Dhanbad Politics: महंगाई डायन का नारा देने वाली भाजपा ने इससे कर ली है रिश्तेदारी

झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने आंदोलन व्यापक स्तर पर चलाने का निर्णय लिया गया है। (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

पेट्रोल डीजल घरेलू गैस सरसों तेल सहित अन्य खाद्य सामग्रीयों के कीमतों में बेतहाशा वृद्धि किए जाने के विरोध झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी अब आर-पार की लड़ाई लड़ने के पक्ष में है। यही कारण है कि अब आंदोलन व्यापक स्तर पर चलाने का निर्णय लिया गया है।

Atul SinghThu, 25 Feb 2021 05:31 PM (IST)

धनबाद, जेएनएन : पेट्रोल, डीजल, घरेलू गैस, सरसों तेल सहित अन्य खाद्य सामग्रीयों के कीमतों में बेतहाशा वृद्धि किए जाने के विरोध झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी अब आर-पार की लड़ाई लड़ने के पक्ष में है। यही कारण है कि अब आंदोलन व्यापक स्तर पर चलाने का निर्णय लिया गया है। सड़क से सदन तक आंदोलन होगा। इसको लेकर गुरुवार को ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी सचिव सह मीडिया प्रभारी प्रणव झा एवं जोनल प्रवक्ता सह पर्यवेक्षक शहजादा अनवर धनबाद पहुंचे।

हाउसिंग कॉलोनी स्थित कांग्रेस कार्यालय में बैठक कर व्यापक रणनीति बनाई। प्रभारी प्रणव झा ने कहा कि केंद्र सरकार का महंगाई पर कोई लगाम नहीं है। केंद्र सरकार हम दो और हमारे दो को समर्पित है। सिर्फ कुछ पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाने के लिए ओएनजीसी जैसी तेल कंपनी का उत्पादन कम कर दिया। जनता के सुख-दुख से कोई लेना-देना नहीं सिर्फ अपना स्वार्थ साध रहे हैं।

नवरत्न कंपनियों को बेचा जा रहा है। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर क्रूड ऑयल की कीमत कम होने के बावजूद एक्साइज ड्यूटी लगाकर तेल के दाम में अप्रत्याशित वृद्धि कर दी गई है। 26 मई 2014 को जिस दिन पीएम शपथ ले रहे थे उस दिन 108 डॉलर प्रति बैरल यानी 45 लीटर पेट्रोल की खरीद थी। बाजार में पेट्रोल 71 रुपये और डीजल 57 रुपये में बिक रहा था।

आज 63.79 डॉलर प्रति बैरल यानी 35 पेट्रोल की खरीद पड़ रही है। इसके बावजूद 85 से 100 रुपये लीटर पेट्रोल डीजल पहुंच गया है। सिर्फ यही नहीं केंद्र सरकार गैर भाजपा राज्यों से सौतेला व्यवहार कर रही है। रॉयल्टी नहीं मिल रही, जीएसटी का रिफंड बकाया है, अनुदान नहीं दिया जा रहा है। एक गैस सिलेंडर की कीमत 850 हो गई है। सब्सिडी में सिर्फ 19 से 37 रुपये रिफंड आ रहा है।

मध्यमवर्गीय परिवार की कमर टूट चुकी है। एक समय यही भाजपा सरकार गैस सिलेंडर लेकर प्रदर्शन कर रही थी आज सब चुप हैं। शहजादा अनवर ने कहा पेट्रोलियम, सरसों तेल और घरेलू गैस में की गई बढ़ोतरी रोलबैक होना चाहिए। एक्साइज ड्यूटी वापस हो। डीजल पेट्रोल के दाम बढ़ने से किसानों को भी नुकसान हो रहा है, फिर कैसे भाजपा कहती है कि हम किसान हितेषी हैं। दो माह में एलपीजी में

200 रुपये की वृद्धि हुई है। एक समय महंगाई डायन का नारा देने वाली भाजपा की इससे रिश्तेदारी हो गई है। चीजों को महंगा कर 20 लाख करोड़ की आय केंद्र सरकार कर चुकी है। यह कहां गया इसका कोई अता-पता नहीं। सिर्फ गरीबों को लूटा जा रहा है। इन सबके विरोध में 26 को पुराना बाजार पानी टंकी से बिरसा चौक तक शाम छह बजे कांग्रेसी मशाल जुलूस निकालेंगे। 27 को रणधीर वर्मा चौक पर एक दिवसीय धरना दिया जाएगा। प्रखंड से लेकर जिला स्तर तक आंदोलन चलाया जाएगा।

जब तक कीमतें वापस नहीं हो जाती, तब तक आंदोलन बदस्तूर जारी रहेगा। कांग्रेस जिलाध्यक्ष ब्रजेंद्र प्रसाद सिंह और कार्यकारी अध्यक्ष रविंद्र वर्मा ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर कार्यकारी अध्यक्ष शंकर प्रजापति, योगेंद्र सिंह योगी, प्रसाद निधि, पप्पू तिवारी, अभिजीत राज मौजूद थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.