top menutop menutop menu

तेलमच्चो में जलापूर्ति ठप होने से 15 हजार लोगों में हाहाकार, उद्घाटन के बाद से लोगों को सही से नहीं मिल रहा पानी Dhanbad News

धनबाद, जेएनएन। 14 करोड़ की लागत से बनी तेलमच्चो जलापूर्ति योजना पीएचईडी विभाग व संवेदक की लापरवाही के कारण पिछले एक माह से बंद है। परिणामस्वरूप तीन पंचायत की करीब 15 हजार आबादी जलसंकट से जूझ रही हैं। लोहपिट्टी पंचायत के पांच टोला लोहपिट्टी, काशीटांड़, वामनगोड़ा, जमडीहा, अंधारी, तेलमच्चो पंचायत के चार गांव तेलमच्चो, कुंजी, नुतनडीह, लाहरबेड़ा तथा कांड्रा पंचायत के तीन गांव कांड्रा, कल्याणपुर तथा सीमाटांड़ में जलसंकट गहरा गया है। ग्रामीणों को तालाब या फिर दामोदर नदी से पानी लाकर प्यास बुझानी पड़ रही है। 

बताया जाता है कि इंटक बेल नदी से काफी ऊपर बना हुआ है। इस कारण पानी वहां तक नहीं पहुंच पा रहा है। नाला बनाकर अगर किसी तरह पानी पहुंच भी जाए तो कमजोर मोटर लगाने के कारण पानी ही ऊपर नहीं चढ़ पाता है। 2017 में इस जलापूर्ति योजना का उद्घाटन किया गया था। मगर ग्रामीणों को कभी भी सही तरीके से पानी नहीं मिला है। विभागीय अधिकारियों की अनदेखी के चलते यह समस्या बनी हुई है। कई गांवों में पाइप भी नहीं बिछाया गया है। अगर कहीं पाइप पहुंचा भी है तो उसका कनेक्शन नहीं दिया जा रहा है।

क्या कहते हैं अधिकारी व मुखिया :

कनेक्शन नहीं देने के बारे में कई बार वरीय पदाधिकारियों को अवगत करा चुका हूं। लेकिन आज तक कोई सुनवाई नहीं हुई। संवेदक जबरदस्ती मुझसे हस्ताक्षर करवाना चाह रहा है। -मोहन मंडल, कनीय अभियंता  पीएचईडी विभाग को शिकायत करने के बाद इंटक बेल की सफाई कराई गई थी, मगर अभी तक पानी चालू नहीं किया गया। इस जलापूर्ति योजना में अनियमितता बरती गई है। इसकी शिकायत भी की गई हैं, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। - पूनम देवी, मुखिया, तेलमच्चो पंचायत

क्या कहते हैं ग्रामीण

जलापूर्ति योजना बंद रहने से ग्रामीणों को काफी परेशानी हो रही है। महिलाओं को पानी लाने व स्नान करने के लिए गंदे तालाब का सहारा लेना पड़ रहा है। -गंगाधर महतो, ग्रामीण, नूतनडीह  हमलोगों को नदी से पानी लाना पड़ रहा है। इससे समय पर काम पर नहींं जा पाता हूं। कई बार विभाग से भी शिकायत की परंतु निदान नहीं निकला। अगर जलापूर्ति की दिशा में पहल नहीं की गई तो गंभीर समस्या से गुजरना होगा। -अबुल अंसारी, ग्रामीण, तेलमच्चो  

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.