Militancy in Kashmir : हथियारों के जखीरे के साथ अवंतीपोरा में दो ओवरग्राउंड वर्कर गिरफ्तार

पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि पुलिस ने सेना की 42 आरआर और सीआरपीएफ की 130वीं वाहिनी के साथ मिलकर अवंतीपोरा में एक जगह विशेष की तलाशी लेते हुए हिजबुल मुजाहिदीन के दो ओवरग्राउंड वर्करों को पकड़ा। उनकी पहचान मुजम्मिल अयूब और सुहैल मंजूर मोहांद के रूप में हुई है।

Lokesh Chandra MishraPublish:Sat, 27 Nov 2021 07:25 PM (IST) Updated:Sat, 27 Nov 2021 07:25 PM (IST)
Militancy in Kashmir : हथियारों के जखीरे के साथ अवंतीपोरा में दो ओवरग्राउंड वर्कर गिरफ्तार
Militancy in Kashmir : हथियारों के जखीरे के साथ अवंतीपोरा में दो ओवरग्राउंड वर्कर गिरफ्तार

श्रीनगर, राज्य ब्यूरो : सुरक्षाबलाें ने अपने आतंकरोधी अभियान को जारी रखते हुए शनिवार को दक्षिण कश्मीर के अवंतीपोर में हिजबुल मुजाहिदीन के दो ओवरग्राउंड वर्करों को गिरफ्तार कर लिया। उनके पास से हथियारों के एक जखीरे के अलावा अन्य आपत्तिजनक साजो सामान भी जब्त किया गया है। पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि पुलिस ने सेना की 42 आरआर और सीआरपीएफ की 130वीं वाहिनी के साथ मिलकर अवंतीपोरा में एक जगह विशेष की तलाशी लेते हुए हिजबुल मुजाहिदीन के दो ओवरग्राउंड वर्करों को पकड़ा। उनकी पहचान मुजम्मिल अयूब और सुहैल मंजूर मोहांद के रूप में हुई है। दोनों ही शाहबाद खारपोरा अवंतीपोर के रहने वाले हैं।

सुरक्षाबलों ने उनके पास से एसाल्ट राइफल के 383 कारतूस व अन्य आपत्तिजनक साजो सामान बरामद किया है। प्रवक्ता ने बताया कि यह दोनों ही दक्षिण कश्मीर में विशेषकर त्राल और पुलवामा में सक्रिय हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकियों के साथ लगातार संपर्क में रहते हुए उनके लिए सुरक्षित ठिकानों का बंदोबस्त करते थे। यह दोनों आतंकियों के लिए हथियार भी एक जगह से दूसरी जगह सुरक्षित पहुंचाने के अलावा उन तक सुरक्षाबलों की गतिविधियों की सूचना भी पहुंचाते थे। फिलहाल, दोनों से पूछताछ जारी है।

ज्ञात रहे कि सुरक्षा एजेंसियां कश्मीर में आतंकी और आतंकियों के समर्थको के खिलाफ कड़ा अभियान चला रखा है। आए दिन ओवर ग्राउंड वर्कर प्रदेश के विभिन्न इलाके से पकड़े जा रहे हैं। सुरक्षा बालों का यह अभियान और तेज होने की उम्मीद जताई जा रही है। क्योंकि अगले साल अमरनाथ यात्रा से पहले विधानसभा चुनाव की सुगबुगाहट होने लगी है। इस लिए उस लिहाज से सुरक्षा व्यवस्था को और मजबूत किया जाएगा। सभी सुरक्षा एजेंसियां सामंजस्य से कार्रवाई को अंजाम दे रही है। वहीं राष्ट्रीय जांच एजेंसी भी शिकंजा लगातार कस रही है।