मजदूरों को डराने-धमकाने का प्रपंच बर्दाश्त नहीं

करगली (बेरमो) श्रमिक संगठन इंटक रेड्डी गुट से संबद्ध राष्ट्रीय कोलियरी मजदूर संघ (राक

JagranPublish:Mon, 06 Dec 2021 09:52 PM (IST) Updated:Mon, 06 Dec 2021 09:52 PM (IST)
मजदूरों को डराने-धमकाने का प्रपंच बर्दाश्त नहीं
मजदूरों को डराने-धमकाने का प्रपंच बर्दाश्त नहीं

करगली (बेरमो) : श्रमिक संगठन इंटक रेड्डी गुट से संबद्ध राष्ट्रीय कोलियरी मजदूर संघ (राकोमसं) के प्रतिनिधियों ने सोमवार को सीसीएल ढोरी एरिया की अमलो साइडिग स्थित फीडर ब्रेकर के समीप जुटकर विरोध प्रदर्शन किया। यहां उपस्थित यूनियन नेताओं सहित मजदूरों ने किसी भी हाल में सीसीएल ढोरी प्रक्षेत्र का माहौल बिगड़ने नहीं देने का संकल्प लेते हुए नारेबाजी की। राकोमसं के रीजनल अध्यक्ष गिरिजाशंकर पांडेय ने कहा कि मजदूरों को डराने-धमकाने का प्रपंच बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। श्रमिकों का हितैषी बनकर भयादोहन करने का धंधा सफेदपोश नेता बंद करें, अन्यथा सबक सिखा दिया जाएगा। कहा कि एक महिला कामगार की आड़ में वह सफेदपोश नेता सीसीएल के मजदूरों को झूठे केस में फंसाने की धमकी देता है। उन्हें पता होना चाहिए कि वैसी धमकी से यहां के मजदूर नहीं डरते। क्योंकि मजदूरों के साथ राष्ट्रीय कोलियरी मजदूर संघ है। इसके प्रतिनिधि हमेशा मजदूरों के लिए कार्य करते हुए उनके सुख-दुख में साथ देते हैं।

जरूरत पड़ी तो खोला जाएगा मोर्चा :

राकोमसं के ढोरी क्षेत्रीय सचिव शिवनंदन चौहान ने कहा कि कुछ श्रमिक नेता निजी स्वार्थ के चक्कर में सीसीएल ढोरी एरिया के माहौल को बिगाड़ने में लगे हुए हैं। इस कारण मजदूरों में काफी आक्रोश है। वैसे श्रमिक नेताओं को कभी भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। जरूरत पड़ी तो उन नेताओं के विरुद्ध मोर्चा खोला जाएगा। वरीय नेता उत्तम सिंह ने कहा कि जिन नेताओं को सीसीएल व कर्मचारियों से कोई सहानुभूति नहीं है, वह एक महिला कर्मी को बहकाकर न सिर्फ मजदूरों पर झूठा आरोप लगवा रहे हैं, बल्कि सीसीएल प्रबंधन और बेरमो थाना को आवेदन भी दिला रहे हैं। वैसे नेता को बेरमो कोयलांचल के मजदूर यहां से खदेड़ने का काम करेंगे।

परियोजनाओं में घुसने नहीं दिया जाएगा :

असंगठित मजदूर कांग्रेस के जिलाध्यक्ष परवेज अख्तर ने कहा कि जिन श्रमिक नेता के पास मजदूरों की संख्या नहीं है, वह सीसीएल की परियोजनाओं में घुसकर काम बाधित करते हैं। मजदूरों को डराने-धमकाने का काम करते हैं। यदि मजदूरों के साथ उस नेता का यही रवैया रहा तो उन्हें सीसीएल की परियोजनाओं में घुसने नहीं दिया जाएगा। मौके पर राकोमसं के अमलो शाखा सचिव गणेश मल्लाह सहित साधु बाउरी, जितेंद्र चंपिया, बालेश्वर तुरी, तिलकधारी सिंह, अशफाक अंसारी, तैयब अंसारी, जयराम सिंह, महफूज आलम, वासुदेव महतो, दिनेश ठाकुर, झरी उरांव, जन्मेजय मौर्य, कुन्नी कुमारी, अनंत महतो, दिनेश ठाकुर, हेमलाल यादव, अख्तर अंसारी, गुड्डन चौहान, बालेश्वर तुरी, तिलकधारी सिंह आदि मौजूद थे।