सुदामडीह में फायर पैच का खुला मुहाना, गैस रिसाव से दहशत

चासनाला बीसीसीएल पूर्वी झरिया क्षेत्र अंतर्गत सुदामडीह एएसपी कोलियरी आउटसोर्सिंग परियोजना के फायर पैच का मुहाना खुल गया है।

JagranWed, 08 Dec 2021 08:23 PM (IST)
सुदामडीह में फायर पैच का खुला मुहाना, गैस रिसाव से दहशत

चासनाला : बीसीसीएल पूर्वी झरिया क्षेत्र अंतर्गत सुदामडीह एएसपी कोलियरी आउटसोर्सिंग परियोजना फायर पैच ए के पास बुधवार की सुबह तेज आवाज के साथ जमीन के अंदर से काला धुआं-गैस के निकलने से आसपास के लोगों में हड़कंप मच गया। सुदामडीह मेन कालोनी नाच घर के पास से बिरसा पुल जाने वाली सड़क के किनारे बंद इंक्लाइन आठ ए के दो नंबर लेबल का मुहाना खुलने से ऐसा हुआ। भारी मात्रा में काला धुआं-गैस के रिसाव से आसपास के लोगों में भय समा गया। काला धुआं का गुबार निकलने से आकाश में अंधेरा छा गया। लोग भय के माहौल में घरों से बाहर निकलकर घटनास्थल पर पहुंचे। हालांकि घटना से किसी प्रकार की क्षति की सूचना नहीं है। वहीं संवारडीह बस्ती के ग्रामीणों ने गैस रिसाव स्थल की ट्रेंच कटिग कर भराई कराने, स्थानीय व प्रभावित ग्रामीणों को नियोजन, मुआवजा सहित नियमानुसार विस्थापन कराने की मांग प्रबंधन से की। ग्रामीणों के विरोध के कारण परियोजना का उत्पादन बंद कर दिया गया। सुदामडीह एएसपी कोलियरी के पीओ अनिल कुमार, खनन प्रबंधक डीके सिन्हा, सुरक्षा प्रबंधक भरत वैष्णव, केएन महतो, एसटीजी प्रबंधक आदि ने घटना स्थल का मुआयना कर गैस रिसाव को बंद कराने का कार्य शुरू कराया। प्रबंधन ने सुदामडीह से बिरसा पुल जाने वाली सड़क पर पोकलेन मशीन से ओबी गिराकर इसे बंद कर दिया। मशीन से उक्त स्थल की खुदाई शुरू कराई। प्रबंधन का कहना है कि जल्द उक्त स्थल की भराई शुरू की जाएगी।

----

प्रबंधन की लापरवाही से हुई घटना

सवारडीह के ग्रामीण भोजू रवानी, झरी लाल, प्रदीप रवानी, राजू रवानी, राजकुमार रवानी ने कहा कि प्रबंधन की लापरवाही से घटना हुई। ग्रामीण अपने घर में भी असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। प्रबंधन ने एक ओर जहां बस्ती के बगल में ही गर्म ओबी डंप कर पहाड़ बना दिया है। वहीं दूसरी ओर आउटसोर्सिंग के माध्यम से कोयला खनन कर रहा है। इससे बस्ती के आसपास हो रहे गैस रिसाव से जीना मुश्किल हो गया है। छह माह पूर्व भी गोफ होने के कारण गैस रिसाव व काला धुंआ निकलने लगा था। प्रबंधन ट्रेंच कटिग कर बालू व पानी डालकर उक्त स्थल की शीघ्र भराई कराएं। यहां कभी भी अप्रिय घटना हो सकती है। रैयत स्वेच्छा से जाने को तैयार हैं। प्रबंधन तत्काल रैयतों को एक साथ कुसुम विहार धनबाद में समुचित व्यवस्था के साथ विस्थापन करें। अन्यथा ग्रामीण उग्र आंदोलन को बाध्य होंगे।

..

अंग्रेजी हुकूमत के समय निकाला गया था यहां से कोयला :

स्थानीय लोगों का कहना है कि अंग्रेजी हुकूमत के समय पाथरडीह हाटतल्ला से संवारडीह बस्ती, सुदामडीह मेन कालोनी, चीप हाउस होते हुए मोहलबनी तक आठ ए सिम चलाया गया था। यहां से काफी कोयला निकाला गया था। उस समय प्रबंधन व ठेकेदार की मिलीभगत से सही तरीके से खदान में बालू की भराई नहीं की गई थी। इस कारण कई वर्षों से लगातार भू धंसान, गोफ, गैस रिसाव व घरों में दरार की घटनाएं हो रही हैं। वर्ष 2016 में भी भू धंसान की बड़ी घटना में कई घरों के साथ जीरा देवी के जमीन में समाने से उसकी मौत हो गई थी।

..

पूरे क्षेत्र को अग्नि प्रभावित व भू धंसान क्षेत्र घोषित किया गया है। वर्षों पुरानी आठ ए सिम के दो नंबर लेबल का मुहाना खुलने व हवा के संपर्क में आने से गैस रिसाव की घटना हुई। पोकलेन मशीन से घटना स्थल की जमीन की कटाई कर आग को हटाकर भराई कराई जाएगी। तब तक सुदामडीह मेन कालोनी से बिरसा पुल जाने वाली सड़क बंद रहेगी। स्थानीय लोगों को कई बार घर खाली करने का नोटिस दिया गया, लेकिन मेन कालोनी हनुमान मंदिर के निकट कई दुकानदार नहीं हट रहे हैं। प्रबंधन अब प्रशासन की मदद से उन्हें खाली कराएगा।

- अनिल कुमार, परियोजना पदाधिकारी सुदामडीह एएसपी कोलियरी।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.