कैसे संवरे कोयलांचल: Dhanbad को चाहिए हवाई सुविधा, बेहतर च‍िक‍ित्‍सा व्‍यवस्‍था...पढ़ि‍ए एक्‍सपर्ट की राय

धनबाद विश्व स्तर पर अपनी उपस्थिति दर्ज करा रहा है। (जागरण)

धनबाद विश्व स्तर पर अपनी उपस्थिति दर्ज करा रहा है। तीव्र गति से विकसित होनेवाला विश्व के 100 शहरों में धनबाद शामिल है। वैसे तो धनबाद में लोगों को लगभग सभी सुविधाएं मिल रही है लेकिन अब भी बहुत चीजों की आवश्यकताएं हैं।

Atul SinghSat, 17 Apr 2021 11:30 AM (IST)

धनबाद, जेएनएन: धनबाद विश्व स्तर पर अपनी उपस्थिति दर्ज करा रहा है। तीव्र गति से विकसित होनेवाला विश्व के 100 शहरों में धनबाद शामिल है। वैसे तो धनबाद में लोगों को लगभग सभी सुविधाएं मिल रही है, लेकिन अब भी बहुत चीजों की आवश्यकताएं हैं। जरूरी है कि बदलते परिवेश में यहां लोगों के लिए स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में काफी कुछ होना बाकी है। यह कहना है आइआइटी आइएसएम के डीन स्टूडेंट वेलफेयर प्रो. एमके सिंह का। प्रो. सिंह ने बताया कि धनबाद में बेहतर शिक्षण संस्थानों की अत्यंत आवश्यकता है ताकि उन्हें प्रतियोगि परीक्षाअें के लिए बाहर नहीं जाना पड़े।

उच्च एवं तकनीकी शिक्षण संस्थान यहां और अधिक होने चाहिए। जहां तक स्वास्थ्य सुविधाओं की बात करें तो यहां बेहतर चिकित्सकीय सुविधा के लिए हमें जिले से बाहर या अन्य राज्यों का सहारा लेना पड़ता है। खेल को बढ़ावा देने के लिए धनबाद में बेहतर स्टेडियम नहीं है। जिसके कारण बच्चों के खेल की विभिन्न प्रतिस्पर्धाएं प्रभावित होती है। यहां ऐसी काफी सारी सुविधाएं होनी चाहिए जो आम जन जीवन से जुड़ी हुई हों। मसलन एक बेहतरीन पुस्तकालय, संग्रहालय समेत अन्य कई चीजें भी हैं। संग्रहालय की आवश्यकता इसलिए भी है कि यहां की चीजों को बाहर से आने वाले लोग जान सकें। धनबाद को केवल कोयला के लिए ही प्रसिद्ध नहीं है, बल्कि यहां अनुसंधान संस्थान, आइएसएम आइआइटी, देश में सबसे अधिक राजस्व देने वाला रेलवे का एक अलग इतिहास भी है। धनबाद कई ऐसी परिस्थितियों से गुजरा है, जिसे जानने की आवश्यकता लोगों को है।

बेहतर स्वास्थ्य सुविधा की है जरूरत

धनबाद की सबसे बड़ी आवश्यकता यहां के स्वास्थ्य सेवाओं की है। केवल एक अस्पताल के भरोसे पूरा जिला संचालित होता है। जरूरी है कि विभिन्न माध्यमों से हेल्थ केयर सिस्टम में व्यापक सुधार किया जाए। आज भी कई बीमारियों का इलाज धनबाद में संभव नहीं है। जरूरी है कि प्रशासन और राज्य सरकार इन व्यवस्थाओं की ओर ध्यान दें।

शोध के क्षेत्र के लिए बने नीति 

धनबाद आइआइटी आइएसएम जैसा विश्वस्तरीय संस्थान है। जहां कई बड़े शोध हुए हैं और कई शोध पर काम चल रहा है। जरूरी है कि इस शहर के विभिन्न पहलुओं पर शोध हो। यहां के छात्र शोध कार्य में आगे आएं। ताकि शैक्षणिक दृष्टि से भी इस शहर की महत्ता बढ़े। यहां ऐसी नीति बननी चाहिए कि विश्वविद्यालयों और अन्य शैक्षणिक संस्थानों को आइआइटी आइएसएम का लाभ मिल सके।

जरूरी है एयरपोर्ट

  पिछले कई वर्षों में धनबाद की सूरत बदली है। कुछ साल पहले तक पूरे शहर की सड़कों का बुरा हाल था। अब इसमें काफी सुधार आ गए हैं। सड़कें भी पहले से बेहतर हुई हैं। धनबाद से हवाई सेवा भी शुरू होनी जरूरी है। यहां से दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, बेंगलुरू, पुणे और भुवनेश्वर सहित देश के कई शहरों छात्र यहां पढ़ते हैं। यहीं नहीं आइएसएम में विदेशी छात्रों की संख्या भी काफी अधिक है। उन्हें आने-जाने के लिए दूसरे शहरों का विकल्प तलाशना पड़ता है। यहां व्यवसायिक एवं शैक्षणिक गतिविधियां लगातर बढ़ रही हैं। ऐसे में जरुरी है कि एक एयरपोर्ट भी धनबाद को मिले। इसकी कमी यहां के लोगों को काफी खलती है। यदि यह व्यवस्था यहां मिलती है तो धनबाद देश के विभिन्न हिस्सों के अलावा भी विदेशों से भी जुड़ जाएगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.