बैसाखी पर गेहूं की हाथों से कटाई शुरू, सप्ताह में तेजी आने की संभावना

बैसाखी पर गेहूं की हाथों से कटाई शुरू, सप्ताह में तेजी आने की संभावना

संवाद सहयोगी हीरानगर/बसोहली बैसाखी के साथ ही नवरात्र के मौके पर किसानों ने गेहूं की कटाई शु

JagranWed, 14 Apr 2021 12:12 AM (IST)

संवाद सहयोगी, हीरानगर/बसोहली: बैसाखी के साथ ही नवरात्र के मौके पर किसानों ने गेहूं की कटाई शुरू कर दी है। हालांकि, जिन किसानों की फसल सिंचाई के अभाव में सूख चुकी थी, वह पहले से ही कटाई कर रहे थे, लेकिन अधिकांश किसानों ने मंगलवार को ही कटाई की शुरुआत की है।

गेहूं की कटाई में तेजी आने में एक सप्ताह लग सकता है, क्योंकि अभी तक पंजाब से कंवाइने नहीं आई हैं। आने में अभी एक सप्ताह तक लग सकता है, जबकि क्षेत्र में आगजनी की घटनाएं बढ़ रही है। इसे देखते हुए अब किसान फसल को जल्द समेटना चाहते हैं और अपने तौर पर कटाई कर रहे हैं। कृषि विभाग के हीरानगर सब डिवीजन के एसडीओ प्रदीप शर्मा का कहना है कि क्षेत्र में इस बार 25 हजार हेक्टयर में गेहूं की फसल लगी थी जो पक चुकी है, उसे किसान हाथों से ही काट रहे हैं। अगले कुछ दिनों में पंजाब से कंवाइनो के आने की संभावना है। 15 अप्रैल के बाद मंडिया भी खोल दी जाएंगी। हीरानगर ब्लाक में भी एक मंडी शेरपुर क्षेत्र में खोली जाएंगी।

इसी तरह, बसोहली क्षेत्र में भी मौसम के करवट लेते ही गेहूं की फसल पक कर तैयार हो गई है। किसान पकी फसल को देखकर खुश हैं। अभी तक मौसम ने साथ दिया। हालाकि सोमवार को थोड़ी देर तेज हवा ने भले ही किसानों को परेशान किया, मगर किसान फसल की कटाई करने में दिन रात लगे हुए हैं। कोई अपने हाथों से फसल की कटाई कर रहा है तो कोई मशीन से कटवा रहा है। बसोहली उप जिला में सबसे ज्यादा गेहूं की फसल लगाई जाती है। इसी फसल पर किसान सालभर निर्भर रहता है। अभी तक मौसम ने साथ दिया है। आने वाले दिनों में मौसम के खराब होने से जिन किसानों की फसल काटने को रह जाएगी, उनका नुकसान हो सकता है। इसे देखते हुए किसान दिन रात एक कर फसल को काटने में लगे हैं, ताकि मौसम कहीं धोखा ना दे जाये और उनकी छह माह की मेहनत पर पानी ना फिर जाये।

कृषि अधिकारी राज सिंह सुंबडिया ने बताया कि फसल पककर तैयार है, किसान मौसम खराब होने से पूर्व ही फसल को काट लें।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.