जम्मू-कश्मीर राज्य का दर्जा संसद ने लिया संसद ही लौटाएगी : उपराज्यपाल मनोज सिन्हा

जम्मू कश्मीर में परिसीमन की प्रक्रिया पूरी होने के बाद विधानसभा चुनाव कराए जाएंगे। विधानसभा चुनाव संपन्न होने के बाद ही जम्मू कश्मीर के लिए राज्य का दर्जा पुनर्बहाल होगा। प्रधानमंत्री और गृहमंत्री पर विश्वास रखिए। इस मुददे पर संयम रखना चाहिए।

Rahul SharmaPublish:Wed, 01 Dec 2021 08:47 AM (IST) Updated:Wed, 01 Dec 2021 08:50 AM (IST)
जम्मू-कश्मीर राज्य का दर्जा संसद ने लिया संसद ही लौटाएगी : उपराज्यपाल मनोज सिन्हा
जम्मू-कश्मीर राज्य का दर्जा संसद ने लिया संसद ही लौटाएगी : उपराज्यपाल मनोज सिन्हा

श्रीनगर, राज्य ब्यूरो: उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने मंगलवार को कहा कि सिर्फ संसद ही केंद्र शासित जम्मू कश्मीर प्रदेश को पूर्ण राज्य का दर्जा प्रदान कर सकती है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह इस विषय में संसद में और इस राष्ट्र को विस्तार में पहले ही कई बार बता चुके हैं। उन्होंने कहा कि संसद ने ही जम्मू कश्मीर से उसका राज्य का दर्जा लिया है और संसद ही इसे लौटाएगी।

आज कोलकत्ता में जम्मू कश्मीर में निवेश को आकर्षित करने के लिए उद्याेग एवं वाणिज्य विभाग जम्मू कश्मीर द्वारा आयोजित पूर्वाेत्तर के निवेशकों के एक सम्मेलन के दौरान पत्रकारों से संक्षिप्त बातचीत में उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा कि जम्मू कश्मीर को पूर्ण राज्य का दर्जा प्रदान किए जाने पर केंद्र सरकार पूरी तरह स्पष्ट है। इसमें कोई असमंजस नहीं है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह कई बार यकीन दिला चुके हैं। उन्होंने कई बार दोहराया है कि जम्मू कश्मीर में परिसीमन की प्रक्रिया पूरी होने के बाद विधानसभा चुनाव कराए जाएंगे। विधानसभा चुनाव संपन्न होने के बाद ही जम्मू कश्मीर के लिए राज्य का दर्जा पुनर्बहाल होगा। प्रधानमंत्री और गृहमंत्री पर विश्वास रखिए। इस मुददे पर संयम रखना चाहिए।

उपराज्यपाल ने कहा कि जम्मू कश्मीर में विधानसभा के गठन के लिए केंद्र सरकार पूरी तरह संकल्पबद्ध है। यह परिसीमन के प्रकिया के संपन्न होने पर ही कराए जाएंगे।

बीएसएफ का श्रीनगर में ब्रास एंड जैज बैंड का डिस्प्ले : अंतरराष्ट्रीय सीमा की रक्षा का जिम्मा संभाल रहे सीमा सुरक्षा बल ने लोगों के बीच एकता, अखंडता और बल के गौरवशाली इतिहास को दर्शाने के लिए श्रीनगर में ब्रास एंड जैज बैंड डिस्पले किया। बल इस समय अपना 57 वा स्थापना दिवस मना रही है। राष्ट्र के प्रति पचास साल से अधिक समय से बेहतरीन सेवाएं दे रही सीमा सुरक्षा बल ने श्रीनगर के शेर-ए-कश्मीर इंटरनेशनल कन्वेंशन सेंटर में गीत संगीत कार्यक्रम आयोजित किया। शाम को डल झील के आसपास का क्षेत्र देश भक्ति के गीतों से गूंज उठा। बीएसएफ के थीम गीत हम सीमा के प्रहरी हैं को ब्रास एंड जैज बैंड के जरिए प्रस्तुत किया गया। लाइट एंड साउंड शो कार्यक्रम का विशेष आकर्षण था। बीएसएफ कश्मीर फ्रंटियर के आईजी राजा बाबू सिंह ने बल के संगीतमय बैंड शो को सफल बनाने के लिए स्थानीय ग्रुपों और जवानों के सहयोग की सराहना की।