दो पड़ोसियों के बीच मारपीट में बुझ गया घर का इकलाैता चिराग Dhanbad News

निरसा का धीरेन भुइयां ( फाइल फोटो)।

मृतक की बहन ने बताया कि हम चार बहनें हैं। धीरेन हम लोगों का इकलौता भाई था। जिसे लल्लन एवं उसके परिजनों ने बर्बरता पूर्वक हत्या कर दी। अब हम लोग किसे राखी बांधेंगे। यह कहकर उसकी बहन फूट-फूट कर रोने लगी

MritunjaySat, 17 Apr 2021 11:53 AM (IST)

निरसा, जेएनएन। निरसा थाना अंतर्गत बिरला ढाल गेस्ट हाउस भुइयां धौड़ा में  दो पड़ोसियों के बीच बीते दिनों हुई मारपीट की घटना में घायल 16 वर्षीय धीरन भुइयां की मौत शनिवार की अहले सुबह रांची में इलाज के दौरान हो गई। घटना से आक्रोशित मृतक के स्वजनों ने जमकर हंगामा मचाया। घटना की जानकारी पाकर निरसा पुलिस पहुंची और मारपीट करने वाले दूसरे पक्ष के ललन भुइंया, उसकी पत्नी पूजा देवी व बेटी गुंजा कुमारी को निरसा थाना लाकर पूछताछ कर रही है। दूसरी और मृतक धीरन के स्वजनों का रो रोकर बुरा हाल है। मृतक की बहन बबीता कुमारी ने पुलिस की कार्यप्रणाली पर गंभीर सवाल उठाए। घटना के बाद भुइयां धौड़ा के लोगों में  आरोपियों के प्रति आक्रोश व्याप्त है। मृतक का शव अभी रांची से नहीं आया है।

घटना के संबंध में जानकारी देते हुए मृतक धीरन की बहन बबीता ने बताया कि  पड़ोसी लल्लन भुइया प्रतिदिन शराब पीकर हमारे घर के लोगों के साथ गाली गलौज करता था। 12 अप्रैल की रात 9:30 बजे लल्लन शराब पीकर उनलोगों के साथ गाली गलौज कर रहा था। मेरे पिताजी रामचरित्र भुइयां घर पर नहीं थे। हम सभी लोग अपने घर में घुस गए। इसी बीच मौका पाकर लल्लन  घर से मेरे भाई को खींच कर अपने घर ले गया  और अपने घर में लोहे के रेड व शब्बल से मेरे भाई की बुरी तरह पिटाई की  जिसके कारण उसके सिर एवं पेट में गंभीर चोटें आई। और तो और  भाई की पिटाई कर लल्लन स्वयं थाना चला गया तथा पुलिस से शिकायत की कि हम लोग ने उसके साथ मारपीट की है। पुलिस आई और मेरे भाई के लहूलुहान देखने के बावजूद  उल्टा हम लोगों को ही डांट फटकार कर चली गई। बाद में  पिताजी आए तथा हम लोगों ने स्थानीय चिकित्सक से उसका इलाज करवाया। परंतु उसकी स्थिति बिगड़ती जा रही थी 13 अप्रैल की संध्या एंबुलेंस से उसे इलाज के लिए एसएनएमएमसीएच मैं भर्ती कराया जहां चिकित्सकों ने उसकी गंभीर स्थिति को देखते हुए उसे रिम्स रांची रेफर कर दिया।  रांची में इलाज के दौरान शनिवार की अहले सुबह उसकी मौत हो गई।  पुलिस ने उस वक्त तत्परता दिखाई होती तो आज मेरा भाई जिंदा रहता। मेरे भाई की मौत के बाद आज सुबह पुलिस आरोपियों को पकड़कर निरसा थाना ले गई है। क्या अब मेरा भाई जिंदा हो जाएगा।

घर का इकलौता चिराग था धीरन

मृतक की बहन ने बताया कि हम चार बहनें हैं। धीरे हम लोगों का इकलौता भाई था। जिसे लल्लन एवं उसके परिजनों ने बर्बरता पूर्वक हत्या कर दी। अब हम लोग इसे राखी बांध देंगे यह कहकर उसकी बहन ने फूट-फूट कर रोने लगी। मृतक की मां रो रो कर बुरा हाल है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.