दीवाली पर धनबाद की Fashion Designer Preeti ने सपेरों की बस्ती में भरा रंग, बच्चे-बड़ों का खिल उठा चेहरा

Fashion Designer Preeti Pathak बलियापुर प्रधानखंता के बेदियाटोला (सपेरों की बस्ती) के लोगों के लिए दीपावली का दिन बहुत खास था। यहां के लोगों को नए के साथ डिजाइनर कपड़े पहनने को मिले। फैशन डिजाइनर प्रीति पाठक ने खुद से डिजाइन किया हुआ वस्त्र जरूरतमंदों में निश्शुल्क बांटा।

MritunjaySat, 06 Nov 2021 11:00 AM (IST)
बेदिया टोला के बच्चों के साथ प्रीति पाठक ( फोटो साैजन्य)।

जागरण संवाददाता, धनबाद । बलियापुर प्रधानखंता के बेदियाटोला (सपेरों की बस्ती) के लोगों के लिए दीपावली का दिन बहुत खास था। यहां के लोगों को नए के साथ डिजाइनर कपड़े पहनने को मिले। फैशन डिजाइनर प्रीति पाठक ने खुद से डिजाइन किया हुआ वस्त्र जरूरतमंदों में निश्शुल्क बांटा। प्रीति जगजीवन नगर की रहने वाली हैं और यहां से स्कूली शिक्षा पूरी करने के बाद आइनिफ्ड कोलकाता से फैशन डिजाइनर का कोर्स किया। फिलहाल मुंबई के तुलसी स्टूडियो में फैशन डिजाइनर हैं। इस बार दीपावली के अवसर पर प्रीति ने बेदियाटोला गांव में लगभग 100 लोगों को खुद से डिजाइन किया ड्रेस दिया। इसमें कुर्ता, पायजामा, बंडी, जैकेट, फ्राक, स्कर्ट, क्राप टाप और प्योर काटन साड़ी आदि बांटा। डिजाइनर कपड़े पहन महिलाएं और बच्चे काफी खुश नजर आए। इतना ही नहीं प्रीति ने गांव के लगभग 400 लोगों के लिए दाल खिचड़ी का भी प्रबंधन किया। आयोजन करने में बेंगू ठाकुर, विशाल एवं शिवा ने मदद की। प्रीति ने पिछली दीपावली में भी ऐसा काम किया था।

क्राउड फंडिंग प्लेटफार्म से की मदद

प्रीति ने अपनी पाकेटमनी और क्राउड फंडिंग प्लेटफार्म की मदद से यह काम किया। प्रीति सामाजिक भलाई का यह काम कालिंदी नाम से कर रही हैं। प्रीति ने बताया कि मेरा हुनर सिर्फ मेरे लिए न हो। बहुत से गरीब बच्चों के तन पर आज भी कपड़े नहीं हैं। इनका तन ढंकना है। गांव की ऐसी महिलाएं जो खुद के पैरों पर खड़ी होना चाहती हैं, उन्हें सिलाई-कढ़ाई और लेटेस्ट डिजाइन का निश्शुल्क प्रशिक्षण देने की योजना है। सोचा क्यों न अपने हुनर का सही तरीके से इस्तेमाल कर आर्थिक रूप से कमजोर लोगों की मदद की जाए। शहर में तो सभी कुछ न कुछ लोगों की मदद कर रहे हैं, सोचा गांव का रुख किया जाए।

मां और पिता का मिलता साथ

प्रीति ने धनबाद के आसपास के गांव का दौरा करना शुरू किया और खुद से तैयार डिजाइन कपड़े बांटने लगी। प्रीति के पिता कन्हैया पाठक और मां कालिंदी पाठक सहयोग करते हैं। कार्यक्रम के सफल संचालन में बेंगू ठाकुर, जितेंद्र बेदिया, त्रिभुवन बेदिया, सुनील बेदिया, तुलसी बेदिया, सपन बेदिया ने सहयोग किया।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.