Jammu Kashmir: बारामुला से TRF के तीन ओवरग्राउंड वर्कर गिरफ्तार, दो ग्रेनेड बरामद

सुरक्षाबलों ने आज यानि वीरवार को उत्तरी कश्मीर के वुस्सन बारामुला से द रजिस्टेंस फ्रंट टीआरएफ के तीन ओवरग्राउंड वर्कर को गिरफ्तार करने का दावा किया है। ये तीनों गत 19 नवंबर को पट्टन में हुए ग्रेनेड हमले की घटना में भी शामिल थे।

Vikas AbrolThu, 02 Dec 2021 06:10 PM (IST)
वुस्सन बारामुला से द रजिस्टेंस फ्रंट (टीआरएफ) के तीन ओवरग्राउंड वर्कर को गिरफ्तार करने का दावा किया है।

श्रीनगर, राज्य ब्यूरो। सुरक्षाबलों ने वीरवार को उत्तरी कश्मीर के वुस्सन बारामुला में द रजिस्टेंस फ्रंट (टीआरएफ) के तीन ओवरग्राउंड वर्करों को गिरफ्तार करने का दावा किया है। यह तीनों 17 नवंबर को पल्हालन पट्टन में हुए ग्रेनेड हमले की वारदात में भी शामिल थे। इनके पास से दो ग्रेनेड भी मिले हैं। इस बीच, सुरक्षाबलों ने बांडीपोरा में आतंकियों के छिपे होने की सूचना पर घेराबंदी कर तलाशी अभियान भी चलाया।

पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि आज एक विशेष सूचना के आधार पर बारामुला पुलिस ने सेना की 29 आरआर और एसएसबी की दूसरी वाहिनी के जवानों के साथ मिलकर पट्टन के पास वुस्सन में एक नाका लगाया। इसी दौरान तीन संदिग्ध युवक वहां से गुजरने लगे, लेकिन नाका देखकर सड़क पर कुछ देर के लिए ठहर गए और फिर निकटवर्ती खेतों की तरफ मुढ़कर भागने लगे। नाके पर मौजूद जवानों ने उन्हें देख लिया। नाका पार्टी ने उनका पीछा किया और उन्हें पकड़ लिया। इन तीनों की पहचान आसिफ अहमद रेशी, मेहराजुदीन डार और फैसल हबीब लोन के रूप में हुई है। तीनों ही उत्तरी कश्मीर में जिला बांडीपोरा के गुंड जहांगीर सुंबल के रहने वाले हैं। इन तीनों के साजो सामान की तलाशी के दौरान दो ग्रेनेड भी मिले हैं।

प्रवक्ता ने बताया कि इन तीनों से जब पूछताछ की गई और इनके मोबाइल फोन की जांच की गई तो यह तीनों लश्कर और टीआरएफ के ओवरग्राउंड वर्कर निकले। यह तीनों 17 नवंबर को पल्हालन में हुए ग्रेनेड हमले की वारदात में भी लिप्त थे। पूछताछ में पता चला कि यह तीनों गुलाम कश्मीर और पाकिस्तान में बैठे आतंकी सरगनाओं के साथ इंटरनेट मीडिया के जरिए लगातार संपर्क में थे। उनके दिशा निर्देश पर यह तीनों बारामुला,बांडीपोर और सोपोर में सक्रिय आतंकियों की मदद करने के अलावा ग्रेनेड हमलों की वारदातों को भी अंजाम दे रहे थे। फिलहाल,तीनों से पूछताछ जारी है ।

इस बीच, आज दाेपहर को सुरक्षाबलों को अपने तंत्र से बांडीपोरा में आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिली। पुलिस ने सूचना मिलते ही सेना की 14 आरआर व सीआरपीएफ के जवानों के साथ मिलकर बांडीपोरा कस्बे के मुख्य चौक, सब्जी मंडी, गुलशन चौक व उसके साथ सटे इलाकों को चारों तरफ से घेर लिया।इन इलाकों में आने जाने के सभी रास्ते को बंद कर दिया गया और उसके बाद सुरक्षाबलों ने सभी संदिग्ध मकानों और दुकानों की तलाशी शुरु की। देर शाम गए इस खबर के लिखे जाने तक जारी तलाशी अभियान में आतंकियों का कोई सुराग नहीं मिला था।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.