Cyber Fraud ALERT: साइबर अपराध का नया वर्जन-बंद एटीएम कार्ड चालू कराओ, देवघर पुलिस ने 18 को पकड़ा

गिरफ्तार साइबर अपराधियों के साथ देवघर पुलिस अधीक्षक अश्विनी कुमार।
Publish Date:Tue, 20 Oct 2020 03:02 PM (IST) Author: Mritunjay

देवघर, जेएनएन। साइबर अपराधी ठगी के रोज नए-नए वर्जन के साथ सामने आ रहे हैं। जब तक आम लोग ठगी के ताैर-तरीके को समझ पाते हैं साइबर अपराधी नई तरकीब के साथ शुरू हो जाता है। देवघर पुलिस की पड़ताल में ठगी का नया वर्जन सामने आया है। यह है-बंद एटीएम कार्ड को चालू कराने के नाम पर बैंक खाते से पैसा उड़ाना। इस मामले में पुलिस ने 18 साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया है। 

96, 800 रुपये के साथ 18 गिरफ्तार

साइबर अपराधियों के खिलाफ देवघर पुलिस लगातार कार्रवाई कर रही है। रविवार देर रात एसपी अश्विनी कुमार सिन्हा द्वारा गठित टीम ने सारठ थाना क्षेत्र सहित पथरहड्डा और पाथरोल ओपी क्षेत्र के अलग-अलग गांवों में छापेमारी कर 18 साइबर अपराधियों को पकड़ा। उनके पास से 96,800 रुपये, वाहन, सिम कार्ड आदि बरामद हुए। गिरोह के संबंध में एसपी को सूचना मिली थी जिसके बाद दो अलग-अलग छापेमारी दल का गठन किया गया था।

क्या आपका एटीएम कार्ड बंद है

साइबर अपराधी लोगों को ठगने के लिए अलग-अलग तरीके अपना रहे हैं। ये अपराधी बैंक अधिकारी बन लोगों को फोन कर बताते थे कि उनका एटीएम कार्ड बंद हो गया। उसे दोबारा चालू करने के नाम पर खाता से ङ्क्षलक किया गया मोबाइल नंबर और ओटीपी हासिल कर लेते थे। इसके बाद खाते से रकम उड़ा लेते थे। वहीं केवाईसी अपडेट कराने के नाम पर आधार नंबर व ओटीपी ले लेते थे और राशि निकाल लेते थे। ये लोग फोन-पे, पेटीएम मनी रिक्वेस्ट भेज लोगों से ओटीपी प्राप्त कर उन्हें अपना शिकार बनाते थे। गूगल पर कस्टमर केयर अधिकारी के फर्जी फोन नंबर के सहारे भी लोगों को ठगते थे।

बरामद सामान

साइबर अपराधियों के पास से 96, 800 रुपये, एक ऑल्टो कार, एक अपाचे मोटरसाइकिल, 43 मोबाइल फोन, 54 सिम कार्ड, विभिन्न बैंकों के 32 पासबुक, 14 एटीएम कार्ड, एक लैपटॉप, पांच चेकबुक बरामद किए गए।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.