DMC: भूमि पूजन के लिए Dhanbad व‍िधायक को द‍िया न‍िमंत्रण दो म‍िनट बाद ही लिया वापस, इस पर गुस्‍सा गए राज

नगर निगम को पहले दिन ही धनबाद विधायक की नाराजगी झेलनी पड़ गई। भूमि पूजन के लिए निमंत्रण पत्र देकर वापस ले लेने पर निगम की भारी फजीहत हुई। राज सिन्हा ने इसे प्रोटोकॉल का उल्लंघन बताते हुए दिसंबर में शुरू होने वाले व‍िस में उठाने की बात कही है।

Atul SinghFri, 26 Nov 2021 04:56 PM (IST)
प्रोटोकॉल का उल्लंघन बताते हुए दिसंबर में शुरू होने वाले व‍िस में उठाने की बात कही है।

जागरण संवाददाता, धनबाद : भूमिविहीनों को आवास देने के लिए कदम बढ़ा रहे नगर निगम को पहले दिन ही धनबाद विधायक की नाराजगी झेलनी पड़ गई। भूमि पूजन के लिए निमंत्रण पत्र देकर वापस ले लेने पर निगम की भारी फजीहत हुई। इससे नाराज धनबाद विधायक राज सिन्हा ने इसे प्रोटोकॉल का उल्लंघन बताते हुए दिसंबर में शुरू होने वाले विधानसभा सत्र में मामला उठाने की बात कही है। दरअसल प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना के घटक तीन के तहत बाबूडीह बारामुड़ी में 320 किफायती आवास बनाया जा रहा है। शुक्रवार को पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत इसका भूमि पूजन होना था। भूमि पूजन हुआ भी।

इससे एक दिन पहले ही गुरुवार की शाम निगम की ओर से निमंत्रण पत्र विधायक राज सिन्हा को भेजा गया। कुछ देर बाद ही निमंत्रण पत्र यह कहकर वापस ले लिया कि कुछ त्रुटि रह गई है। आज जब भूमि पूजन होने की जानकारी मिली तो धनबाद विधायक राज सिन्हा भड़क उठे। विधायक ने कहा इससे अच्छा निमंत्रण पत्र ही नहीं देते जब प्रोटोकॉल का उल्लंघन ही करना था। कल निमंत्रण पत्र मिलने के साथ ही उन्होंने अपने आज के कार्यक्रम रजिस्टर में इसकी एंट्री भी करवा दी थी, लेकिन दो मिनट बाद ही फिर से निगम कर्मचारी आया और बोला कि निमंत्रण पत्र वापस मांगा जा रहा है। इसका कारण भी पूछा तो बताया कि कुछ त्रुटि रह गई है। यह सरासर गलत है। मेरे ही विधानसभा क्षेत्र में मुझे ही नजर अंदाज किया जा रहा है। इस मामले को विधानसभा सत्र में उठाएंगे। नगर निगम की ओर से निमंत्रण पत्र सांसद के घर भी भेजा गया था, लेकिन कर्मचारी सांसद के घर तक पहुंच नहीं पाया था और बीच में ही निगम ने सांसद का भी निमंत्रण पत्र वापस मंगवा लिया। 

भूमि पूजन कार्यक्रम में नागरिय निदेशालय के सहायक निदेशक शैलेश कुमार प्रियदर्शी, सीओ प्रशांत लायक, उपनगर आयुक्त राजेश कुमार सिंह, कार्यपालक पदाधिकारी मो अनीस सिटी, मैनेजर आनंद राज, शब्बीर आलम, प्रेम प्रकाश और निर्माण करने वाली एजेंसी जुडको व एनपीसीसी के कर्मचारी मौजूद थे।

