बनल रहो नइहरवा ए मइया, आ बनल रहो ससुरवा... निरसा में मां भगवती जागरण में Nisha Upadhyay की गीत पर रातभर झूमे श्रोता

भोजपुरी गायिका निशा उपाध्याय ने कहा कि बचपन से ही भजन गा रही हूं। 10 साल से देश के लगभग सभी हिस्सों में जाकर भजन व भक्ति जागरण कार्यक्रम में शामिल हो चुकी हूं। भजन गाने से आत्म को संतुष्टि मिलती है परंतु मेरा लक्ष्य पार्श्व गायिका बनाना है।

MritunjaySun, 07 Nov 2021 03:05 PM (IST)
निरसा की राजा कोलियरी में भगवती जागरण में प्रस्तुति देतीं निशा उपाध्याय ( फोटो जागरण)।

संस, निरसा। राजा कोलियरी दुर्गा पूजा व काली पूजा समिति की ओर से शनिवार की रात कोलियरी मैदान में भगवती जागरण का आयोजन किया गया। इसमें प्रसिद्ध भजन गायिका निशा उपाध्याय ने एक से बढ़कर एक भक्ति गीत गाकर श्रोताओं को भक्ति सागर में हिलोरे लेने के लिए मजबूर कर दिया। बनल रहो नइहरवा ए मइया, आ बनल रहो ससुरवा... गीत पर श्रोता अपने को झूमने से नहीं रोक सके। इसका शुभारंभ मुख्य अतिथि ईसीएल मुगमा क्षेत्र के महाप्रबंधक बीसी सिंह व विशिष्ट अतिथि पूर्व विधायक अरूप चटर्जी ने अखंड ज्योत प्रज्वलित कर किया।

बोकारो से आए कलाकार सरोज सिंह लक्खा ने घर में पधारो गजानंद जी, तेरे दरबार में मैया जी खुशी मिलती है, तेरा हो रहा जगराता माता आदि भजन गायक दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। इसके बाद धनबाद से आई कलाकार इंदू शर्मा ने बांग्ला भजन मां आमरा साधना, जय काली जय काली जय काली मां व छठ मैया के गीत गाकर श्रोताओं को भक्ति सागर में डुबकी लगाने को मजबूर कर दिया। अंत में आई प्रसिद्ध भजन गायिका निशा उपाध्याय ने प्यारा सजा है दरबार भवानी, भक्तों की लगी है कतार भवानी, लहर लहर लहराए रे मेरी मां की चुनरिया, मैया है मेरा शेरोवाली, सत्यम शिवम सुंदरम, गाड़ी लेकर बढ़िया से जइह हो मोर ड्राइवर सजनवा आदि एक से बढ़कर एक भजन प्रस्तुत कर माहौल को पूरी तरह भक्तिमय बना दिया। इस अवसर पर सभी कलाकारों को बीसी सिंह, पूर्व विधायक अरूप चटर्जी व लालू ओझा ने मां का चुनरी व शाल भेंट कर सम्मानित किया। आयोजन को सफल बनाने में राजा कोलियरी दुर्गा पूजा व काली पूजा कमिटी के सदस्यों की भूमिका रही।

पार्श्व गायिका बनाना लक्ष्य : निशा उपाध्याय

प्रसिद्ध भोजपुरी भजन गायिका निशा उपाध्याय ने कहा कि बचपन से ही भजन गा रही हूं। 10 साल से देश के लगभग सभी हिस्सों में जाकर भजन व भक्ति जागरण कार्यक्रम में शामिल हो चुकी हूं। भजन गाने से आत्म को संतुष्टि मिलती है, परंतु मेरा लक्ष्य पार्श्व गायिका बनाना है ताकि सभी तरह के गीत एवं संगीत गायन में मेरी पहचान बने। कहा कि वह भारत के अलावे दुबई व मारीशस में भी भक्ति जागरण का कार्यक्रम प्रस्तुत कर चुकी हैं। विदेशों में भी भोजपुरी को पसंद करने वाले काफी संख्या में लोग हैं। कई भोजपुरी फिल्मों में बातौर पार्श्व गायिका गीत गा चुकी हूं। भविष्य में हिंदी फिल्मों में भी अपनी आवाज में गीत गाना चाहती हूं। इस पर कई संगीतकारों से बातचीत चल रही है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.