिगड़ गई की आरपीएफ जवान दौड़े आए। शिकायत डीआरएम तक पहुंची। कार्रवाई का भरोसा मिला है। अब देखना है कि वह कब तक होती है।

चलती ट्रेन में लक्ष्मी दर्शन

तारीख 18 जून। सुबह के सात बजे हैं। हावड़ा से जबलपुर जानेवाली शक्तिपुंज एक्सप्रेस चोपन से ङ्क्षसगरौली के बीच के फासले को पूरा कर रही है। टीटीई बाबू सुबह-सुबह लक्ष्मी दर्शन में व्यस्त हो गए हैं। इस कदर मशगूल कि उन्हें खबर तक नहीं लगी कि उनकी कारगुजारियों का मोबाइल से वीडियो बन रहा है। अब उनका वीडियो वायरल होते ही रेलवे ने नजरें टेढ़ी कर ली हंै। वीडियो शेयर करने वाले ने लिखा है, 500 से हजार रुपये तक एक यात्री से वसूले जा रहे थे। यहां तक कि स्लीपर कोच की एक सीट पर पैसे लेकर चार यात्रियों को बिठाया जा रहा था। टीटीई बाबू तो आपदा को अवसर बनाने में लगे थे, उन्हें कहां पता था कि विपदा घेर लेगी। रेलवे ने शिकायतकर्ता से संपर्क नंबर मांगा है। कार्रवाई की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। लगता है अब तो नप ही जाएंगे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.