विस्थापितों ने कारो माइंस में ठप करा दिया उत्पादन

करगली (बेरमो) बेरमो कोयलांचल के अमलो मौजा अंतर्गत पुरनाटांड़ के विस्थापितों ने शनिवार क

JagranSat, 25 Sep 2021 08:45 PM (IST)
विस्थापितों ने कारो माइंस में ठप करा दिया उत्पादन

करगली (बेरमो) : बेरमो कोयलांचल के अमलो मौजा अंतर्गत पुरनाटांड़ के विस्थापितों ने शनिवार को सीसीएल की माइंस का कार्य बंद करा दिया। माइंस परिसर में दर्जनों विस्थापितों ने जमीन के एवज में नियोजन की मांग करते हुए प्रदर्शन किया। लगभग साढ़े तीन घंटे तक कार्य बाधित रहा।

सूचना पाकर कारो परियोजना के पीओ केडी प्रसाद पहुंचे। उन्होंने विस्थापितों से कार्य चलने देने का आग्रह किया। विस्थापितों ने उनकी अपील ठुकरा दी और मशीन के आगे खड़े रहकर अपने आंदोलन पर डटे रहे। बाद में पुलिस प्रशासन के समझाने पर खदान परिसर से विस्थापित हटे। तब जाकर माइंस का कार्य सुचारु हो पाया।

दोपहर लगभग एक बजे विस्थापितों की ओर से शुरू किए गए इस आंदोलन के बाद परियोजना पदाधिकारी के आग्रह का कोई असर नहीं हुआ। तब सीसीएल बी एंड के प्रक्षेत्र प्रबंधन ने बेरमो थाना की पुलिस को आवेदन देकर कार्य सुचारू कराने की अपील की। पुलिस टीम ने पहुंचकर विस्थापितों को समझा-बुझाकर लगभग साढ़े चार बजे माइंस के बाधित कार्य को चालू कराया।

विस्थापित परिवार के लोग कर रहे संघर्ष :

आंदोलनकारी लक्ष्मण गिरि ने कहा कि सीसीएल प्रबंधन खदान विस्तार करने को पुरनाटांड़ के विस्थापितों की जमीन की कटाई का कार्य बिना नियोजन व मुआवजा दिए ही करा रहा है। इसका विरोध करते हुए कारो माइंस का कार्य बंद कराया गया। कहा कि सीसीएल प्रबंधन सिर्फ माइंस को संचालित करे तो कोई भी विस्थापित विरोध नहीं करेगा। प्रबंधन मनमाने ढंग से वैसी जमीन पर मशीन न चलवाए, जिसके एवज में नियोजन व मुआवजा विस्थापितों को नहीं दिया गया है। कहा कि यहां की जमीन विस्थापितों के पूर्वजों की है। इसके एवज में नियोजन व मुआवजा पाने को विस्थापित परिवार के लोग संघर्ष कर रहे हैं। प्रबंधन विस्थापितों की जमीन पर जबरन कब्जा करना चाह रहा है, जिसे सफल नहीं होने दिया जाएगा।

सीसीएल प्रबंधन की मनमानी बर्दाश्त नहीं :

विस्थापित नेता सूरज महतो ने कहा कि सीसीएल प्रबंधन यहां मनमाने ढंग से माइंस चलाना चाह रहा है। इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। सीसीएल ढोरी प्रक्षेत्र प्रबंधन ने पुरनाटांड़ के विस्थापितों को पूर्व में अधिग्रहीत जमीन के एवज में नियोजन व मुआवजा अबतक उपलब्ध नहीं कराया है। अब सीसीएल बी एंड के प्रबंधन विस्थापितों की सत्यापित जमीन पर कब्जा करना चाह रहा है। प्रबंधन की इस नीति का पुरजोर विरोध किया जाएगा। कहा कि पुरनाटांड़ खदान को प्रबंधन ने जबरन प्रशासन व सीआइएसएफ के बल पर पूर्व में चालू कराने का काम किया। अब प्रबंधन की जोर-जबरदस्ती व मनमानी नहीं चलने दी जाएगी। प्रबंधन विस्थापितों को झूठा आश्वासन देकर जमीन को हड़पना चाह रहा है, जिसे कामयाब नहीं होने दिया जाएगा। वर्जन

पुरनाटांड़ के विस्थापितों को जमीन के एवज में नियोजन व मुआवजा देने की प्रक्रिया जारी है। विस्थापितों में लक्ष्मण गिरि एवं मंगल गिरि के बीच पारिवारिक विवाद के कारण उनका नियोजन लंबित है। दोनों परिवार के लोग वंशावली बनाकर आपसी सहमति बनाएं। उसके बाद ग्रामसभा कराकर नियोजन दिया जाएगा। खदान के कार्य को बाधित करना उचित नहीं है। विस्थापित माइंस को बेहतर ढंग से संचालित होने दें।

केडी प्रसाद, पीओ, कारो परियोजना

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.