Dhanbad Politics: सरकार के खिलाफ माकपा ने निकाली विशाल रैली

केंद्र सरकार बड़ी तेजी से विरोध को अपराध बनाने के भयावह रास्ते पर बढ़ चली है । (जागरण)

नरेंद्र मोदी और अमित शाह के नेतृत्ववाली भाजपा- आरएसएस की क्रूर और डरी हुई केंद्र सरकार बड़ी तेजी से विरोध को अपराध बनाने के भयावह रास्ते पर बढ़ चली है । 26 फरवरी 3 महीने पूरे कर रहे देशव्यापी किसान संघर्ष में शामिल विरोध प्रदर्शनकारियों को ऐसे दिखा रही है।

Atul SinghFri, 26 Feb 2021 05:47 PM (IST)

धनबाद, जेएनएन: नरेंद्र मोदी और अमित शाह के नेतृत्ववाली भाजपा- आरएसएस की क्रूर और डरी हुई केंद्र सरकार बड़ी तेजी से विरोध को अपराध बनाने के भयावह रास्ते पर बढ़ चली है ।  26 फरवरी, 3 महीने पूरे कर रहे बहादुरीपूर्ण देशव्यापी किसान संघर्ष में शामिल विरोध प्रदर्शनकारियों को ऐसे दिखा रही है जैसे कि वह कोई राक्षस हो।

यह बातें पार्टी के प्रमुख नेताओं ने शुक्रवार को विशाल रैली को संबोधित करते हुए रणधीर वर्मा चौक पर कहा। वक्ताओं ने आगे कहा कि भाजपा नीतवाली केंद्र की मोदी सरकार जनतंत्र पर लगातार हमले कर रहे हैं जनता की आवाज को और उसके संघर्षों को कुचलने के लिए षड्यंत्रकारी काम कर रही है। वही पेट्रोल- डीजल व गैस में लगातार हो रही बढ़ोतरी, पहले ही महामारी के कारण बेरोजगारी तथा आय छिनने की भारी तकलीफें झेल रही जनता की, तकलीफें और बढ़ाने का ही काम कर रही है। तेल के दाम में यह कमरतोड़ महंगाई, केंद्र सरकार द्वारा वसूला जाने वाले उत्पाद शुल्क तथा उसके द्वारा लगाए जाने वाले महसुलों में लगातार बढ़ोतरी का ही नतीजा है। वक्ताओं ने याद दिलाते हुए कहा कि यह अभियान हमारे यहां 15 से 22 फरवरी तक ब्रांच स्तर का जत्था निकालते हुए 24 फरवरी को जिला के प्रत्येक प्रखंड/अंचल पर धरना तथा प्रदर्शन के माध्यम से मांग पत्र सौंप कर शनिवार  धनबाद में जिला स्तरीय विशाल रैली के रूप में किया जा रहा है।

इससे पहले भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) जिला कमेटी धनबाद के नेतृत्व में सांप्रदायिकता के खिलाफ देश की आजादी तथा लोकतंत्र की रक्षा के लिए और केंद्र की मोदी सरकार की जन विरोधी नीतियों के खिलाफ पार्टी द्वारा 15 से 28 फरवरी तक चलाई जा रही देशव्यापी अभियान के तहत आज जिला परिषद मैदान से एक विशाल रैली निकाली गई है, जो हीरापुर, पार्क मार्केट होते हुए मुख्य मार्ग से रणधीर वर्मा चौक पहुंचकर सभा में बदल गए।

 रैली में कृषि क्षेत्र में किसान विरोधी तीन काला कानून वापस लो।, एमएसपी को कानूनी दर्जा देना होगा।, मजदूर को गुलाम बनाने वाली श्रम कानून वापस लो।, वस्तु अधिनियम कानून में जमाखोरों को कानूनी छूट देना बंद करो।, कारपोरेट घराने को लाभ पहुंचाने वाली तथा बेरोजगारी व महंगाई बढ़ाने वाली जनविरोधी आम बजट वापस लो।, रोज-रोज पेट्रोल- डीजल व गैस में मूल्य वृद्धि पर रोक लगाओ।, गरीबों के बीच में मुफ्त अनाज वितरण करना होगा।, महामारी में जो हाथ बेरोजगार हुए उसके खाते में कम से कम ₹10000 प्रतिमाह भुगतान करना होगा। के गगनभेदी नारे गूंज रहे थे।

रैली में धनबाद, झरिया, बलियापुर- सिंदरी, तोपचांची तथा चिरकुंडा लोकल कमेटी से बड़ी संख्या में लोगों ने हिस्सा लिया।

मुख्य वक्ताओं में पार्टी राज्य सचिव गोपी कांत बख्शी, जिला सचिव कॉ. सुरेश प्रसाद गुप्ता, झरिया लोकल कमेटी सचिव  शिव बालक पासवान के अलावे बलियापुर- सिंदरी लोकल कमेटी के संतोष महतो, धनबाद लोकल कमेटी सचिव रामबालक, चिरकुंडा लोकल कमेटी के कार्तिक घोस, मानस चटर्जी, राम कृष्णा पासवान, सपन माजी, संतोष घोष, गणेश धर, माया लायक, विकास कुमार ठाकुर, भारत भूषण, लीलामय गोस्वामी, नौशाद अंसारी, गौतम प्रसाद, संतोष चौधरी, रीना पासवान, काली सेन गुप्ता, किसान सभा नेता सुबल मल्लिक, एचके मिश्रा तथा कई अन्य साथी शामिल थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता सुरेश प्रसाद गुप्ता ने किया, जबकि संचालन राम कृष्णा ने किया।

रैली में जनवादी महिला समिति धनबाद की महिलाएं बड़ी संख्या में शामिल थी, वहीं युवा संगठन डीवाईएफआई के साथियों ने अपने सफेद झंडा में पांच कोना  लाल सितारा वाला लेकर "हमें रोजगार दो" नारे के साथ शामिल हुए।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.