Dhanbad नगर निगम का डेथ सिस्टम; कोराना काल में जारी हुआ 2919 मृत्यु प्रमाणपत्र, एक में भी मृत्यु के कारणों का उल्लेख नहीं

इसे आप सरकारी नियम की विसंगति कह लें या फिर कोविड-19 से हुई मौतों में आंकड़ेबाजी सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है। कम से कम धनबाद नगर निगम के मृत्यु प्रमाण पत्र से तो यही लग रहा है। यहां सब धान बाइस पसेरी की कहावत चरितार्थ हो रही है।

Atul SinghSat, 24 Jul 2021 11:17 AM (IST)
निगम के मृत्यु प्रमाण पत्र से तो यही लग रहा है।

आशीष सिंह, धनबाद: इसे आप सरकारी नियम की विसंगति कह लें, या फिर कोविड-19 से हुई मौतों में आंकड़ेबाजी, सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है। कम से कम धनबाद नगर निगम के मृत्यु प्रमाण पत्र से तो यही लग रहा है। यहां सब धान बाइस पसेरी की कहावत चरितार्थ हो रही है। नगर निगम से जो भी प्रमाण पत्र जारी हो रहे हैं, चाहे मौत कोविड से हुई हो या फिर सामान्य, उनमें टिप्पणी वाले कालम में मौत के कारणों का जिक्र ही नहीं किया जा रहा। कोविड-19 तो छोड़िए सामान्य मौतों का भी ब्योरा इसमें शामिल नहीं है। मौत का कारण बताने वाला कालम ही मृत्यु प्रमाणपत्र में नहीं है। इससे यह पता लगाना बेहद मुश्किल है कि नगर निगम से जो भी डेथ सर्टिफिकेट जारी हुए हैं, उनमें मौत होने की वजह क्या रही होगी। कोविड-19 से होने वाले और सामान्य बीमारी या किसी भी गंभीर बीमारी से होने वाली मौतों का सर्टिफिकेट एक सा है। नगर निगम के डेथ सर्टिफिकेट में यह कॉलम क्यों नहीं रखा गया है, यह बड़ा सवाल है।

1908 महिला एवं 1011 पुरुष का मृत्यु प्रमाणपत्र जारी

देश में मार्च 2020 में कोविड की लहर शुरू हुई। इसके बाद मरने वालों का सिलसिला चल पड़ा। नगर निगम की ओर से अप्रैल 2020 से जून 2021 तक 2919 मृत्यु प्रमाणपत्र जारी किया गया। इसमें कोविड के साथ-साथ सामान्य व गंभीर बीमारी से मरने वालों का भी डेथ सर्टिफिकेट शामिल है। 1908 महिला एवं 1011 पुरुषों का मृत्यु प्रमाणपत्र जारी किया गया। इनमें से किसी के भी प्रमाणपत्र में मृत्यु के कारणों का उल्लेख नहीं किया गया है।

अप्रैल 2020 से जून 2021 तक जारी मृत्यु प्रमाणपत्र

माह पुरुष महिला कुल

अप्रैल 2020 15 12 27

मई 2020 60 20 80

जून 2020 133 60 193

जुलाई 2020 184 102 286

अगस्त 2020 100 69 169

सितंबर 2020 142 66 208

अक्टूबर 2020 105 62 167

नवंबर 2020 119 46 165

दिसंबर 2020 120 66 186

जनवरी 2021 158 72 230

फरवरी 2021 151 78 229

मार्च 2021 99 56 155

अप्रैल 2021 110 76 186

मई 2021 100 77 177

जून 312 149 461

---------------------------

जो आवेदनकर्ता है वो अपने आवेदन में मौत के कारणों का जिक्र करते हैं। अस्पताल भी मृत्यु होने के कारण का सर्टिफिकेट देते हैं। इसके साथ ही नगर निगम का मृत्यु प्रमाणपत्र संलग्न होता है। नगर निगम की ओर से जारी मृत्यु प्रमाणपत्र में मौत के कारण का उल्लेख नहीं होता है। यह विभागीय प्रक्रिया है, शुरू से चली आ रही है।

- सत्येंद्र कुमार, नगर आयुक्त

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.