अन्नदाता के समर्थन में ऑनलाइन धरना, भाजपा ने हेमंत सरकार को बताया किसान विरोधी

धनबाद भाजपा के मीडिया प्रभारी मिल्टन पार्थसारथी।

बाघमारा विधायक ढुलू महतो पूरे परिवार के साथ आवासीय कार्यालय में वर्चुअल धरना पर बैठे। उन्होंने कृषि आशीर्वाद योजना का विरोध किया। कहा कि किसान से धान खरीद के महीनों गुजर गए अभी तक उनका भुगतान नहीं किया गया। वे आर्थिक संकट से गुजर रहे हैं।

MritunjayTue, 18 May 2021 10:36 AM (IST)

धनबाद, जेएनएन। किसानों को धान की कीमत का भुगतान अभी तक नहीं किए जाने के विरुद्ध भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने मंगलवार को वर्चुअल धरना दिया। धरना में सांसद पीएन सिंह ने कहा कि भाजपा के दबाव पर ही पिछले वर्ष सरकार ने धान की खरीद शुरू की। हालांकि उसके कांग्रेसी वित्त मंत्री ने मात्र आठ दिन बाद उसे रुकवा दिया। अभी तक उसका भुगतान भी नहीं किया गया है। इससे साबित हो गया है कि हेमंत सरकार किसान विरोधी है।विधायक राज सिन्हा ने कहा कि राज्य सरकार का वित्तीय प्रबंधन पूरी तरह फेल हो चुका है। बरही के विधायक को पत्र लिख कर उनका बकाया पेंशन की राशि व धान की कीमत मांगनी पड़ रही है। इससे अधिक दुर्भाग्य की बात क्या होगी। वहीं दूसरी तरफ मोदी सरकार ने लगातार आठवीं बार किसान सम्मान निधि का भुगतान किसान के खाते में किया है। इससे राज्य के 2.5 लाख किसान लाभान्वित हुए हैं।

महानगर अध्यक्ष चंद्रशेखर सिंह ने कहा कि सरकार ने पहले ही किसानों के कुल फसल का मात्र 20 फीसद खरीदा। घोषणा की कि वह न्यूनतम समर्थन मूल्य पर धान की खरीद करेगी। फिर कच्चा धान बताकर 40 किलो पर दो किलो अधिक धान लिया ताकि सूखने से सरकार को नुकसान न हो। अब वह उसका भी पैसा जारी नहीं कर रही है। वहीं लॉकडाउन के कारण किसान हलकान हैं। यह राज्य सरकार की किसानों के प्रति संवेदनहीनता को दर्शाता है। सरकार किसानों को धान के मूल्य का भुगतान अविलंब करे।भाजपा नेत्री श्रीमती रागिनी सिंह ने कहा कि किसानों को सिर्फ राजनीतिक खिलौना ना बनाए झारखंड सरकार। किसानों के साथ झूठे वादे कर हेमंत सरकार सत्ता पर काबिज हुई। उन्हें धान की राशि और खेती के लिए बीज, खाद अविलंब दिया जाए।धरना देने वालों में पूर्व जिला अध्यक्ष सत्येंद्र कुमार, महामंत्री नितिन भट्ट, उपाध्यक्ष मानस प्रसून, संजय झा, उमेश यादव, मिल्टन पार्थसारथी, महेश पासवान, रुपेश सिन्हा, अमलेश सिंह, रमा सिन्हा, किरण सिंह, संतोषी आनंद, अभिषेक पांडे, शेखर सिंह, स्वरूप भट्टाचार्य, चुन्ना सिंह, पंकज सिन्हा, राजकिशोर जेना, राजकुमार मंडल, तेज बहादुर सिंह, आयुष झा, रणविजय सिंह, मौसम सिंह, शीशराम रावत, सौरभ मिश्रा, मनोज रिंकू सिन्हा, अजय निषाद, शिवेंद्र सिंह, अभिषेक सिंह, टुन्ना सिंह, बिरजू, अनिल शर्मा सहित अन्य थे।

सपरिवार धरना पर बैठे ढुलू

ढुलू महतो पूरे परिवार के साथ आवासीय कार्यालय में वर्चुअल धरना पर बैठे। उन्होंने कृषि आशीर्वाद योजना का विरोध किया। कहा कि किसान से धान खरीद के महीनों गुजर गए अभी तक उनका भुगतान नहीं किया गया। वे आर्थिक संकट से गुजर रहे हैं। हेमंत सरकार पूरी तरह असंवेदनशील हो चुकी है। ढुलू ने कहा कि किसानों पर अत्याचार भाजपा सहन नहीं करेगी। जल्द से जल्द उनका भुगतान किया जाए और अगली फसल के लिए खाद-बीज का भी प्रबंध किया जाए।किसान मोर्चा ने भी किया सत्याग्रह :प्रदेश नेतृत्व की अपील पर भाजपा किसान मोर्चा के ग्रामीण जिला अध्यक्ष राजेश चौधरी भी सत्याग्रह पर बैठे। अपने घर के बाहर उन्होंने धरना देते हुए कहा कि हेमंत सरकार शुरू से किसान विरोधी रही है। इसने 90 फीसद सब्सिडी पर किसानों को खाद-बीज की योजना बंद की। कृषि आशीर्वाद योजना बंद की और अब धान की कीमत भी नहीं दे रही। भाजपा इसे बर्दाश्त नहीं करेगी। भाजपा ग्रामीण के जिलाध्यक्ष ज्ञान रंजन सिन्हा, विक्रांत उपाध्याय, खगेंद्र चौधरी, राजेश सिंह, उत्तम मंडल, लखन महतो ने अपने-अपने घर धरना दिया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.