top menutop menutop menu

कानून से हटकर सत्ता पक्ष के इशारे पर काम नहीं करे प्रशासन : बाबूलाल

कतरास: सत्तापक्ष के इशारे पर प्रशासन विधायक ढुलू महतो व उनके परिवार के सदस्यों को परेशान कर रही है। धनबाद जिले के पुलिस पदाधिकारी कानून से हटकर सत्ता में बैठे लोगों के इशारे पर अगर इसी तरह से काम किया तो पूरी भाजपा सड़क पर उतरकर आंदोलन करेगी। आंदोलन की शुरुआत धनबाद की धरती से होगी। इसके बाद सरकार चलाना मुश्किल हो जाएगा। यह बातें झारखंड भाजपा प्रतिपक्ष के नेता बाबूलाल मरांडी ने कही। वे गुरुवार को बाघमारा विधायक ढुलू महतो के चिटाही स्थित घर पर पत्रकारों को संबोधित कर रहे थे। बाबूलाल के साथ प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश, महामंत्री प्रदीप वर्मा, संगठन महामंत्री धर्मपाल, दीपक वर्मा सहित भाजपा के कई नेता आए, जो विधायक ढुलू की पत्नी सावित्री देवी, बड़े भाई शत्रुघ्न महतो, मां व परिवार के अन्य सदस्यों से मिले और उनके दुख तकलीफ से अवगत हुए। बाबूलाल ने सत्तापक्ष को आड़े हाथों लेते हुए कि कहा कि जो लोग सोच रहे हैं कि ढुलू को परेशान करेंगे तो वे सफल हो जाएंगे तो यह उनकी भूल है। वैसे सोच वाले लोग कभी अपने मकसद में कामयाब नहीं होंगे। पूरी भाजपा ढुलू के साथ है। अदालत पर पूरा भरोसा है कि ढुलू को इंसाफ मिलेगा। ढुलू ने झूठे मुकदमे की जांच कराने की मांग सरकार, सीबीआई सहित अन्य एजेंसियों से कई बार की है, मगर सरकार की मंशा साफ नहीं रही। रात के अंधेरे में ढुलू के आवास में प्रशासन पहुंचकर उनके पूरे परिवार को परेशान किया गया। यह न्याय संगत नहीं था। एक जनप्रतिनिधि के साथ उग्रवादी व आंतकवादी जैसा व्यवहार करना ठीक नहीं है। प्रशासन को न्याय के साथ काम करना चाहिए था। अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने कहा कि सत्ता परिवर्तन के बाद सरकार के इशारे पर विधायक ढुलू के साथ सरकारी नुमाइंदे कपटपूर्ण व्यवहार कर रहे हैं। ढुलू व उनके परिवार के लोगों के अलावा भाजपा कार्यकर्ताओं को परेशान किया जा रहा है। ऐसा प्रतीत हो रहा है कि प्रशासनिक पदाधिकारी राजनीतिक दल के कार्यकर्ता के रूप में कार्य कर रहे हैं। उन्होंने चेतावनी भरे शब्दों में कहा कि प्रशासनिक अधिकारी सरकार का कठपुतली बनकर काम नहीं करे। इस दौरान बाबूलाल एवं दीपक प्रकाश को रामराज्य मंदिर को मोमेंटो भेंट किया। साथ ही डॉ. मृणाल द्वारा रचित 1857 का सिपाही विद्रोह नामक पुस्तक अतिथियों को भेंट किया गया। मौके पर जिलाध्यक्ष चंद्रशेखर ¨सह, भाजपा नेत्री रागनी ¨सह, विधायक अपर्णा सेनगुप्ता, विधायक बिरंची नारायण, संतोष झा, प्रभात मिश्र, राकेश ¨सह, बच्चू राय, धनेश्वर महतो, गौरचंद बाउरी, ¨प्रस शर्मा, सूरजदेव मिश्र, प्रकाश नोनियां, महेश पासवान, गीता ¨सह, सपना देवी, अशोक मिश्र, विजय मिश्र, डबलू महथा, धर्मेंद्र गुप्ता, श्याम किशोर कल्लू, मुकेश झा आदि मौजूद थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.