Dhanbad: धनबाद की सड़कों पर ऑटो के कारण आए द‍िन लग रहे जाम, राहगीर परेशान

शहर को जाम से मुक्त करने के जिस मकसद से बसों व भारी वाहनों का रूट क्या बदला सड़कों पर आटो राज कायम हो गया। स्टेशन रोड से लेकर श्रमिक चौक तक आटो बेलगाम हो गए हैं। गया पुल पर लगने वाला जाम इस बात की गवाही दे रहा है।

Atul SinghMon, 13 Sep 2021 04:34 PM (IST)
श्रमिक चौक और गया पुल पर लगने वाला जाम इस बात की गवाही दे रहा है। (अम‍ित स‍िन्‍हा)

जागरण संवाददाता, धनबाद: शहर को जाम से मुक्त करने के जिस मकसद से बसों व भारी वाहनों का रूट क्या बदला सड़कों पर आटो राज कायम हो गया। स्टेशन रोड से लेकर श्रमिक चौक तक आटो बेलगाम हो गए हैं। श्रमिक चौक और गया पुल पर लगने वाला जाम इस बात की गवाही दे रहा है। शहर में आटो की संख्या को सीमित किया जाना है। उसके पूर्व करीब 2400 आटो को शहर के विभिन्न रूटों पर चलने की इजाजत दी गई। बावजूद इसके शहर में अब जाम की सबसे अहम कड़ी आटो साबित हो रहे हैं। दरअसल आटो की संख्या को कम करते हुए शहर में चलने की इजाजत तो दे गई उसको मॉनिटर करने वाले अधिकारी सड़क पर नहीं उतरे।

आटो के आतंक से पैदल चलना भी मुश्किल

स्टेशन रोड की स्थिति अब यह हाे गई है कि वहां आटो के आतंक की वजह से पैदल चलना भी दुश्वार हो गय है। स्टेशन रोड से लेकर श्रमिक चौक तक पूरी सड़क पर चार-चार आटो बीच सड़क पर ही यात्रियों को चढ़ा रहे हैं। सड़क पर एक साथ इतने आटो होने की वजह से कार और बाइक तो क्या, पैदल चलना भी मुश्किल हो गया है। दरअसल स्टेशन रोड से बस पड़ाव हटाने के बाद यात्रियों को बरटांड़ बस स्टैंड पहुंचाने के लिए आटो चालकों में होड़ मची थी। जैसे ही कोई ट्रेन आती है उतरने वाले यात्रियों को अपने आटो में बैठाने के लिए मारामारी शुरू हो जाती है। इतनी अव्यवस्था के बावजूद वहां न तो कोई ट्रैफिक पुलिस और न ही स्थानीय थाने की पुलिस नजर आती है। यह हाल केवल स्टेशन और श्रमिक चौक का नहीं बल्कि बरटांड़ बस स्टैंड के हालात भी इस तरह है। सड़कों पर खड़े आटो जाम का कारण बन रहे हैं। उन्हें न तो आम लोगों की परेशानी से मतलब है और न हीं प्रशासन का डर।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.