शहीद हुए पुलिसकर्मियों को किया याद

संवाद सहयोगी, कठुआ: देश की आतंरिक सुरक्षा का भार संभालते हुए अपना सर्वोच्य बलिदान देने वाले पुलिस कर्मियों को श्रद्धांजलि देने के पुलिस लाइन में पुलिस स्मृति दिवस कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस मौके पर पुलिस अधिकारियों सहित सिविल प्रशासन के अधिकारी, सेना अधिकारी, सीआरपीएफ के अधिकारी, शहर के गणमान्य नागरिकों और शहीद परिवारों के सदस्यों ने श्रद्धासुमन अíपत किए। इस मौके पर सलामी गारद ने अपने शस्त्र उल्टे कर शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी।

पुलिस स्मृति दिवस कार्यक्रम के दौरान सबसे पहले एसएसपी श्रीधर पाटिल ने इस वर्ष बलिदान देने वाले सभी शहीद पुलिस कर्मियों के नाम पढ़कर उन्हें सम्मान दिया। उन्होंने बताया कि देश की रक्षा के लिए अपना बलिदान देने वाले पुलिस के जवानों को याद करने की इस परंपरा का शुभारंभ वर्ष 1959 में सीआरपीएफ द्वारा तब शुरू किया गया था, जब बल के 10 जवानों ने हथियारों से लैस चीनी सैनिकों के साथ लड़ते हुए उनके सामने हथियार डालने के बजाए अपना सर्वोच्च बलिदान दिया था। तक से शुरू हुई इस परंपरा का लगातार निर्वहन किया जा रहा है।

एसएसपी ने कहा कि इस वर्ष 292 जवानों ने देश भर में शहादत दी है। इसमें जम्मू कश्मीर पुलिस के 24 जवान शामिल है। देश की अखंडता और संप्रभुता के लिए अपने प्राणों का उत्सर्ग करने वाले जवानों को कभी भूला नहीं जा सकता है, जिन्होंने राष्ट्र के प्रति अपनी जिम्मेदारी को निभाने के लिए सब कुछ बलिदान कर दिया।

इस मौके पर शहीद परिवारों के सदस्यों को जिला पुलिस द्वारा स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया और उनकी समस्याएं भी सुनीं गई। डीसी ओपी भगत, अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश जितेंद्र सिंह जम्वाल, चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट यशपाल शर्मा, नगर परिषद के प्रधान नरेश शर्मा, उद्योगपति देवेंद्र वर्मा, एएसपी रमनीश गुप्ता, डीएसपी हेडक्वार्टर माजिद महबूब, डीएसपी लाइन केडी भगत भी मौजूद रहे।

उधर, पुलिस ट्रेनिग स्कूल में भी राष्ट्रीय पुलिस स्मृति दिवस का आयोजन किया गया। स्कूल के प्रधानाचार्य एसएसपी अरुण गुप्ता की अध्यक्षता में आयोजित कार्यक्रम में स्मारक पर पुलिस के अधिकारियों और जवानों ने श्रद्धांजलि अíपत की। कार्यक्रम के दौरान अरुण गुप्ता ने जवानों की शहादत को हमेशा याद रखने को प्रेरित किया।

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.