राष्ट्रीय एकता के प्रतीक थे सरदार पटेल

राष्ट्रीय एकता के प्रतीक थे सरदार पटेल
Publish Date:Sat, 31 Oct 2020 10:00 PM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, देवघर : देश के प्रथम गृहमंत्री लौह पुरूष सरदार बल्लभ भाई पटेल की जयंती राष्ट्रीय एकता दिवस पर उपायुक्त कमलेश्वर प्रसाद सिंह व नगर प्रशासक शैलेंद्र कुमार लाल ने जलसार रोड स्थित सरदार की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धासुमन अर्पित किया। उपायुक्त व नगर प्रशासक ने संयुक्त रूप से आयोजित सम्मान समारोह के दौरान निगम क्षेत्र में कोविड-19 को लेकर जारी गाइडलाइन का पालन करते हुए बेहतर तरीके से पूजा पंडाल करने वाले विभिन्न पूजा समितियों को सम्मानित किया गया। प्रथम स्थान पर कृष्णापुरी पूजा समिति, द्वितीय स्थान पर बेलाबगान पूजा समिति और तृतीय स्थान पर मध्य बिलासी पूजा समिति को पुरस्कृत किया गया। इसके अलावा घड़ीदार पूजा समिति, जसीडीह बाजार पूजा समिति, रोहिणी भगवती मंदिर पूजा समिति, बैजनाथ मंदिर पूजा समिति एवं गोशाला पूजा समिति को सांत्वना पुरस्कार दिया गया। अधिकारियों ने समिति के प्रतिनिधियों को प्रशस्ति पत्र और मोमेटो देकर सम्मानित किया। इसके अलावा सफाई कर्मियों को भी सम्मानित किया गया। उपायुक्त ने कहा कि सरदार पटेल राष्ट्रीय एकता के प्रतीक थे, जिन्होंने अपना संपूर्ण जीवन राष्ट्र के लिए न्योछावर कर दिया था। वे भारत के सच्चे सपूत थे। उनकी जयंती को पूरा देश एकता दिवस के रूप मना रहा है। उनकी सोच और नेतृत्व करने की क्षमता की वजह से आज भारत की पहचान अनेकता में एक एकता वाले देश के रूप में की जाती है। कहा कि आज आवश्यकता है अपने धर्म, जाति से ऊपर उठकर देश की अखंडता के लिए अपनी भूमिका निभाएं।

मीडिया से देश भक्ति से जुड़ी कहानियां और खबरों को प्रमुखता से प्रकाशित करने का अनुरोध किया।

------------------

देश की अखंडता की ली शपथ

कार्यक्रम के दौरान नगर प्रशासक ने उपस्थित लोगों को देश की एकता और अखंडता को लेकर शपथ दिलाई। मौके पर उन्होंने कहा कि आपसी एकता का परिचय दें। सरदार पटेल के जीवन गाथा से प्रेरणा लेकर देश हित में आगे बढ़कर अपनी भूमिका निभाएं। आपसी भाईचारा की मिसाल पेश करें। मौके पर जिला जनसंपर्क पदाधिकारी रवि कुमार, जिला समाज कल्याण पदाधिकारी अनीता कुजूर, सहायक जनसंपर्क पदाधिकारी रोहित विद्यार्थी, नगर निगम प्रबंधक सतीश कुमार दास व मृणाल कुमार, लोकल बॉडीज इंप्लाईज फेडरेशन के जिलाध्यक्ष संजय मंडल, एमएसडब्ल्यूएम के प्रबंधक विशाल भट्ट सहित अन्य मौजूद थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.