कश्मीरी युवाओं को नीट परीक्षा के लिए नहीं जाना होगा वादी से बाहर

राज्य ब्यूरो, श्रीनगर : अब कश्मीर घाटी के किसी भी युवा को नीट की परीक्षा में देने के लिए वादी से बाहर नहीं जाना पड़ेगा। नेशनल टेस्टिग अथारिटी (एनटीए) ने वीरवार को घाटी में चार और केंद्र स्थापित करने का निर्णय लिया है।

गौरतलब है कि पांच मई को नीट परीक्षा होगी। एमबीबीएस और बीडीएस के पाठयक्रम के इच्छुक छात्रों को नीट परीक्षा के बाद मेरिट के आधार पर देश के विभिन्न कॉलेजों में दाखिला मिलता है। इस वर्ष कश्मीर घाटी से 9250 अभ्यार्थियों ने नीट परीक्षा के लिए अपने आवेदन दिए हैं, लेकिन 5750 अभ्यर्थियों के लिए ही घाटी में एनटीए ने परीक्षा केंद्र स्थापित किए थे। शेष 3500 अभ्यर्थियों को घाटी से बाहर जम्मू और देश के अन्य राज्यों में बने परीक्षा केंद्रों में परीक्षा के लिए जाना था, लेकिन स्थानीय सामाजिक, राजनैतिक और बुद्धिजीवी संगठनों के अलावा नीट की परीक्षा में बैठने के इच्छुक अभ्यर्थियों ने हाईवे की मौजूदा स्थिति और अन्य कारणों का हवाला देते हुए कश्मीर में ही परीक्षा केंद्रों की संख्या बढ़ाने की मांग की थी। स्थानीय लोगों ने राज्यपाल सत्यपाल मलिक के सलाहकारों में के विजय कुमार, खुर्शीद अहमद गनई और केके शर्मा व राज्यपाल के संज्ञान में लाते हुए हस्तक्षेप करने का आग्रह किया था। राज्य प्रशासन ने इस संदर्भ में केंद्रीय मानव संसाधन मंत्रालय से बातचीत की, जिसके बाद एनटीए ने कश्मीर में चार ओर केंद्र बनाने को मंजूरी दी है।

संबंधित अधिकारियो ने बताया कि वादी में बनाए गए चार नए केंद्र श्रीनगर स्थित ग्रीन वैली स्कूल, कश्मीर हार्वड स्कूल, गांधी मेमोरियल कॉलेज और कश्मीर विश्वविद्यालय में हैं। उन्होंने बताया कि जिन 3500 अभ्यर्थियों को परीक्षा के लिए पहले बाहर जाना था, वे अब इन केंद्रों में परीक्षा दे सकेंगे। सभी को एसएमएस और अन्य माध्यमों से इसकी जानकारी दे दी गई है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.