Election Commission of India ने देवघर डीसी को हटाने का दिया आदेश, अब बिना अनुमति नहीं मिलेगी चुनाव ड्यूटी; निशिकांत का ट्वीट-सत्यमेव जयते

Election Commission of India देवघर के उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री के खिलाफ भारत निर्वाचन आयोग ने कार्रवाई की है। गोड्डा के सांसद निशिकांत दुबे की शिकायत को सही पाते हुए उपायुक्त पद से हटाने का आदेश दिया है। आयोग के आदेश के बाद दुबे ने ट्वीट कर लिखा है-सत्यमेव जयते।

MritunjayPublish:Mon, 06 Dec 2021 10:14 PM (IST) Updated:Tue, 07 Dec 2021 06:49 AM (IST)
Election Commission of India ने देवघर डीसी को हटाने का दिया आदेश, अब बिना अनुमति नहीं मिलेगी चुनाव ड्यूटी; निशिकांत का ट्वीट-सत्यमेव जयते
Election Commission of India ने देवघर डीसी को हटाने का दिया आदेश, अब बिना अनुमति नहीं मिलेगी चुनाव ड्यूटी; निशिकांत का ट्वीट-सत्यमेव जयते

जागरण संवाददाता, देवघर। भारत निर्वाचन आयोग ने झारखंड के देवघर जिले के उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है। भजंत्री को देवघर डीसी के पद से हटाने के लिए झारखंड सरकार को निर्देश दिया है। साथ ही यह भी कहा है कि अब बगैर चुनाव आयोग की अनुमति के भजंत्री को भविष्य में कभी भी चुनाव ड्यूटी नहीं दी जाएगी। आयोग ने यह कार्रवाई गोड्डा के सांसद निशिकांत दुबे की शिकायत के आधार पर हुई है। हालांकि शिकायत के बाद देवघर डीसी ने चुनाव आयोग से अपने कृत्यों के लिए माफी मांग ली थी। इसके बावजूद चुनाव आयोग ने अनुशासनात्मक कार्रवाई की है।

निशिकांत दुबे ने किया ट्वीट-सत्यमेय जयते

देवघर के डीसी पर चुनाव आयोग की कार्रवाई के बाद गोड्डा के सांसद निशिकांत दुबे ने ट्वीट कर कहा है-सत्यमेय जयते। दुबे ने लिखा है-मेरे खिलाफ साजिश के तहत गलत केस करने के कारण चुनाव आयोग ने देवघर उपायुक्त को हटाने का फैसला किया है। अब वर्तमान उपायु्क्त बिना चुनाव आयोग के आदेश के दूसरे जिला के उपायुक्त भी नहीं बन पाएंगे। इसके अलावा उनके ऊपर अति विशिष्ट दंडात्मक कार्रवाई भी की जाएगी। 

क्या है पूरा मामला

17 अप्रैल, 2021 को देवघर जिले के मधुपुर विधानसभा का उपचुनाव हुआ था। इस दाैरान भाजपा ने देवघर डीसी पर सत्ताधारी झामुमो के पक्ष में काम करने का आरोप लगाया था। इसी मामले में उपचुनाव के बाद गोड्डा सांसद निशिकांत दुबे के खिलाफ देवघर जिले के विभिन्न थानों में चुनाव अचार संहिता उल्लंघन को लेकर पांच अलग-अलग प्राथमिकी दर्ज हुई। इसके खिलाफ भाजपा चुनाव आयोग में पहुंच गई। चुनाव आयोग द्वारा देवघर उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया था। चुनाव आयोग के प्रधान सचिव अरविंद आनंद द्वारा जारी पत्र के तहत उपायुक्त से दस दिन के अंदर अपना जवाब समर्पित करने को कहा गया था। यह मामला काफी गंभीर बनता जा रहा था। 11 नवंबर को उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री ने आयोग को पत्र भेजकर बिना शर्त माफी मांगी।

उपचुनाव के समय चुनाव आयोग ने डीसी पर की थी कार्रवाई

मधुपुर उपचुनाव के समय देवघर डीसी मंजूनाथ भजंत्री पर सत्ताधारी झामुमो के पक्ष में काम करने के आरोप लगे। इसके बाद चुनाव आयोग ने भजंत्री को डीसी पद से हटा दिया। चुनाव बाद मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने फिर से भजंत्री को डीसी बना दिया। दोबारा डीसी की कुर्सी मिलने के बाद भजंत्री के तेवर भाजपा के खिलाफ तल्ख हो गए। उनके निर्देश पर गोड्डा सांसद के खिलाफ पांच प्राथमिकी दर्ज की गई। इसी मामले को लेकर दुबे ने भारत निर्वाचन आयोग से शिकायत की थी। अब कार्रवाई हुई है।