East Central Railway: जेडआरयूसीसी के सदस्य बने सांसद पीएन सिंह, क्या धनबाद को मिलेगा लाभ

अपने घर के दरवाजे पर घंटी बजाते सांसद पीएन सिंह ( फाइल फोटो)।

East Central Railway धनबाद के सांसद पीएन सिंह को पूर्व मध्य रेलवे उपभोक्ता सलाहकार समिति का सदस्य बनाया गया है। इससे धनबाद के लोगों की उम्मीद बढ़ गई है। सांसद सिंह अब यहां की मांगों को रेलवे के उचित प्लेटफॉर्म पर उठाएंगे।

MritunjayMon, 01 Mar 2021 02:33 PM (IST)

धनबाद, जेएनएन। धनबाद में रेल सुविधाओं की मुखरता से मांग अब ईस्ट सेंट्रल रेलवे ( East Central Railway) मुख्यालय हाजीपुर तक पहुंचेगी। मुख्यालय में बैठे अधिकारियों पर दबाव भी बन सकेगा। धनबाद के सांसद पशुपति नाथ सिंह को ईसीआर के क्षेत्रीय रेल उपभोक्ता सलाहकार समिति यानी जेडआरयूसीसी का सदस्य बनाया गया है। इससे धनबाद और आसपास के लोगों में यह उम्मीद जगी है कि अब उनकी मांगे सांसद के जरिए उचित प्लेटफॉर्म तक पहुंच सकेगी। सांसद प्रतिनिधि मिल्टन पार्थसारथी ने इंटरनेट मीडिया पर इस जानकारी को साझा की है।

दिल्ली की सीधी ट्रेन

धनबाद से दिल्ली के लिए सीधी ट्रेन सेवा की मांग लंबे समय से चली आ रही है। अब तक कोई निर्णय नहीं हुआ है। तकरीबन दो दशक से दिल्ली के लिए सीधी ट्रेन मांगी जा रही है। इसके साथ ही रांची और हटिया से चलने वाली कई ट्रेनों का विस्तार भी धनबाद तक करने का आग्रह वर्षों से चल रहा है। मांगों का पुलिंदा धनबाद से हाजीपुर और हाजीपुर से  दिल्ली तक पहुंचता है और फाइलों में कैद हो जाता है। अब सांसद चाहेंगे तो जेडआरयूसीसी सदस्य के ताैर पर मुख्यालय के अधिकारियों पर दबाव बना सकेंगे।

धनबाद-चंद्रपुरा पैसेंजर

15 जून 2017 को धनबाद-चंद्रपुरा रेल लाइन बंद होने के साथ ही धनबाद-चंद्रपुरा पैसेंजर बंद हो गई। बाद में फरवरी 2019 से धनबाद-चंद्रपुरा रेललाइन फिर से चालू हो गई। ज्यादातर ट्रेनें चलने लगीं। बावजूद धनबाद-चंद्रपुरा पैसेंजर को नहीं चलाया गया। अब मुख्यालय स्तर पर इस ट्रेन को चलाने संबंधी बातचीत आगे बढ़ने की पूरी संभावना है।

धनबाद-गिरिडीह रेललाइन

धनबाद से गिरिडीह के बीच प्रधानखंता, गोविदंपुर और टुंडी होकर नई रेल लाइन बिछाने की योजना कई साल पहले ही बनी थी। इसे लेकर ट्रैफिक सर्वे भी  पूरा हो गया था। गोविंदपुर और टुंडी में रेलवे स्टेशन निर्माण, रेल कर्मचारियों के लिए आवास निर्माण समेत अन्य प्रोजेक्ट तैयार कर लिए गए थे। इस रेल लाइन के बन जाने से न सिर्फ गिरिडीह पहुंचना आसान होता बल्कि गोविंदपुर और टुंडी जैसे प्रखंड को आजादी के बाद पहली बार रेलगाड़ी की आवाज सुनाई देती। पर पिछले तीन बजट में इस परियोजना को जगह नहीं मिली। अब ईसीआर अधिकारियों  से इस हत्वपूर्ण परियोजना पर भी पहल होने की उम्मीद बढ़ गई है।

पहले से जदयू जिलाध्यक्ष पिंटू सिंह जेएडआरयूसीसी सदस्य

धनबाद के सांसद पीएन सिंह के पहले से धनबाद जदयू के ग्रामीण जिलाध्यक्ष पिंटू सिंह जेएडआरयूसीसी सदस्य हैं। वे लगातार धनबाद की मांगों को लेकर आवाज उठाते हैं। लेकिन उनकी मांग को रेलवे के अधिकारी गंभीरता से नहीं लते हैं। अब पीएन सिंह सदस्य बने हैं। झारखंड प्रदेश भाजपा के पूर्व अध्यक्ष पीएन सिंह का राजनीतिक कद बड़ा है। केंद्र में भाजपा की सरकार है। अगर चाहेंगे तो धनबाद को कुछ फायदा जरूर दिलवा सकते हैं। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.