OGW Arrested: बारामुला में टीआरएफ का ओवरग्राउंड वर्कर गिरफ्तार किया गया

हीरानगर के पानसर के सतपाल और करोल कृष्णा के गुरनाम पोस्ट को निशाना बना कर रात भर गोलाबारी की।

दक्षिण कश्मीर के कुलगाम से सप्ताह भर पहले गायब हुआ एसपीओ (स्पेशल पुलिस ऑफिसर) एसके 47 के साथ गिरफ्तार हिरासत में ले लिया गया है। जाकिर अहमद मलिक निवासी हांगीर से राइफल एक मैगजीन और 24 कारतूस बरामद कर लिए गए हैं।

Wed, 30 Dec 2020 07:42 AM (IST)

राज्य ब्यूरो, जम्मू: पुलिस ने उत्तरी कश्मीर के बारामुला में आतंकी संगठन द रेजिस्टेंस फ्रंट (टीआरएफ) के साथ काम करने वाले एक ओवर ग्राउंड वर्कर को गिरफ्तार किया है। पुलिस को सूचना मिली थी कि बारामुला-हंदवाड़ा मार्ग पर आतंकियों या उनके मददगार गुजरने वाले हैं। इसके बाद पुलिस ने सुरक्षाबलों के साथ झेलम स्टेडियम के पास नाका लगाया।

शाम करीब छह बजे बाराुमला से हंदवाड़ा की ओर जा कार नंबर जेके05जी 1675 को रोकने का इशारा किया गया। चालक ने नाका तोड़ने का प्रयास किया, लेकिन सुरक्षाबलों ने कार को घेर लिया। कार की तलाशी लेने में तीन ग्रेनेड, 13 हजार रुपये नकद और चारकोल का एक बैग मिला है। इसके बाद आसिफ गुल को पकड़ लिया गया। उसने बताया कि वह टीआरएफ का ओवर ग्राउंड वर्कर है। वह एक स्थानीय आतंकी आबिद के संपर्क में है। इस समय वह पाकिस्तान में है। वह हैदर, उस्मान और इनायतुल्ला के भी संपर्क में है।

हथियार लेकर फरार हुआ एसपीओ गिरफ्तार: दक्षिण कश्मीर के कुलगाम से सप्ताह भर पहले गायब हुआ एसपीओ (स्पेशल पुलिस ऑफिसर) एसके 47 के साथ गिरफ्तार हिरासत में ले लिया गया है। जाकिर अहमद मलिक निवासी हांगीर से राइफल, एक मैगजीन और 24 कारतूस बरामद कर लिए गए हैं। वह 22 दिसंबर को राइफल, मैगजीन और तीस कारतूस लेकर गायब हुआ था। उससे छह कारतूसों के बारे में भी जानकारी जुटाई जा रही है।

कठुआ जिले में पाकिस्तान ने गोलाबारी की : पाकिस्तानी सैनिकों ने सोमवार रात को भी संघर्ष विराम का उल्लंघन जारी रखते हुए अंतरराष्ट्रीय सीमा पर हीरानगर सेक्टर में गोलाबारी की। हीरानगर के पानसर के सतपाल और करोल कृष्णा के गुरनाम पोस्ट को निशाना बना कर रात भर गोलाबारी की। रात 12 बजे से सुबह तक रुक-रुकगोलाबारी जारी रही। पाक रेंजरों ने अपने बीका चक तथा चक शामा पोस्ट मशीनगनों से गोलिया बरसाई तथा मोर्टार से गोले दागे। मंगलवार सुबह भी पाक रेंजरों ने पानसर क्षेत्र में कुछ राउंड फायरिंग की। बीएसएफ की 19 तथा 173 बटालियन के जवानों ने भी गोलाबारी का मुंहतोड़ जवाब दिया। इसके बाद पाकिस्तान की ओर से गोलाबारी बंद की गई। हालांकि भारतीय क्षेत्र में कोई नुकसान नहीं हुआ। उधर, बीएसएफ ने पानसर क्षेत्र में पाकिस्तान की तरफ से चलाए गए मोर्टार के चार जिंदा शेल निष्क्रिय किए। गोलाबारी के कारण लोग खौफजदा हैं। ग्रामीणों का कहना है कि पाकिस्तान लगातार दो साल से गोलाबारी करता आ रहा है। सरकार को गोलाबारी बंद करने के लिए कोई स्थायी हल निकालना चाहिए, ताकि सीमात लोग शाति से जिंदगी बसर कर सकें।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.