आधे शिक्षक स्कूल में रहेंगे, आधे जाएंगे गांव

आधे शिक्षक स्कूल में रहेंगे, आधे जाएंगे गांव
Publish Date:Thu, 24 Sep 2020 11:06 PM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, बोकारो : राज्य के स्कूली शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने गुरुवार को कहा कि जब तक स्कूल चालू नहीं होते हैं तब तक सभी शिक्षक विद्यालय जाएंगे। इनमें आधे शिक्षक ग्रामीण क्षेत्रों में भ्रमण करेंगे। वहां बच्चों की शैक्षणिक स्थिति के बारे में जानकारी लेंगे और सहयोग करेंगे। अभिभावकों से बच्चे को पढ़ाई के लिए प्रेरित करने के लिए कहेंगे। सरकार स्कूल खोलने पर विचार कर रही है। इस संबंध में जल्द ही निर्णय लिया जायेगा।

मंत्री ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों, शिक्षकों व अभिभावकों संग वेबिनार किया। बोकारो स्थिति एनआइसी कार्यालय से मंत्री ने हर जिले के लोगों से बात की। इसमें लगभग 5000 लोगों ने हिस्सा लिया।

कहा कि गांव के अधिकतर बच्चों के पास एंड्रायड फोन नहीं है। ऐसे बच्चों को किस प्रकार शिक्षा दी जाए और उनका कोर्स पूरा हो इस पर विचार होना चाहिए। जिन परिवारों में स्मार्ट फोन नहीं है उन परिवारों के बच्चों के प्रति शिक्षकों की जवाबदेही बढ़ गई है। डीएसई व डीइओ को नई व्यवस्था लागू करने का निर्देश दिया। कोरोना संकट से निपटने के लिए सरकारी स्तर पर प्रयास चल रहा है। विश्वास है कि शिक्षक अपनी पूरी क्षमता का उपयोग करते हुए उनका कोर्स पूरा करने में मदद करेंगे।

इधर, परिसदन में मंत्री ने कहा कि पहले चरण में कक्षा नौवीं से बारहवीं तक की कक्षा के संचालन की योजना है। विद्यार्थियों को शारीरिक दूरी का पालन कराते हुए कक्षा में बैठाया जा सकता है। पूरे स्कूल को सैनिटाइज करना होगा। एक सप्ताह के बाद इस संबंध में बैठक होगी। फिर निर्देश जारी किया जा सकता है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.