Jammu Kashmir: जम्मू-कश्मीर में अंतरराष्ट्रीय स्तर के बनेंगे राजमार्ग, संसदीय कमेटी ने प्रशासनिक अधिकारियों संग की बैठक

जम्‍मू कश्‍मीर के तीन दिवसीय दौरे पर आई संसदीय स्थायी समिति ने श्रीनगर में संबंधित अधिकारियों संग बैठक की।

संसदीय समिति घरेलू पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए कश्‍मीर में है। समिति पर्यटन क्षेत्र के प्रचार-प्रसार ग्रामीण पर्यटन और पर्यटन को बढ़ावा देने होटल के बुनियादी ढांचे और बेहतर सड़क परिवहन संपर्क के लिए राजमार्गों के विकास का जायजा ले रही है।

Publish Date:Fri, 22 Jan 2021 06:00 AM (IST) Author: Lokesh Chandra Mishra

श्रीनगर, राज्य ब्यूरो :  जम्मू कश्मीर के विकास और यहां के लोगों की नब्ज टटोलने पहुंची 31 सदस्यीय संसदीय स्थायी समिति सभी से खुले दिल से मिली। श्रीनगर में वीरवार को स्थानीय पर्यटन, उद्योग और कला जगत समेत सात संगठनों ने समिति के समक्ष खुशहाल कश्मीर का रोडमैप पेश किया। इसमें कश्मीर में फिल्म सिटी, सदाबहार जम्मू-श्रीनगर हाईवे और समय पर परियोजनाओं को पूरा करना प्रमुख था।

समिति ने इसपर सहमति जताते हुए रोडपैप को आगे बढ़ाने का भरोसा दिलाया। इसके बाद प्रदेश प्रशासन के आला अधिकारियों के साथ बैठक कर समिति के अध्यक्ष टीजी वेंकटेश ने जम्मू कश्मीर के सर्वांगीण विकास के प्रति केंद्र सरकार की संकल्पबद्धता को दोहराते हुए कहा कि यहां के राजमार्गों को अंतरराष्ट्रीय स्तर का बनाया जाएगा।

प्रदेश के तीन दिवसीय दौरे पर आए संसदीय दल ने यहां पर्यटन विकास, सड़क निर्माण, पुरातत्व और विरासतस्थलों के संरक्षण संबंधी मुद्दों पर स्थानीय पक्षों के अलावा प्रदेश प्रशासन के अधिकारियों के साथ चर्चा की। कोरोना महामारी का संकट शुरूहोने के बाद जम्मू कश्मीर में किसी संसदीय प्रतिनिधिमंडल का यह पहला दौरा है।

परिवहन, पर्यटन और संस्कृति पर आधारित संसदीय स्थायी समिति के अध्यक्ष टीजी वेंकटेश ने कहा कि प्रदेश के निवासियों की विकास के प्रति आकांक्षा को जानने व समस्याओं को समझ, उनके हल को सुनिश्चित बनाने के लिए हम यहां आए हैं। समिति घरेलू पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए पर्यटन क्षेत्र के प्रचार-प्रसार, ग्रामीण पर्यटन और पर्यटन को बढ़ावा देने, होटल के बुनियादी ढांचे और बेहतर सड़क परिवहन संपर्क के लिए राजमार्गों के विकास का जायजा लेगी।

जम्मू-कश्मीर में राजमार्गों को अंतरराष्ट्रीय स्तर का बनाने के लिए किए जाने वाले उपायों को जमीनी स्तर पर लागू कराने पर जोर दिया जाएगा। यहां राष्ट्रीय राजमार्ग व अन्य सड़कें पूरी तरह से सुरक्षित हों, इसका भी जायजा लिया जाएगा। समिति ने जम्मू कश्मीर में पुरातात्विक स्थलों व कलाकृतियों के प्रचार और संरक्षण पर संस्कृति और पर्यटन मंत्रालय और प्रदेश सरकार के अधिकारियों के साथ भी बैठक की। संबंधित अधिकारियों ने पुरातात्विक स्थलों, स्मारकों के संवर्धन के लिए किए गए उपायों पर प्रतिनिधिमंडल को जानकारी दी।

समिति के प्रतिनिधिमंडल में  प्रसन्ना आचार्य, विनय तेंदुलकल, राहुल कास्वान, रमेश चंद्र माझी, छेदी पासवन, कमलेश पासवान, सुनील कुमार पिंटु, तीर्थ सिंह रावत,राजीव प्रताप रूडी, रामदास चंद्रभानजी तदास और कृपाल बालाजी भी शामिल हैं।

बैठक में पीएमओ में राज्यमंत्री डा. जितेंद्र सिंह और श्रीनगर के सांसद डा. फारूक अब्दुल्ला के अलावा  केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी, कश्मीर के मंडलायुक्‍त पीके पोले, पर्यटन सचिव सरमद हफीज, श्रीनगर के उपायुक्‍त शाहिद इकबाल चौधरी मौजूद थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.