Jharkhand Unlock 6.0: व्यवहारिक नहीं कोचिंग खोलने की शर्तें, संचालक बैठक कर लेंगे निर्णय

18 प्लस से अधिक बच्चों वाले कोचिंग संस्थान सरकार की गाइडलाइन के अनुसार नहीं चल पाएंगे क्योंकि अभी तक बहुत से 18 प्लस वाले युवाओं को वैक्सीन नहीं लग पाई है। ऐसे सभी युवा आइएएस बैंकिंग रेलवे एसएससी की तैयारी करते हैं।

MritunjaySat, 31 Jul 2021 02:07 PM (IST)
कोचिंग क्लास में भाग लेते छात्र ( फाइल फोटो)।

जागरण संवाददाता, धनबाद। 19 महीने बाद अब जाकर पूर्ण रूप से कोचिंग संस्थान खुल गए हैं। कोविड पहली और दूसरी लहर ने कोचिंग संचालकों की कमर तोड़ कर रख दी। जैसे ही सरकार ने आदेश जारी किया कि कोचिंग संस्थान खुल जाएंगे, कोचिंग संचालक जैसे तैयार बैठे थे। शनिवार को शहर के आधे से अधिक कोचिंग संस्थान खुल गए। हालांकि इसमें भी सरकार के निर्देश के अनुसार 18 प्लस से अधिक के छात्रों का वैक्सीनेशन अनिवार्य किया गया है। ऐसे में कोचिंग संचालकों का कहना है कि हमारे यहां ज्यादातर बच्चे आठवीं से लेकर 12वीं तक पढ़ते हैं। इन सबकी उम्र 18 से कम होती है। कोविड-19 नियम का अनुपालन करते हुए हम कक्षाएं शुरू कर रहे हैं। सभी छात्रों के अभिभावकों से एक शपथ पत्र लिया जा रहा है कि बच्चे उनकी मर्जी से भेजे जा रहे हैं। सरकार की गाइडलाइन जो भी होगी, उसका अनुपालन किया जाएगा।

18 प्लस से अधिक बच्चों वाले कोचिंग संस्थान सरकार की गाइडलाइन के अनुसार नहीं चल पाएंगे, क्योंकि अभी तक बहुत से 18 प्लस वाले युवाओं को वैक्सीन नहीं लग पाई है। ऐसे सभी युवा आइएएस, बैंकिंग, रेलवे, एसएससी की तैयारी करते हैं। इनकी तैयारियों वाले कोचिंग संस्थान शहर में लगभग एक दर्जन हैं। कोचिंग खोलने और बेहतर तैयारियों को लेकर कोचिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया की धनबाद इकाई की बैठक रविवार को हाउसिंग कॉलोनी में होगी। इसमें सभी कोचिंग संचालक शामिल होंगे।

संस्थान की साफ सफाई की जा रही है। सोमवार से कोचिंग संचालन शुरू करेंगे। कोविड-19 के नियमों के अनुसार ही कक्षाएं चलेंगी। कुछ छात्र तो 18 से नीचे हैं, बाकी मेडिकल के 18 प्लस वाले छात्रों से वैक्सीनेशन का सर्टिफिकेट मांगा जाएगा। एक साथ ही अभिभावक एक शपथ पत्र भी देंगे।

- संजय आनंद, निदेशक गोल हमको मोड

कोचिंग आज से शुरू कर दी गई है। हमारे यहां अधिकतर बच्चे आठवीं से बारहवीं तक के हैं। बच्चों को कोविड-19 नियमों के अनुसार ही बिठाकर कक्षाएं शुरू की गई। एक बेंच पर एक ही बच्चे को बिठाया जा रहा है। मास्क सभी के लिए अनिवार्य किया गया है। एक क्लास खत्म होने के बाद पूरी क्लास को सैनिटाइज कर रहे हैं। कुछ अभिभावक अपने बच्चों को नहीं भेज रहे हैं, उनके लिए ऑनलाइन क्लास की व्यवस्था की गई है। इसके साथ ही सभी छात्रों के अभिभावकों से शपथ पत्र भी लिया जा रहा है।

- मनोज कुमार सिंह, निदेशक विद्या मंदिर मनोरम नगर

काफी दिनों से संस्थान बंद है। साफ सफाई करवा रहे हैं। सोमवार से कक्षाएं शुरू कर देंगे। शारीरिक दूरी का पूरा पालन किया जाएगा। जहां तक बात 18 प्लस के वैक्सीनेशन की है तो हमारे यहां अधिकतर बच्चे नौवीं से बारहवीं तक के हैं। इनका टीका तो अभी तक आया नहीं है और पढ़ाई भी जरूरी है। इसलिए नियमों का पालन करते हुए कक्षाएं शुरू करेंगे। अब अगर नहीं शुरू करेंगे तो पूरी व्यवस्था ध्वस्त हो जाएगी।

- मनोज कुमार तिवारी, निदेशक सर्किल आइआइटी सरायढेला-बैंक मोड़

कुछ कक्षाएं आज से शुरू कर दी गई हैं। कुछ कक्षाएं सोमवार से शुरू होंगी। कोविड-19 का पूरा पालन किया जा रहा है। कोचिंग में आने वाले अधिकतर बच्चे 18 से नीचे ही हैं। ऐसे में इनका वैक्सीनेशन का तो सवाल ही नहीं है। फिर भी हम लोग का अभिभावकों से एक शपथ पत्र ले रहे हैं। इसके अलावा सैनिटाइजर, शारीरिक दूरी और मास्क का पूरा ख्याल रख रहे हैं।

- जितेश श्रीवास्तव, संचालक श्रीवास्तव क्लासेस बेकारबांध

कोचिंग से शुरू कर दिया गया है। 18-19 महीने हो गए व्यवस्था पूरी चरमरा गई है। अब नहीं खोलते तो बहुत दिक्कत हो जाती है। 18 वर्ष से नीचे आने वाले सभी बच्चों के लिए विशेष व्यवस्था की गई है। शारीरिक दूरी का पूरा पालन किया जा रहा है और मास्क सबके लिए अनिवार्य किया गया है। कक्षा खत्म होने के बाद रूम को सैनिटाइज किया जा रहा है।

- विकास तिवारी, करियर डॉट कॉम हाउसिंग कॉलोनी

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.