दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

आपसी समन्वय के साथ प्रखंड व पंचायत स्तर पर कार्य करने की आवश्यकता: उपायुक्त

आपसी समन्वय के साथ प्रखंड व पंचायत स्तर पर कार्य करने की आवश्यकता: उपायुक्त

जागरण संवाददाता देवघर सुरक्षित गांव हमर गांव बनाने के उद्देश्य से उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री क

JagranTue, 18 May 2021 07:44 PM (IST)

जागरण संवाददाता, देवघर: सुरक्षित गांव, हमर गांव बनाने के उद्देश्य से उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री की अध्यक्षता में जिला के प्रज्ञा केंद्र संचालकों, कृषक मित्रों एवं संबंधित अधिकारियों के साथ ऑनलाइन परिचर्चा सह बैठक का आयोजन किया गया। इस दौरान उपायुक्त ने सभी को प्रेजेंटेशन के माध्यम से कोविड से बचाव, लक्षण, रोकथाम, इलाज, होम आइसोलेशन, चिकित्सकों द्वारा दी गई सलाह, ब्लैक फंगस, स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह के तहत जारी आवश्यक गाइडलाइन के अलावा प्रतिरोधक क्षमता को बनाए रखने से जुड़ी विस्तृत जानकारी दी । वैक्सीनेशन में निभाएं अपनी भूमिका उपायुक्त ने प्रखंड स्तरीय कोविड टास्क, पंचायत स्तरीय कोविड टास्क फोर्स की जानकारियों के अलावा ग्रामीण क्षेत्र में कोविड वैक्सिन के प्रथम डोज, द्वितीय डोज, कोरोना संक्रमण व वैक्सिनेशन को लेकर जागरूकता के साथ कोविड नियमों का शत प्रतिशत अनुपालन, साफ-सफाई, कोविड रोकथाम के विषयों पर विस्तृत चर्चा करते हुए अपने-अपने स्तर से लोगों को जागरूक करने का आग्रह किया। इस दौरान विभिन्न पंचायतों के कृषक मित्रों व प्रज्ञा केंद्र संचालकों द्वारा अपने-अपने विचार व सुझाव उपायुक्त के समक्ष प्रस्तुत किए गए। साथ हीं अपने अपने पंचायतों में वैक्सीनशन और कोविड नियमों के अनुपालन व रोकथाम में शत प्रतिशत अपनी भागीदारी सुनिश्चित करने की बात कही। दो-दो दलों का गठन प्रखण्ड स्तरीय कोविड टास्क फोर्स गठन करने का निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिया, ताकि ग्रामीण स्तर पर कोविड रणनीति का प्रभावी क्रियान्वयन किया जा सके। कोविड टास्क फोर्स का गठन करते हुए अध्यक्ष के रूप में प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचल अधिकारी, प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी, सदस्य सचिव, बाल विकास परियोजना पदाधिकारी, सदस्य, थाना प्रभारी सदस्य, महिला पर्यवेक्षिका , समाज कल्याण सदस्य, प्रखंड कार्यक्रम प्रबंधक ( जेएसपीएलएस ) सदस्य, प्रखंड पंचायती राज पदाधिकारी सदस्य, प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी सदस्य, प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी सदस्य शामिल रहेंगे। साथ ही उपायुक्त ने पंचायत स्तर पर कोविड टास्क फोर्स के अलावा पंचायत स्तर पर दो दलों के गठन की जानकारियों से अवगत कराया। एक दल का कार्य पंचायत स्तर पर कोविड संक्रमित व्यक्ति की पहचान करना तो दूसरे दल का कार्य हर कोविड संभावित व्यक्ति की रैट जांच सुनिश्चित करना होगा। सहिया , सहायिका , आंगनवाड़ी सेविका, जेएसलपीएस की दीदी, स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी, सीएचओ, बीआईटी, साहिया साथी दोनों दल में रहेंगे। हल्का लक्षण आए तो 14 दिन रहें घर पर माइल्ड लक्षण हो तो खुद को घर में चौदह दिन के लिए सेल्फ़ आइसोलेट कर लेना चाहिए. चिकित्सकों व विशेषज्ञों की सलाह के मुताबिक कोरोना के माइल्ड लक्षण दिखने पर सीधे अस्पताल जाने से बचना चाहिए. लेकिन •ारूरत पड़ने पर चिकित्सकों से संपर्क कर सकते हैं। जारी गाइडलाइन, कौन-सी दवाइयों की आवश्यकता और आइसोलेशन के दौरान बरती जाने वाली सावधानियों से सभी को अवगत कराया। वैक्सीनेशन सुरक्षा कवच उपायुक्त ने प्रज्ञा केंद्र के संचालकों से कहा कि यह जागरूकता फैलाएं कि वैक्सीनेशन ही सुरक्षा कवच है। वर्तमान में सबसे महत्वपूर्ण है कि अपने साथ - साथ अपने परिवार की स्वास्थ्य सुरक्षा का विशेष रूप से ख्याल रखें। साथ ही वैक्सीन को लेकर भ्रांतियों को हर स्तर पर दूर करने के प्रयास में जिला प्रशासन का शत प्रतिशत सहयोग करें। बताया कि 194 पंचायत में वैक्सीनशन, कोविड टेस्टिग, स्वास्थ्य व्यवस्था की निगरानी को लेकर (सुरक्षित गांव, हमर गांव) बनाकर पंचायत स्तर के जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों व कर्मियों के साथ आप सबों को जोड़ा जा रहा है, ताकि पंचायत स्तर की आवश्यकताओं को देखते हुए उसे त्वरित पूरा किया जा सके। --------------------

आरसी सिन्हा

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.