JKSSB Class IV Jobs: राजौरी में 21 हजार से अधिक युवाओं ने दी चतुर्थ श्रेणी भर्ती की परीक्षा

किश्तवाड़ जिले में चतुर्थ श्रेणी की भर्ती परीक्षा सोमवार को सुचारु रूप से संपन्न हुई।

यह परीक्षा जिला प्रशासन किश्तवाड़ की देखरेख में और डीसी अशोक शर्मा की अध्यक्षता की गई। इस परीक्षा में तीन दिन में 10635 अभ्यर्थियों में से 8205 उपस्थित हुए। इस तरह उपस्थित अभ्यर्थियों की भागीदारी 77 फीसद रही।

Tue, 02 Mar 2021 07:32 AM (IST)

जागरण संवाददाता, राजौरी : चतुर्थ श्रेणी की भर्ती के लिए पिछले तीन दिनों से लिखित परीक्षा का आयोजन किया जा रहा था। राज्य चयन बोर्ड द्वारा इस लिखित परीक्षा को करवाया जा रहा था। प्रशासन ने सभी प्रबंध किए थे। राजौरी में 22 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे, ताकि परीक्षा देने के लिए आने वाले युवाओं को किसी भी प्रकार की कोई भी परेशानी न हो।

तीन दिनों में 22 परीक्षा केंद्रों में 21 हजार से अधिक युवाओं ने परीक्षा दी। सोमवार को परीक्षा के तीसरे दिन भी करीब सात युवाओं ने परीक्षा दी। तीन दिनों में कुल 21 हजार से अधिक युवाओं ने चतुर्थ श्रेणी की नौकरी के लिए लिखित परीक्षा दी है। जिले में इस परीक्षा के लिए 22 परीक्षा केंद्रों की स्थापना की गई थी और प्रशासन ने बिना किसी परेशानी के परीक्षा को संपन्न करवाने के लिए काफी बेहतर प्रबंध कर रखे थे। सोमवार को भी प्रशासनिक अधिकारियों ने परीक्षा केंद्रों का दौरा किया और पाया कि परीक्षा बेहतर ढंग से चल रही है।

परीक्षा केंद्र के अंदर मात्र पेन व एडमिड कार्ड ले जाने की ही अनुमति दी गई थी। इसके अलावा कुछ भी अंदर नहीं ले जाने दिया गया। परीक्षा समाप्त होने के बाद सभी उत्तर पुस्तिकाओं को सील करके राज्य चयन आयोग के पास जम्मू भेजा जा रहा है। वहां से इन उत्तर पुस्तिकाओं की जांच की जाएगी और उसके बाद लिखित परीक्षा का परिणाम घोषित किया जाएगा। हर परीक्षा केंद्र के बाहर प्रशासन ने सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए थे। किश्तवाड़ जिले में चतुर्थ श्रेणी की भर्ती परीक्षा सोमवार को सुचारु रूप से संपन्न हुई।

यह परीक्षा जिला प्रशासन किश्तवाड़ की देखरेख में और डीसी अशोक शर्मा की अध्यक्षता की गई। इस परीक्षा में तीन दिन में 10,635 अभ्यर्थियों में से 8205 उपस्थित हुए। इस तरह उपस्थित अभ्यर्थियों की भागीदारी 77 फीसद रही। यह परीक्षा एडीसी किश्तवाड़ की देखरेख में आयोजित की गई। वह उक्त परीक्षा के लिए जिला पर्यवेक्षक और नोडल अधिकारी नियुक्त थे। इसमें 12 पुलिस अधीक्षक, 12 उपाधीक्षक, 13 परीक्षा समन्वयक लगाए थे। जिले में कुल 12 परीक्षा केंद्र स्थापित किए गए थे।

जिला प्रशासन के शीर्ष अधिकारियों ने परीक्षा के संचालन का निरीक्षण किया। डीसी ने इस परीक्षा को सुचारु रूप से और कुशलतापूर्वक आयोजित करने में शानदार सफलता के लिए बधाई दी और जिला पर्यवेक्षक के अलावा तैनात सभी कर्मचारियों के प्रयासों की सराहना की।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.