एमसीसी बन गई मनी कलेक्शन कमेटी : अशोक

संस पंचेत मासस निरसा को धनबाद बनाना चाहती है। झामुमो किसी भी कीमत पर निरसा को धनबाद नहीं बनने देगी।

JagranPublish:Sun, 05 Dec 2021 06:47 PM (IST) Updated:Sun, 05 Dec 2021 06:47 PM (IST)
एमसीसी बन गई मनी कलेक्शन कमेटी : अशोक
एमसीसी बन गई मनी कलेक्शन कमेटी : अशोक

संस, पंचेत : मासस निरसा को धनबाद बनाना चाहती है। झामुमो किसी भी कीमत पर निरसा को धनबाद नहीं बनने देगी। उक्त बातें झामुमो नेता अशोक मंडल ने रविवार को दहीबाड़ी में झामुमो के धरना स्थल पर प्रेस वार्ता में कही। उन्होंने कहा कि यहां के विस्थापित अपने हक की लड़ाई के लिये सजग है। उसके बाद भी पूर्व विधायक अरूप चटर्जी लोगों को बरगला कर राजनीति रोटी सेंकना चाहते हैं। उन्होंने कहा यह सौभाग्य की बात है कि निरसा में ईसीएल, बीसीसीएल ,डीवीसी के साथ औधोगिक प्रतिष्ठान है। लेकिन विस्थापितों की समस्या का हल नहीं हुआ। निरसा में पिता पुत्र का 25 वर्ष तक राज चला। लेकिन विस्थापित समस्या के समाधान के कोई पालिसी नही बना पाई है। चाहे वह डीवीसी पंचेत के 10 हजार व मैथन के 5211 विस्थापित का मामला हो या ईसीएल मुगमा क्षेत्र के चापापुर, कापासाड़ा का मुद्दा हो या बीसीसीएल के पलासिया का।

उन्होंने कहा कि मासस आज के दिन में मनी कलेक्शन कमेटी बन गई है। उन्होंने कहा जब यहां के लोग अपने हक के लिये लड़ रहे है तो वो यहां भीड़ जुटा कर क्या साबित करना चाहते हैं। पिता पुत्र ने विस्थापितों के नाम पर ठगी का काम किया है। उन्होंने कहा कि सरकार से भी 75 फीसद विस्थापित को रोजगार देने का प्रविधान है। ऐसे में बाहरी लोगों को आने की जरूरत नहीं है। मौके पर बोदी लाल हांसदा, उपेंद्रनाथ पाठक, ठाकुर मांझी, बाबू जान मरांडी, देवेन टुडू, दिलीप महतो, फारुख अंसारी, अब्दुल रब, बीएन पाल, काली दास, दुलाल भंडारी, प्रदीप कुंभकार सहित अन्य उपस्थित थे। प्रशासन ने दोनों पक्षों पर धारा 107 लगाया

दहीबाड़ी की घटना को लेकर कलियासोल के अंचलाधिकारी दिवाकर दुबे का कहना है कि कल की घटना को लेकर जांच की है। घटना को लेकर पूर्णवृति न हो इसको लेकर प्रशासन भी एहतियातन कदम के तहत दोनों पक्षों के विरुद्ध 107 करने का आदेश दे दिया गया है। स्थानीय स्तर से 144 धारा लगाने के लिये अनुशंसा आयेगी तब लगाया जायेगा। वही सुरक्षा को लेकर अतिरिक्त बल के लिये सीआईएसएफ की मांग की गयी है।