18 किलोमीटर पैदल चलकर मचैल गांव पहुंचे अधिकारी, सुनीं ग्रामीणों की समस्याएं

संवाद सहयोगी किश्तवाड़ 18 किलोमीटर पैदल चलकर मचैल गांव पहुंचे अधिकारियों ने ब्लाक दिवस

JagranWed, 01 Dec 2021 06:35 AM (IST)
18 किलोमीटर पैदल चलकर मचैल गांव पहुंचे अधिकारी, सुनीं ग्रामीणों की समस्याएं

संवाद सहयोगी, किश्तवाड़ : 18 किलोमीटर पैदल चलकर मचैल गांव पहुंचे अधिकारियों ने ब्लाक दिवस कार्यक्रम में ग्रामीणों की समस्याएं सुनीं और उन्हें शीघ्र हल करने का आश्वासन दिया।

उल्लेखनीय है कुछ माह पूर्व बादल फटने से पाडर इलाके में पुल गिर गए थे और रास्ते कट गए थे। कुछ पुलों व रास्तों का तो निर्माण हुआ है, लेकिन अन्य पुलों व मार्गो का निर्माण अभी किया जाना है। कुंडेल से मचैल तक 18 किलोमीटर सड़क का निर्माण अभी चल रहा है। मंगलवार को पाडर इलाके के मचैल गांव में ब्लाक दिवस का आयोजन किया गया था। यह पहला मौका था कि 18 किलोमीटर पैदल चलकर पाडर ब्लाक के दूरदराज गांव मचैल में एसडीएम पाडर वरुण जीत सिंह चाढ़क, बीडीओ, तहसीलदार व अन्य अधिकारी पहुंचे। वहां जाकर उन्होंने आसपास के सभी गांवों के लोगों को इकट्ठा करके बैठक की और उनकी समस्याएं सुनीं। स्थानीय लोगों ने एसडीएम को बताया कि पिछले काफी समय से मचैल इलाके में बिजली आपूर्ति ठप है, जिससे लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है। यहां तक कि लोगों के मोबाइल भी चार्ज नहीं हो रहे हैं। आने वाले दिनों में बर्फबारी हो जाने पर स्थिति और विकट हो जाएगी। उन्होंने एसडीएम से अपील की कि बर्फबारी से पहले बिजली ढांचे की मरम्मत कर आपूर्ति बहाल की जाए। इसके साथ ही उन्होंने कुंडेल से आगे का रास्ता भी ठीक करने की बात कही।

कुछ लोगों ने कहा कि बर्फबारी होने से पहले इलाके में राशन का भंडार हो जाना चाहिए, ताकि सर्दी में लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़े, क्योंकि बर्फबारी के बाद यह रास्ता पूरी तरह से बंद हो जाता है। इसके साथ ही ग्रामीणों ने कुंडेल से आगे मचैल के लिए बन रही सड़क के काम में भी तेजी लाने की मांग की। ऐसे ही और भी कई मसले स्थानीय लोगों ने बैठक में एसडीएम व अन्य अधिकारियों के समक्ष रखे।

एसडीएम ने ग्रामीणों से कहा कि मैं आपकी समस्याओं का पिटारा लेकर जा रहा हूं। डीसी से मिलकर सभी समस्याओं का हल निकाला जाएगा इसके बावजूद भी अगर कोई काम हो तो आप हमसे संपर्क कर सकते हैं। इस बैठक को लेकर स्थानीय लोगों में काफी उत्साह देखने को मिला। लोगों का कहना था कि यह पहला मौका है कि मचैल में भी ब्लाक दिवस की बैठक की गई।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.