Indian Railways: रात दस से सुबह छह तक रेल यात्रियों को नहीं जगा सकते चेकिंग स्टाफ, जानिए नियम

टिकट चेकिंग स्टाफ आरक्षित श्रेणी में टिकटों की जांच सुबह 600 बजे से रात 1000 बजे तक कर सकते हैं। रात 1000 बजे के बाद अगर आरक्षित श्रेणी में कोई अनधिकृत यात्री प्रवेश कर जाता है तो टिकटों की जांच कर सकते हैं।

MritunjayTue, 30 Nov 2021 07:47 AM (IST)
टिकटों की जांच करती चेकिंग स्टाफ ( फाइल फोटो)।

जागरण संवाददाता,धनबाद। दक्षिण भारत से धनबाद आ रही अलेप्पी एक्सप्रेस में सफर कर रहे सचिन तिवारी को देर रात टिकट चेकिंग के नाम पर टीटीई ने जगा दिया। अलेप्पी एक्सप्रेस ऐसी ट्रेन है जिसमें बड़ी संख्या में सफर करने वाले यात्री मरीज होते हैं। रात के 2:35 बजे टिकट चेकिंग के नाम पर यात्रियों को जगाया गया। नींद में खलल से नाराज सचिन ने रेल मंत्री से डीआरएम तक को ट्वीट कर मामले की शिकायत की। लिखा इतनी रात में टिकट चेकिंग के नाम पर यात्रियों को नींद से जगाना उन्हें परेशान करना हुआ। सचिन की तरह दूसरे यात्री भी होंगे जिन्हें सफर के दौरान ऐसी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। पर क्या आप जानते हैं कि अगर आपके साथ भी ऐसा हुआ है तो यह गलत है। क्योंकि देर रात आरक्षित कोच में टिकट चेकिंग के नाम पर यात्रियों को जगाना नियम विरुद्ध है।

क्या है नियम

रेल मंत्रालय ने रात में यात्रियों के टिकट जांच को लेकर जो नियम लागू किए हैं, उसके मुताबिक टिकट चेकिंग स्टाफ रात 10:00 बजे से सुबह 6:00 बजे तक आरक्षित श्रेणी के यात्रियों को जिनके टिकट पहले ही जांच की जा चुकी है उन्हें बिना किसी वैध कारण के नहीं जगायेंगे। टिकट चेकिंग स्टाफ आरक्षित श्रेणी में टिकटों की जांच सुबह 6:00 बजे से रात 10:00 बजे तक कर सकते हैं। रात 10:00 बजे के बाद अगर आरक्षित श्रेणी में कोई अनधिकृत यात्री प्रवेश कर जाता है तो टिकटों की जांच कर सकते हैं। हालांकि इस दौरान भी यह देखा जाएगा कि यात्रियों को अनावश्यक रूप से परेशानी ना हो। विजिलेंस विभाग को किसी तरह का संदेह होने पर रात 10:00 से 6:00 के बीच आरक्षित कोच में टिकट जांच की जा सकती है। जांच के दौरान यह ख्याल भी रखना होगा कि इससे यात्रियों को अनावश्यक परेशानी ना हो।

किनकी हो सकती जांच

रात 10:00 से 6:00 के दौरान टिकट चेकिंग स्टाफ उन यात्रियों के टिकट जांच कर सकते हैं जिनकी ट्रेन रात 10:00 बजे या उसके बाद प्रस्थान करती है। ऐसे यात्रियों की भी जांच की जा सकती है जिनकी यात्रा रात 10:00 से 6:00 के बीच की है। या फिर उन यात्रियों के टिकट जांच भी की जा सकती है जिनकी ट्रेन में सवार होने के बाद जांच न की गई हो।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.