टोल फ्री नंबर 18001202929 और 8789625925 पर कराएं रजिस्ट्रेशन

किफायती आवास जुडको एजेंसी बनाएगी। यहां लाभुकों को वन बीएचके फ्लैट मिलेगा। बारामुड़ी किफायती आवास परियोजना के लिए पंजीकरण शुरू हो चुका है। नगर निगम कार्यालय में निश्शुल्क आवेदन प्राप्त किया जा सकता है। टोल फ्री नंबर 18001202929 पर भी रजिस्ट्रेशन की सुविधा दी जा रही है। इसके अलावा निगम के कर्मचारी वैद्यनाथ यादव के नंबर 8789625925 पर संपर्क कर जानकारी प्राप्त की जा सकती है। इसके लिए पांच हजार रुपये रजिस्ट्रेशन शुल्क देना होगा। यह राशि बाद में मूल राशि में समायोजित कर ली जाएगी। तीन लाख 64 हजार में वन बीएचके फ्लैट मिल जाएगा। ढाई लाख रुपये पीएम आवास योजना के तहत सब्सिडी मिलेगी। एक फ्लैट का क्षेत्रफल 320 वर्गफीट होगा। कुल 320 वन बीएचके फ्लैट का निर्माण होना है। निर्धारित मानकों पर फ्लैट का आवंटन होने के बाद लाभुकों के आवास की रजिस्ट्री मात्र एक रुपये में की जाएगी। स्टांप ड्यूटी भी इसी एक रुपये में होगी। लाभुकों की संख्या अधिक होने पर आवास की संख्या के आधार पर लाटरी प्रक्रिया से फ्लैट का आवंटन किया जाएगा। आवास आवंटन के लिए समिति गठित होगी। इसमें नगर आयुक्त अध्यक्ष, कार्यपालक पदाधिकारी एवं लाभुकों का एक प्रतिनिधि सदस्य के तौर पर रहेंगे।

फ्री होल्ड के आधार पर होगा आवास का आवंटन

आवास का आवंटन पूर्ण स्वामित्व यानी फ्री होल्ड के आधार पर किया जाएगा। लाभुकों को आवास एवं जमीन का स्वामित्व 15 वर्षों के लाकइन पीरियड के बाद दिया जाएगा। लाभुकाें का आवंटित आवास 15 वर्षों तक अहस्तांतरित होगा। इस बीच यदि लाभुक को कुछ हो जाता है तो मरणोपरांत वैधानिक उत्तराधिकाारियों को हस्तांतरित किया जा सकेगा। समय पर ऋण न चुकाने पर आवास आवंटन रद करते हुए नए पात्र लाभुक को आवास आवंटित कर दिया जाएगा। गलत जानकारी देने पर भी आवंटन रद करते हुए कानूनी कार्रवाई की जाएगी। आवास आवंटन के एक माह के अंदर लाभुक अंशदान की अग्रिम राशि 20 हजार रुपये जमा करना होगी। ऐसा न करने की सूरत में रजिस्ट्रेशन शुल्क पांच हजार जब्त हो जाएगा। लाभुक इस बात का शपत्र-पत्र देंगे कि 15 वर्षों तक फ्लैट न बेचेेंगे और न ही किराए पर देंगे।

इन्हें मिलेगा किफायती आवास का लाभ

- ऐसे परिवार जो 17 जून 2015 के पहले निगम क्षेत्र में निवास कर रहे हों।

- परिवार की वार्षिक आय अधिकतम तीन लाख रुपये हो।

- आवेदक या उनके परिवार के नाम से भारत में कहीं भी पक्का मकान न हो।

- लाभुक पीएम आवास के सभी घटकों में से सिर्फ एक में ही आवास का लाभ ले सकते हैं।

ऐसा होगा किफायती आवास

- जी प्लस थ्री अपार्टमेंट, वन बीएचके फ्लैट। एक लिविंग रूम, बेडरूम, रसोई घर, शौचालय, बाथरूम एवं बालकनी।

- एक फ्लैट का क्षेत्रफल 320 वर्गफीट।

- लाभुकों को 3.64 लाख रुपये देना होगा, 2.5 लाख पीएम आवास के तहत मिलेगा।

- रजिस्ट्रेशन होने के बाद बुकिंग के समय एकमुश्त 25000 रुपये देना होगा।

- बुकिंग के बाद 18 माह में चार किश्तों में पूरी राशि का करना होगा भुगतान। इसके लिए बैंक से लोन भी मिलेगा।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.