कोरोना के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए साइकिल अभियान का आयोजन

यह अभियान बुद्धल से शुरू हुआ और नौशहरा, राजौरी, झलास और सुरनकोट से होता हुआ पुंछ में जाकर संपन्न हुआ।

स्थानीय लोगों के बीच कोरोना और सड़क सुरक्षा के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए जगह जगह पर साइकिल सवार रुक कर लोगों को जागरूक करते हुए आगे बढ़ते रहे। इस अभियान का दूसरा कारण लोगों को सड़क सुरक्षा प्रोटोकॉल के बारे में जागरूक करना था।

Rahul SharmaSun, 09 May 2021 12:24 PM (IST)

राजौरी, जागरण संवाददाता: राजौरी जिले से शुरू हुई सीमा सड़क संगठन की 371 किलोमीटर लंबी साइकिल यात्रा का समापन पुंछ जिले में जाकर संपन्न हुआ। बीआरओ ने लोगों में कोरोना के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए अभियान का आयोजन किया था ताकि अधिक से अधिक लोगों को कोरोना के बचाव के प्रति जागरूक किया जा सके।

अभियान के दौरान, साइकिल सवारों ने कोरोना और सड़क सुरक्षा के बारे में संदेश दिया। उन्होंने लोगों के बीच मास्क और सैनिटाइजर भी वितरित किए।

इस दौरान स्थानीय लोगों के बीच कोरोना और सड़क सुरक्षा के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए जगह जगह पर साइकिल सवार रुक कर लोगों को जागरूक करते हुए आगे बढ़ते रहे। इस अभियान का दूसरा कारण लोगों को सड़क सुरक्षा प्रोटोकॉल के बारे में जागरूक करना था। इस अवसर पर बोलते हुए बीआरओ कार्यकारी अभियंता रोहित गुप्ता ने कहा कि इस अभियान का आयोजन बीआरओ द्वारा प्रोजेक्ट संपर्क के तहत कोरोना के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए किया गया , जो बड़े पैमाने पर सफल रहा। हमने लोगों को सड़क सुरक्षा के बारे में भी जागरूक किया है ताकि वे हेलमेट, सीट बेल्ट जैसे सड़क सुरक्षा प्रोटोकॉल का पालन कर सकें।

उन्होंने यह भी कहा कि यह अभियान बुद्धल से शुरू हुआ और नौशहरा, राजौरी, बथुनी, भीम्बर गली, कलाई, झलास और सुरनकोट से होता हुआ पुंछ में जाकर संपन्न हुआ। 

राजौरी में कोरोना के 247 नए मामले, छह की मौत: राजौरी में कोरोना अपनी पूरी रफ्तार पड़ चुका है। जिले में शनिवार को कोरोना के 247 नए मामले सामने आए है जबकि जिले में कोरोना से छह लोगों की मौत हुई है। जबकि दो दिनों में एक परिवार की तीसरी महिला की कोरोना की चपेट में आने से मौत हो गई। अतिरिक्त जिला आयुक्त राजौरी ठाकुर शेर सिंह ने बताया कि जिले में कोरोना वायरस के 247 नए मामले सामने आए है जिनमें से दो यात्रा इतिहास वाले है। उन्होंने बताया कि 76 मामले सुंदरबनी से, कालाकोट में 76, नौशहरा में 39, राजौरी से 26, दरहाल से 17 और कोटरनका से 12 मामले सामने आए हैं।

इस बीच राजौरी में कोरोना वायरस के संक्रमण से छह लोगों की मौत हो गई। अधिकारियों ने बताया कि नौशहरा के झंगड गांव की 54 वर्षीय महिला का शुक्रवार शाम से जीएमसी एसोसिएटेड अस्पताल राजौरी में इलाज चल रहा था, जहां शनिवार दोपहर उसकी मौत हो गई। मृतक महिला के परिवार की दो अन्य महिलाओं की शुक्रवार को कोरोना से ही मौत हो गई थी। इसके अलावा, अधिकारियों ने कहा, दरहाल तहसील के डंडकोट गांव की एक 80 वर्षीय महिला की शनिवार की सुबह जीएमसी राजौरी के आइसोलेशन वार्ड में मृत्यु हो गई, जबकि राजौरी के पीढी गांव की एक और 80 वर्षीय महिला की शनिवार की सुबह उसके घर में मृत्यु हो गई और इसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने मृतक महिला की जांच की तो वह कोरोना पाजिटिव पाई गई।

इसी तरह, अधिकारियों ने कहा, कोटरनका के साकरी गांव के 40 वर्षीय दुकानदार का जम्मू के एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा था, जहां शनिवार शाम को उसकी मृत्यु हो गई।इसके साथ ही, अधिकारियों ने आगे कहा, राजौरी के सुंदरबनी के चन्नी गांव का व्यक्ति जम्मू के सैन्य अस्पताल में उपचाराधीन था, जहां शनिवार को उसकी मौत हो गई।राजौरी के चौधरी नाढ़ का एक अन्य व्यवसायी पंजाब के एक निजी अस्पताल में उपचाराधीन था, जहां शनिवार शाम को उसकी मृत्यु हो गई।इस बीच, जम्मू के एक अस्पताल में कोटरंनका के नंगा थूब गांव के एक वृद्ध व्यक्ति की मृत्यु हो गई । प्रशासन ने आम लोगों ने घरों में रहने की अपील की है क्योंकि राजौरी जिले में कोरोना बढ़ी ही तेजी के साथ फैल रहा है। अगर कोई व्यक्ति किसी जरूरी कार्य के लिए अपने घर से बाहर निकलता है तो वह मास्क का उपयोग करे इसके साथ साथ शारीरिक दूरी का भी पूरी तरह से पालन करे ताकि जिले से कोरोना को कम किया जा सके।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.