top menutop menutop menu

घर बचाने के लिए प्रबंधन की हर कार्रवाई का करेंगे विरोध

घर बचाने के लिए प्रबंधन की हर कार्रवाई का करेंगे विरोध
Publish Date:Thu, 13 Aug 2020 08:42 PM (IST) Author: Jagran

अलकडीहा, झरिया : लोदना क्षेत्र के अग्नि व भूधंसान क्षेत्र में रह रहे लोगों को एकीकृत जयरामपुर कोलियरी प्रबंधन ने जबसे इलाका खाली करने का नोटिस जारी किया है तबसे लोगों में प्रबंधन के खिलाफ जबरदस्त आक्रोश है। लोगों ने कहा है कि घर को बचाने के लिए प्रबंधन की हर कार्रवाई का जमकर विरोध करेंगे। प्रबंधन पहले जेआरडीए के माध्यम से रोजगार के साथ सुरक्षित स्थान दें। तभी यहां का घर खाली करेंगे। लोदना के जीएम जीडी निगम के निर्देश पर जयरामपुर कोलियरी प्रबंधन ने पिछले दिनों अग्नि व भूधंसान प्रभावित जयरामपुर, भागा दो नंबर, बरारी, शराफतपुर, बागडिगी बस्ती आदि इलाकों को बरसात के दौरान खतरा बताते हुए नोटिस जारी किया है। इससे दशकों से इलाकों में रह रहे हजारों परिवार में हड़कंप मचा हुआ है। लोगों ने क्षेत्रीय प्रबंधन पर आरोप लगाया कि कोयला उत्पादन के लिए क्षेत्र को जमीनी आग और भूधंसान क्षेत्र होने से जानमाल का खतरा बताकर लोगों को बेघर करने में लगा है। साजिश के तहत आग भड़काकर लोगों में दहशत पैदा कर रहा है। बिना सुविधा के जबरन विस्थापित करने में लगा है। अपना आशियाना किसी कीमत पर नहीं छोड़ेंगे।

..

जयरामपुर क्षेत्र आग व भू-धंसान से उतना प्रभावित नहीं है। लेकिन प्रबंधन आउटसोर्सिंग परियोजना चालू करने के लिए अग्नि क्षेत्र का हवाला देकर इलाका खाली कराना चाहता है।।

- मोहन पांडेय, जयरामपुर।

..

बरारी के इलाका में लगभग 20 हजार लोग देश आजाद होने के पहले से रहते आ रहे हैं। यहां के लोगों की जीविका के अपने-अपने साधन हैं। क्षेत्र में जानबूझकर जमीनी आग को भड़काया जा रहा है ।

- मो. आजाद इराकी, बरारी।

..

प्रबंधन ने बरारी क्षेत्र में शराफतपुर और बागडिगी के बीच आउटसोर्सिंग परियोजना चलाकर कोयला निकासी कर छोड़ दिया है। ताकि मुहल्ला की ओर जमीनी आग का फैलाव हो सके। घर खाली नहीं करेंगे।

- मो. राजा राइन, शराफतपुर।

..

प्रबंधन खतरों से अगाह सिर्फ खानापूर्ति के लिए करता है। अग्नि प्रभावित क्षेत्र में समय पार बालू, मिट्टी की भराई होता रहे तो भू-धंसान के खतरा को टाला जा सकता है। प्रबंधन गंभीर नहीं है।

- बलराम मिस्त्री, भागा दो नंबर।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.