दबाने से नहीं दबेगी मेहनतकशों की आवाज

संवाद सहयोगी करगली (बेरमो) कोल इंडिया के जेबीसीसीआइ सदस्य सह नेशनल कोल ऑर्गनाइजेशन इंप्लाई एसोसिएशन के केंद्रीय अध्यक्ष डीडी रामानंदन ने कही।

JagranTue, 09 Mar 2021 12:10 AM (IST)
दबाने से नहीं दबेगी मेहनतकशों की आवाज

संवाद सहयोगी, करगली (बेरमो) : कोल इंडिया के जेबीसीसीआइ सदस्य सह नेशनल कोल ऑर्गनाइजेशन इंप्लाई एसोसिएशन (एनसीओइए) के केंद्रीय अध्यक्ष डीडी रामानंदन ने कहा कि दबाए जाने से भी मेहनतकशों की आवाज नहीं दबेगी। मजदूरों का शोषण बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। वह सोमवार को करगली स्थित महिला कल्याण भवन में श्रमिक संगठन सीटू से संबद्ध एनसीओइए के एकदिवसीय सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार आने वाले दिनों में कोयला मजदूरों की हालत प्राइवेट मजदूरों जैसी करने वाली है। किसान एवं मजदूर सरकार की तानाशाही से परेशान हैं। देश के 52 श्रम कानूनों को सरकार खत्म कर चार कोड लाने पर तुली है, जिससे मजदूरों पर शोषण को बढ़ावा मिलेगा। उस कोड के जरिए स्थाई नियोजन को खत्म करने का प्रयास किया जा रहा है। सरकार मजदूरों की सुख-सुविधा को खत्म करना चाह रही है। इसके खिलाफ किसानों की तर्ज पर कोयला मजदूरों को भी आंदोलन की शुरुआत करनी पड़ेगी। हर एक मजदूरों को समझाकर देश व उद्योग को बचाने के लिए सवाल उठाना होगा। इसके लिए सभी श्रमिक संगठनों को एकजुट किया जा रहा है। सीटू के झारखंड राज्य कार्यकारी अध्यक्ष रामचंद्र ठाकुर ने कहा कि देश के कई पूंजीपति श्रमिक संगठनों को प्रभावित कर रहे हैं। सीटू के प्रदेश सहायक महामंत्री भागीरथ शर्मा ने कहा कि मजदूरों ने वर्षों तक संघर्ष कर श्रम कानूनों को बनवाने का काम किया, जिसे आज केंद्र सरकार बदलाव करने को आमादा है। सीसीएल वेलफेयर बोर्ड के सदस्य प्रदीप विश्वकर्मा ने कहा कि मजदूरों के अधिकारों पर अंकुश लगाए जा रहे हैं। इसके खिलाफ आवाज बुलंद करना होगा। सीटू के सीसीएल जोनल सचिव श्रीकांत शर्मा ने कहा कि बेरमो में मजदूरों का आंदोलन तेज करने की जरूरत है। इसके लिए मजदूरों के बीच संवाद तेज किया जाएगा। सम्मेलन की अध्यक्षता सीटू के बीएंडके कार्यकारी अध्यक्ष संतोष सिन्हा ने की। संचालन क्षेत्रीय सचिव विजय कुमार भोई ने किया। मौके पर जोनल सचिव श्यामबिहारी सिंह दिनकर, क्षेत्रीय अध्यक्ष मनोज पासवान, ढोरी क्षेत्र के कार्यकारी अध्यक्ष नीलकंठ रविदास, सचिव गोवर्धन रविदास एवं अध्यक्ष चंद्रशेखर महतो सहित सुरेश कुमार, केशव मंडल, तपन गोस्वामी, पीपी मुखर्जी, मो. ऐनुल, मो. मुश्ताक, अरुण सेनगुप्ता, टेकामन यादव, रघुनाथ विश्वकर्मा, उमेश गंझू, राजू तांती, मेहतरु प्रसाद, दशरथ करमाली, जयदेव गोप, नारायण महतो, निजाम अंसारी, राजेंद्र रवानी, दीपक मिश्रा, कमलेश गुप्ता, जान बाबू, विकास कुमार, संदीप सेनगुप्ता, समीर सेन, मंजू देवी, तेनकाही देवी, कौशल्या देवी, लालो देवी, पालो देवी, बिदिया देवी, जमुनी देवी, भोला रजक, परमानंद तांती आदि मौजूद थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.