Amarath Yatra 2001: इस बार छह लाख अमरनाथ यात्रियों के लिए हो रहे प्रबंध, बालटाल मार्ग पर रैलिंग लगाकर पक्का करने का फैसला

श्री अमरनाथ जी श्राईन बोर्ड की 10वीं उच्च स्तरीय कमेटी की बैठक हुई

इस साल की बाबा अमरनाथ यात्रा के लिए छह लाख श्रद्धालुओं के लिए प्रबंध किए जाएंगे। सरकार ने बालटाल मार्ग पर पर्याप्त रेलिंग लगाकर पूरे मार्ग को पक्का करने का फैसला किया है। बालटाल मार्ग पर प्री फैबरीकेटेड सीमेंट टाइल लगाई जाएगी।

Lokesh Chandra MishraSun, 24 Jan 2021 09:24 PM (IST)

जम्मू, राज्य ब्यूरो: इस साल की बाबा अमरनाथ यात्रा के लिए छह लाख श्रद्धालुओं के लिए प्रबंध किए जाएंगे। सरकार ने बालटाल मार्ग पर पर्याप्त रेलिंग लगाकर पूरे मार्ग को पक्का करने का फैसला किया है। बालटाल मार्ग पर प्री फैबरीकेटेड सीमेंट टाइल लगाई जाएगी। मुख्य सचिव बीवीआर सुब्रामण्यम ने श्री अमरनाथ जी श्राईन बोर्ड की 10वीं उच्च स्तरीय कमेटी की बैठक में इस साल की बाबा अमरनाथ यात्रा की तैयारियों पर विचार-विमर्श किया।

मुख्य सचिव ने इस साल की बाबा अमरनाथ यात्रा को सुरक्षित, सुचारू, जम्मू श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर श्रद्धालुओं की सुरक्षित मूवमेंट, बालटाल व चंदनवाड़ी मार्गों को सुचारु रखने समेत यात्रा से जुड़ी सुविधाओं पर विस्तार से समीक्षा की। मुख्य सचिव ने बालटाल और चंदनबाड़ी मार्गों के विस्तार व मरम्मत कार्य, कंट्रोल गेटों में बेहतरी लाने, अस्थायी कैंपों को स्थापित करने, विश्राम शेड, स्वास्थ्य कैंप, इमरजेंसी आपरेशन सेंटर, पानी, बिजली, एलपीजी, राशन, दवाइयां, मोबाइल नेटवर्क संयुक्त कंट्रोल रूम की तैयारियों पर चर्चा की। उन्होंने प्रशासन से कहा कि इस बार बाबा अमरनाथ की छह लाख यात्रा के लिए तैयारियां की जाए। साथ ही उन्होंने यात्रियों की सुविधाओं के लिए मार्गों का विस्तार करने, रैलिंग लगाने, बालटाल मार्ग पर प्री फैबरीकेटेड टाइल्स लगाने के निर्देश दिए। मुख्य सचिव ने जम्मू और कश्मीर के डिवीजनल कमिश्नरों से कहा कि यात्रा प्रबंधों की निगरानी की जाए।

कठुआ, सांबा, जम्मू, ऊधमपुर, रामबन, बालटाल और चंदनबाड़ी में कैंपों में प्रबंध किए जाएं। लखनपुर से लेकर पवित्र गुफा तक और वापसी तक श्रद्धालुओं के जाने और आने के पर्याप्त प्रबंध करने के लिए कार्य योजना बनाई जाए। जम्मू श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग बंद होने की स्थिति में स्थानीय ट्रैफिक को सुचारु बनाने के लिए भी कार्य योजना तैयार होनी चाहिए। सोनामर्ग और पहलगाम विकास प्राधिकरण के अलावा श्री अमरनाथ जी श्राईन बोर्ड की तरफ से कचरे के निस्तारण के लिए प्रबंधों पर विचार विमर्श किया गया। संबंधित एजेंसियों से कहा गया कि बायो टायलेट, कचरे के लिए कूडे़दान, यात्रा के मार्गों पर उपयुक्त जगहों पर इलेक्ट्रोमगनैटिक डिसइंटीग्रेटेर लगाए जाएं। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.