Coronavirus Bad Effect: धनबाद में 75,607 बच्चों ने छोड़ दिया स्कूल

जिले में स्कूल छोडऩे वालों में सबसे ज्यादा छह से दस आयुवर्ग के बच्चे शामिल हैं। जिले में इस आयुवर्ग के 40873 यानी 54.06 फीसद बच्चों ने स्कूल छोड़ दिया है। इनमें 20202 छात्र व 20671 छात्राएं शामिल है। इस मामले में गोविंदपुर प्रखंड सबसे आगे हैं।

MritunjayMon, 05 Jul 2021 11:57 AM (IST)
कोरोना के कारण बड़ी संख्या में बच्चों ने स्कूल छोड़ा ( सांकेतिक फोटो)।

जासं,धनबाद : कोरोना संक्रमण के कारण स्कूल पिछले 16 महीने से बंद हैं। स्कूलों में आनलाइन क्लास के जरिए पढ़ाई हो रही है। लेकिन सरकारी स्कूलों के हजारों बच्चे आनलाइन पढ़ाई नहीं कर पा रहे हैं, लिहाजा इन बच्चों ने स्कूल में नामांकन ही नहीं लिया। जिला शिक्षा विभाग ने हाल ही में प्रखंडवार ऐसे बच्चों का डाटा तैयार किया है। इसके अनुसार, जिले के 75,607 बच्चों ने स्कूल छोड़ दिया है यानी वे ड्रापआउट हो गए हैं। इनमें लड़कों की संख्या 38,101 व लड़कियों की संख्या 37,506 है। प्रखंडों की बात करें तो निरसा में सबसे ज्यादा 13,867 और पूर्वी टुंडी में सबसे कम 2,993 बच्चोंं ने स्कूल छोड़ा है। विभाग अब फिर से इन बच्चों को स्कूंल से जोडऩे की कवायद में लगा है और इसके लिए विशेष प्रशिक्षण केंद्र खोलने की तैयारी कर रहा है।

जिले में छह से दस आयुवर्ग के ज्यादातर बच्चे हुए स्कूल से दूर

जिले में स्कूल छोडऩे वालों में सबसे ज्यादा छह से दस आयुवर्ग के बच्चे शामिल हैं। जिले में इस आयुवर्ग के 40,873 यानी 54.06 फीसद बच्चों ने स्कूल छोड़ दिया है। इनमें 20,202 छात्र व 20,671 छात्राएं शामिल है। इस मामले में गोविंदपुर प्रखंड सबसे आगे हैं। यहां इस आयुवर्ग के 7,147 बच्चों ने स्कूल से अपना नाम कटवा लिया है। वहीं सबसे कम स्कूल छोडऩेवालों में 16 से 18 आयुवर्ग के बच्चे हैं। इस आयुवर्ग के 1,008 बच्चों ने स्कूल छोड़ा है।

नंबर गेम

38,101 लड़कों ने फिर से नामांकन नहीं लिया

37,506 लड़कियों ने कोरोना काल में छोड़ा स्कूल

13,867 निरसा प्रखंड के बच्चोंं ने छोड़ा स्कूल, जिले में सबसे ज्यादा यहीं

2,993 पूर्वी टुंडी में बच्चों ने नहीं लिया नामांकन, जिले में सबसे कम यहीं

40,873 छह से लेकर 10 वर्ष तक के बच्चोंं ने छोड़ा स्कूल, सबसे ज्यादा इसी आयु वर्ग के

1,008 सोलह से लेकर 18 वर्ष के छात्र-छात्राओं ने नहीं लिया नामांकन, जिले में सबसे कम यहीं

पाई चार्ट

50.4 फीसद लड़कों की भागीदारी

49.6 फीसद लड़कियों की भागीदारी

अलग से पाई चार्ट

18.34 फीसद निरसा में है ड्रापआउट बच्चों की संख्या

3.96 फीसद पू. टुंडी प्रखंड के बच्चे स्कूल से दूर

9.75 फीसद धनबाद प्रखंड के बच्चों ने नहीं लिया नामांकन

किस प्रखंड के कितने बच्चों ने छोड़ा स्कूल

बाघमारा - 12,373

बलियापुर - 5,719

धनबाद - 7,370

गोविंदपुर - 12,891

झरिया - 7,190

निरसा - 13,867

तोपचांची - 6,397

टुंडी - 6,807

पू: टुंडी - 2,993

नोट - निरसा प्रखंड में ही अभी एग्यारकुंड व कलियासोल प्रखंड को जोड़ा गया है।

किस प्रखंड में कितने लड़के और लड़कियों ने छोड़ा स्कूाल

प्रखंड - लड़के - लड़कियां

बाघमारा - 6,234 - 6,139

बलियापुर - 2,958 - 2,761

धनबाद - 3,699 - 3,671

गोविंदपुर - 6,493 - 6,398

झरिया - 3,616 - 3,574

निरसा - 6,955 - 6,912

तोपचांची - 3,280 - 3,117

टुंडी - 3,393 - 3,414

पू. टुंडी - 1473 - 1,520

विभिन्नु प्रखंडों में विभिन्न आयु वर्ग के ड्रापआउट बच्चों की संख्या

आयुवर्ग - बच्चों की संख्या - फीसद

3 से 5 वर्ष - 1,414 - 1.87 फीसद

6 से 10 वर्ष - 40,873 - 54.06 फीसद

11 से 13 वर्ष - 24,955 - 33.01 फीसद

14 से 15 वर्ष - 7,357 - 9.73 फीसद

16 से 18 वर्ष - 1,008 - 1.33 फीसद

यह जरूरत पडऩे पर किया जाएगा इस्तेमाल

इन्हेंं भी जानें, जिले में कितने बच्चेे कभी गए ही नहीं स्कूल

6,554 बच्चे ऐसे जिले में जिन्होंने अभी तक स्कूलों में नहीं लिया नामांकन

3,376 लड़के जिन्होंने नहीं लिया नामांकन

3,178 लड़कियां कभी नहीं गई स्कू ल

1,152 बच्चे निरसा प्रखंड के जो कभी स्कूल ही नहीं गए

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.